[रजिस्ट्रेशन] प्रधानमंत्री जन आरोग्य आयुष्मान भारत बीमा योजना | PM Jan Arogya Ayushman Bharat Yojana (Hindi)

प्रधानमंत्री जन आरोग्य आयुष्मान भारत बीमा योजना क्या हैं ? रजिस्ट्रेशन, पात्रता,लिस्ट मे नाम सर्च करना [PM Jan Arogya Ayushman Bharat Yojana In Hindi 2018 -Registration Form, List]

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना एक स्वास्थ्य बीमा योजना है जिसके अंतर्गत सरकार के द्वारा विभिन्न परिवारों को विभिन्न बीमारियों की स्थिती में सहायता प्रदान की जाएगी. इस योजना के अंतर्गत लाभार्थी का चयन “सोशिओ इकनॉमिक कास्ट सर्वे” जो कि साल 2011 में 30 राज्यों के 444 जिलों में आयोजित किया गया था के आधार पर किया गया है. अब तक प्राप्त आकड़ों के अनुसार इस योजना के अंतर्गत लगभग देश के 50 करोड़ व्यक्ति सालाना 5 लाख तक का स्वास्थ्य कवरेज ले पाएंगे. यह सुविधा सभी सरकारी अस्पतालों के साथ-साथ चयनित निजी अस्पतालों मे भी उपस्थित रहेगी.

PM Jan Arogya Ayushman Bharat Yojana

भारत में राष्ट्रीय स्वास्थ्य निकाय द्वारा लागु की गई यह योजना विश्व की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजनाओं में से एक है. इस योजना के अंतर्गत आने वालें लोगों को किसी दिक्कत का सामना ना करना पड़े और उन्हे सभी चीजों की जानकारी आसानी प्राप्त हो सके इसके लिए सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत आयुष्मान मित्र की भी नियुक्ति की जाएगी.  

योजना का नामप्रधानमंत्री जन आरोग्य अभियान, आयुष्मान भारत योजना, मोदी केयर
किसके द्वारा लॉंच की गईप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
क्रियान्वयन किसके द्वारा किया जायेगास्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय
घोषणाफरवरी 2018
क्रियान्वयनसितंबर 2018
लाभार्थीगरीब भारतवासी
लाभार्थियों की संख्या10 करोड़ भारतीय परिवार
हेल्थ बिमा कवरेज राशि 5 लाख 
वेबसाइटabnhpm.gov.in
नाम सर्च करे इस पोर्टल पर mera.pmjay.gov.in
टोल फ्री हेल्प लाइन14555

मुख्य बिन्दु Key Features –

  • स्वास्थ्य सुरक्षा आसानी से उपलब्ध होंगी – आज के समय में हमारे देश में कई लोग स्वास्थ्य सुविधा के अभाव में अपने जीवन से हाथ धो बैठते है. ऐसे में यह योजना जरुरतमंद व्यक्तियों के लिए एक सौगात होगी, वे किसी भी स्वास्थ्य संबंधित परेशानी की स्थिति में आसानी से निशुल्क सुविधा प्राप्त कर पाएंगे.
  • कितने रुपयों तक की मदद प्राप्त होगी – इस योजना के अंतर्गत प्रत्येक लाभार्थी 5 लाख तक की स्वास्थ्य सुविधा का फायदा उठा सकता है. यह सहायता प्रत्येक वित्तीय वर्ष के होगी.
  • प्रीमियम – इस योजना के लिए लाभार्थी को किसी तरह का प्रीमियम भरने की जरूरत नहीं होगी. इन लोगों की तरफ से बीमा की राशि के लिए प्रीमियम का भुकतान राज्य सरकार द्वारा किया जाएगा.
  • रिनुअल – इस योजना में प्राप्त बीमा राशि का रिनुअल हर वर्ष स्वतः होगा, इसके लिए आपको कोई अन्य प्रक्रिया करने की आवश्यकता नहीं होगी. मतलब आप हर वर्ष 5 लाख तक स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ ले सकतें है.
  • आयुष्मान मित्र / आरोग्य मित्र –  आयुष्मान मित्र या आरोग्य मित्र वह व्यक्ति होगा जो इस योजना के संबंध में लाभार्थी को संपूर्ण जानकारी प्रदान करेगा और उसे ईलाज में सहायता भी करेगा. इस योजना में शामिल अस्पतालों में से ही एक व्यक्ति को आयुष्मान मित्र बनाया जाएगा और उसे इस कार्य के लिए ट्रेनिंग भी दी जाएगी. आप इस योजना के संबंध में किसी भी तरह की जानकारी के लिए आयुष्मान मित्र से संपर्क  कर सकते है.
  • लाभार्थियों की संख्या – इस योजना के अंतर्गत लगभग 10 करोड़ परिवार सहायता प्राप्त करेंगे. इसमे केवल वे लोग लाभ प्राप्त कर पाएंगे जिनके नाम एसईसीसी-2011 की लिस्ट में शामिल है.
  • इस सुविधा का लाभ चयनित अस्पतालों में ही मिलेगा – कोई भी व्यक्ति इस योजना का लाभ अपने राज्य के सभी सरकारी अस्पतालों में ले सकता है. इसके अलावा इस योजना में कुछ प्राइवेट अस्पतालों को भी शामिल किया गया है, इन चयनित अस्पतालों में भी व्यक्ति स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ ले पाएंगे.
  • स्वास्थ्य सुविधाओं का पेमेंट : इस योजना के अंतर्गत सरकारी अस्पतालों में यह सुविधा निशुल्क होगी और निजी अस्पतालों में स्वास्थ्य सुविधाओं के भुकतान बीमा कंपनियों के द्वारा किया जाएगा.
  • टोल फ्री नंबर – इस योजना के लॉंच के दौरान इसका एक टोल फ्री नंबर 14555 भी लॉंच किया गया है. इस योजना के संबंध में किसी भी जानकारी के लिए आप इस टोल फ्री नंबर पर बात कर सकते है. इसके अलावा आप अपने क्षेत्र मे किसी सीएससी सेंटर से भी यह जानकारी एकत्रित कर सकते है. आशा कार्यकर्ता या आंगनवाड़ी कार्यकर्ता भी आपको इस संबंध में जानकारी देने के लिए उपलब्ध रहेंगे ताकि आप इस योजना का लाभ सही समय पर और बिना किसी दिक्कत के ले पाये.

पात्रता नियम Eligibility  –

इस योजना की पात्रता के लिए निम्न शर्ते है –

  • एससीईई 2011 – एसईसीसी 2011 जो की एक प्रकार का सर्वे था जो 2011 में किया गया था, के आधार पर इस योजना के लाभार्थियों का चयन किया जाएगा. इसमें स्वयं को शामिल करने के लिए आपको अलग से कोई प्रक्रिया नहीं करनी पढ़ेगी.
  • उम्र सीमा – इस योजना में शामिल होने के लिए लाभार्थी की कोई उम्र निश्चित नहीं की गई है. इसमें एक परिवार में बच्चे से लेकर बूढ़े तक हर व्यक्ति लाभ ले सकता है.
  • परिवार की सदस्य संख्या – इस योजना में सदस्यों की संख्या पर भी कोई प्रतिबंध नहीं है. मतलब आपका परिवार कितना भी बड़ा हो परिवार के हर सदस्य को इसका फायदा मिलेगा.
  • गरीबी रेखा के नीचे आने वालें परिवार शामिल – इस योजना में प्रत्येक वह परिवार शामिल होगा जिसके पास बीपीएल कार्ड है. मतलब अब गरीबी रेखा के नीचे आने वाले व्यक्तियों को बीमारी की स्थिति में सरकार से पूर्ण मदत मिलेगी.

पंजीकरण कैसे करवाये?  [Registration Form And Process]

इस योजना के लाभार्थी की लिस्ट में शामिल होने के लिए किसी भी प्रकार के नामांकन की आवश्यकता नहीं है. बल्कि सरकार द्वारा इसके लाभार्थी का चयन एसईसीसी- 2011 की सूची के द्वारा किया जाएगा.

इस योजना में चयनित व्यक्तियों के घर एक कार्ड या लेटर भेजा जाएगा, जो यह सुनिश्चित करेगा की आपका नाम इस योजना में शामिल है या नहीं. यह लेटर किस तरह से आप तक पहुंचाए जाएंगे यह अब तक निश्चित नहीं हुआ है. इस संबंध में जैसे ही कोई जानकारी प्राप्त होती है हम आपतक अवश्य पहुंचाएंगे, आप चाहे तो हमारी साइट बूकमार्क कर सकतें है.

इस योजना के अंतर्गत लाभार्थियों की सूची में अपना नाम कैसे सर्च करे –

इस योजना के अंतर्गत आने वाले सभी व्यक्ति जो इस योजना का लाभ लेना चाहते है उन्हे यह सुनिश्चित कर लेना चाहिए की उनका नाम इस योजना में शामिल है या नहीं. अगर उनका नाम सरकार द्वारा जारी की गई सूची में शामिल होगा तभी वे इस योजना का लाभ ले पाएंगे. इस योजना में अपना नाम सर्च करने के लिए निम्न स्टेप्स फॉलो करें –

  • इस सूची में अपना नाम चेक करने के लिए व्यक्ति को सर्वप्रथम इसके सरकारी पोर्टल https://mera.pmjay.gov.in/search/login पर क्लिक करना होगा.
  • जैसे ही यह पगे खुलेगा इसके होम पेज पर आपको अपना मोबाइल नंबर डालना होगा . आपके इसी मोबाइल नंबर पर साइट आपको वन टाइम पासवर्ड प्रदान करेगी .
  • आगे की प्रक्रिया में आपको दिया हुआ केपेचा कोड़ दिये गए स्थान पर डालना होगा और नीचे उपस्थित लाल बटन जिसपर “जनरेट ओटीपी” लिखा होगा पर क्लिक करना होगा.
  • अब साइट के द्वारा आपके दिये हुये मोबाइल नंबर पर वन टाइम पासवर्ड भेजा जाएगा.
  • जब आप अपना ये पासवर्ड साइट में डालते है और सबमिट बटन पर क्लिक करते है तो आप साइट में अगले पेज पर जा सकतें है, जहां से आप अपना नाम इस लिस्ट में सर्च कर पाएंगे.

आपके पास इस लिस्ट में अपना नाम सर्च करने के लिए तीन तरीके उपलब्ध है –

नाम के द्वारा –

  • इस पेज में एंटर करते ही आपको सबसे पहले अपने स्टेट का चयन करना होगा और फिर उसके बाद ड्रॉप डाउन ऐरो की मदत से सर्च बाय नेम के ऑप्शन को चुनना होगा.
  • अब अगले निर्देशों में आपको दिये गए बॉक्स में अपना नाम, माता पिता का नाम, अपने जिले का नाम, अपनी उम्र, गाँव का नाम और अपनी जगह का पिन कोड भी डालना होगा.
  • यह सभी जगहो को सही-सही भरने के बाद आपको सर्च बटन पर क्लिक करना होगा. तत्पश्चात आपको अपना रिज़ल्ट प्राप्त होगा.

मोबाइल नंबर या राशन कार्ड से सर्च करना –

  • अगर व्यक्ति चाहे तो मोबाइल नंबर के द्वारा भी अपना नाम इस लिस्ट में सर्च कर सकता है . इसके लिए भी अपने राज्य का चयन करने के बाद ड्रॉप डाउन ऐरो के द्वारा सर्च बाइ मोबाइल नंबर या सर्च बाइ राशन कार्ड के बटन पर क्लिक करना होगा.
  • फिर आपको सर्च ऑप्शन पर क्लिक करना होगा और फिर साइट द्वारा वेरिफिकेशन किए जाने पर सूटेबल मैच मिलने पर ही आपका नाम हाइलाइट होगा.

आरएसबीवाई कोड से नाम सर्च करना –

  • जो लोग राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना में पंजीकृत है उन्हे इस योजना में पंजीकरण की पात्रता स्वतः ही मिल जाएगी.
  • सभी आरएसबीवाई के लाभार्थियों को ट्रैकिंग के लिए एक यूनिक कोड़ दिया जाएगा, और इस कोड के जरिये कोई भी अपना नाम इस लिस्ट में सर्च कर सकता है.
  • इसके लिए आपको सर्च बाइ आरएसबीवाई यूआरएन के ऑप्शन को सर्च करना होगा. अब अगली स्टेप में आपको अपना आरएसबीवाई कोड दिये गए बॉक्स में डालना होगा. इसके बाद यदि आप इस योजना के लाभार्थी की लिस्ट में शामिल होंगे तो यहाँ आपका नाम हाइलाइट होगा.

इंपलीमेनटेशन प्रोसैस / इसको लागू कैसे करेंगे  –

अगर आप इस योजना का लाभ लेना चाहते है तो आपको निम्न प्रोसैस फॉलो करना होगी-

  • सर्वप्रथम जो व्यक्ति इस योजना का लाभ लेना चाहता है उसे अपने एरिया के किसी सरकारी अस्पताल या इस योजना के अंतर्गत पंजीकृत निजी अस्पताल में संपर्क करना होगा. इस प्रक्रिया में व्यक्ति चाहे तो आयुष्मान मित्र की सहायता भी ले सकता है.
  • इसके बाद अस्पताल प्रशासन द्वारा इस बात की पुष्टि की जाती है की वह व्यक्ति इस योजना के अंतर्गत लाभ लेने के लिए पात्र है या नहीं. और फिर व्यक्ति की पहचान की पुष्टि उसके आधार कार्ड के जरिये की जाती है.
  • इसके बाद अस्पताल प्रशासन द्वारा पैकेज सिलैक्ट किया जाता है और बैलेन्स चेक किया जाता है और उसके बाद उनके द्वारा इलाज के लिए आवश्यक सपोर्टिंग एविडेन्स सबमिट किया जाता है.
  • इस सब प्रक्रिया के बाद व्यक्ति का इलाज किया जाता है और उसके ठीक होने के बाद डिस्चार्ज की प्रक्रिया की जाती है.
  • इसके बाद अस्पताल प्रशासन द्वारा क्लैम रिक्वेस्ट की जाती है. इसके लिए उन्हे डिस्चार्ज समरी और पोस्ट ट्रीटमेंट एविडेन्स सबमिट करना होता है. इसके अलावा एलेक्ट्रोनिक बिल और लाभार्थी का फीडबेक जमा करना भी आवश्यक होता है, तभी अस्पताल प्रशासन को उसका क्लैम वापस मिलता है.

अस्पतालों की सूची –

यह योजना जिन-जिन राज्यों में लागू हुई है उन राज्यों के प्रत्येक सरकारी अस्पताल इस योजना शामिल होंगे और इन सरकारी अस्पतालों के अतिरिक्त कुछ निजी अस्पताल जिसने अपना रजिस्ट्रेशन इस योजना के अंतर्गत करवाया है वह भी इसमें शामिल होंगे.

यह योजना भारत की ही नहीं विश्व की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजनाओं में से एक है, और बहुत ही कम समय मे इसका क्रियान्वयन तरीफे काबिल है. अब इस योजना के कारण कोई भी गरीब स्वास्थ्य सुविधा के अभाव में अपना जीवन नहीं गवाएगा और अच्छे से अच्छी स्वास्थ्य सुविधा लेकर अपना संपूर्ण जीवन जिएगा . भारत जैसे विकासशील देश में ऐसी योजना की सख्त जरूरत थी अब आशा है की बचे हुये कुछ राज्य भी इसे जल्द ही स्वीकार कर अपने राज्य के लोगों को लाभांवित करेंगे. इस योजना से संबंधित किसी भी प्रकार के अपडेट के लिए आप हमारी साइट को बूकमार्क कर सकते है.

अन्य पढ़े :

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *