PM आत्मनिर्भर भारत ऋण योजना – देश के हर वर्ग के लोगों को दिया जा रहा है फायदा

कोविड 19 के कारन समस्त देश में लॉकडाउन किया गया, जिसके बाद पुरे देश में आर्थिक व्यवस्था बुरी तरह प्रभावित हुई है. केंद्र सरकार ने अर्थव्यवस्था को ठीक करने के लिए आत्मनिर्भर अभियान की घोषणा की. अभियान में कई ऋण योजना को शामिल किया गया है, जिसमें कुछ नयी तो कुछ पुरानी में बदलाव किये गए है. इस अभियान के चलने केंद्र सरकार ने 20 लाख करोड़ के आर्थिक पकैज का भी ऐलान किया है. यह पैकेज के तहत विभिन्न क्षेत्र में लाभ दिया जायेगा. आत्मनिर्भर अभियान के अंतर्गत एमएसएमइ ऋण, किसान क्रेडिट कार्ड, शिशु मुद्रा लोन, क्रेडिट लिंक सब्सिडी आदि को जोड़ा गया है. इस आर्टिकल के जरिये हम इन सभी ऋण योजना की जानकरी विस्तृत से देंगे, साथ ही बतायेंगें की कैसे आप इसमें आवेदन कर लाभ प्राप्त कर सकते है.

pm atmanirbhar bharat loan scheme hindi

एमएसएमइ ऋण योजना (MSME Loan Scheme)

केंद्र सरकार ने सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम क्षेत्र को 3 लाख करोड़ का बजट आवंटित किया है. इस योजना के अंतर्गत जो ऋण दिया जायेगा उसका कार्यकाल 4 साल का होगा. इस योजना से 12 करोड़ लोग लाभान्वित होंगें. सरकार ने एमएसएमइ  की परिभाषा ही बदल दी है, अब निवेश सीमा एवं टर्नओवर के आधार पर इसे 3 हिस्सों में रखा गया है – सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम. इस योजना का मुख्य उद्देश्य देश में व्यवसास को बढ़ाना और लघु उद्योग को स्थापित करना है. इस योजना के अंतर्गत निम्नलिखित व्यवसायों को लाभ दिया जायेगा –

  • फर्नीचर, बिजली फिटिंग, मशीन की खरीदी, सयंत्र एवं प्रयोगशाला में उपयोग आने वाले उपकरण
  • भवन निर्माण के स्थानों का अधिकरण, कारखाना निर्माण
  • नए उत्पाद श्रंखला का शुभारम्भ

योजना का लाभ लेने के लिए पोर्टल  में क्लिक करें, इसमें 10 करोड़ तक का लोन लिया जा सकता है. योजना के अंतर्गत एमएसएमइ लोन 31 अक्टूबर 2020 तक लिया जा सकता है.

पीएम किसान सम्मान निधि योजना में किसानों को मिल गई 2,000 रुपये की अगली किस्त,आपको नहीं मिली तो यहाँ क्लिक करें

किसान क्रेडिट कार्ड योजना (Kisan Credit Card Yojana)

योजना के अंतर्गत 2 लाख करोड़ बजट दिया गया है. इससे ढाई लाख किसान को लाभ मिलेगा. योजना में अब मत्स्य एवं पशुपालन करने वाले किसान भी शामिल कर दिए गए है, जिससे इसका दायरा बढ़ गया है. योजना के अंतर्गत निम्न लाभ दिए जा रहे है –

  • 2% तक कम होगी ब्याज दर
  • 6 लाख तक के लोन पर बैंक सुरक्षा की डिमांड नहीं करेगा
  • प्राकतिक आपदा के समय किसानों को फसल बीमा की सुविधा
  • किसानों को स्वास्थ्य बीमा कवरेज दिया जायेगा जिसमें विकलांगता, मृत्यु एवं अन्य जोखिम भी शामिल है.
  • किसान क्रेडिट कार्ड खाते में अगर कोई किसान पैसा जमा करता है तो उसे अधिक ब्याज का लाभ मिलेगा, जिसका भुगतान भी जल्दी किया जायेगा
  • 3 लाख तक का अधिकतम लोन सुविधा
  • ऑनलाइन आवेदन के लिए इस लिंक पर जाएँ. 
  • 18 से 75 वर्ष के किसान योजना का लाभ ले सकते है

पीएम आवास योजना के तहत सीएलएसएस ऋण (PM Awas Yojana Credit link subsidy scheme)

पीएम आवास योजना के तहत सीएलएसएस ऋण में कुछ बदलाव किये गए है. योजना दो वर्गों में है MIG-1 और MIG-2, जो 31 मार्च 2020 को समाप्त हो रही थी, लेकिन अब इसे 31 मार्च 2021 तक बढ़ा दिया गया है. योजना के अंतर्गत 70 हजार कर्रोड़ का बजट आवंटित हुआ है, योजना में आवेदन की प्रक्रिया –

आवास योजना की आधिकारिक साईट में जाकर, पीएम आवास योजना के तहत सीएलएसएस में आवेदन किया जा सकता है.

PM आवास योजना की डेडलाइन 31 मार्च 2021 तक बड़ी, घर बनाने के लिए मिल रही 2.5 लाख की सब्सिडी प्राप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें

स्ट्रीट वेंडर ऋण योजना (Street Vendor Loan Scheme)

सड़क किनारे दुकान वाले, रेड़ी लगाने वालों की आजीविका इस लॉकडाउन के चलते बहुत प्रभावित हुई है. इस वर्ग को विशेष लाभ देने के लिए सरकार जल्द ही एक योजना की घोषणा कर सकती है. सरकार ने यह बताया है कि लगभग 50 लाख स्ट्रीट दुकानदारों को 10 हजार रूपए तक का आर्थिक ऋण तुरंत दिया जायेगा, जिसकी पूरी जानकारी आने वाले दिनों में दे दी जाएगी. यह छोटी अवधि के ऋण होंगें. इस योजना के अंतर्गत 5000 करोड़ का बजट तय हुआ है.

शिशु लोन मुद्रा योजना (Shishu Loan under Mudra Yojana)

छोटे व्यापार करने वाले व्यापारी बहुत अधिक प्रभावित हुए है, इस महामारी के दौरान, इन्हें राहत देने के लिए सरकार मुद्रा शिशु लोन में विशेष छूट दे रही है. अभी शिशु लोन में अधिकतम 50 हजार तक का लोन मिलता है. अब सरकार ने इसमें 2% की ब्याज छूट दे दी है, जिससे ज्यादा से ज्यादा लोग इसका फायदा उठा सके. मुद्रा शिशु लोन में आवेदन के लिए यहाँ क्लिक करें.

इस तरह केंद्र सरकार देश के हर तबके के लोगों को लाभ पहुँचाने के लिए आत्मनिर्भर लोन योजना की शुरुवात कर रही है, जिससे देश की अर्थव्यवस्था फिर से मजबूत हो सके.

Other links –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *