बिहार बाढ़ राहत सहायता योजना 2020-2021 ऑनलाइन आवेदन, मुआवजा राशि, लाभार्थी सूची

Bihar Badh Rahat Sahayata Yojana In Hindi Apply, बिहार बाढ़ राहत सहायता योजना ऑनलाइन आवेदन, मुआवजा राशि, लाभार्थी  सूची

बिहार में जुलाई महीने में भयानक बाढ़ आई थी, जिसने समस्त बिहार को अपनी चपेट में ले लिया था, लेकिन सबसे ज्यादा प्रभावित क्षेत्र 10 जिले थे. यहाँ लाखों लोग अपने घर से बेघर हो गए, कईयों की जान चली गई, लोगों के पशु, जमीन, घर सब उजड़ गया. बिहार में हर साल ही ऐसी भयानक बाढ़ आती है, लेकिन राज्य एवं केंद्र सरकार इसका कोई स्थायी हल नहीं निकाल रही है. बिहार के लोग इससे बुरी तरह प्रभावित होते है. लोगों को थोड़ी राहत देने और आर्थिक सहायता देने के लिए बिहार राज्य सरकार ने बाढ़ राहत सहायता योजना की घोषणा की है. योजना के अंतर्गत सरकार बाढ़ से ग्रसित लोगों की आर्थिक सहायता करेगी. ताकि वे अपने जीवन को फिर से नए तरीके से शुरू कर सकें. योजना का लाभ किसे और कैसे मिलेगा, आवेदन प्रक्रिया क्या है, यह सभी जानकारी आपको हम अपने इस आर्टिकल के द्वारा देने जा रहे है, आर्टिकल को ध्यान से अंत तक पढ़ें.

bihar-badh-sahayata-rahat-apply-list

नाम

बाढ़ राहत सहायता योजना

कहाँ शुरू हुई

बिहार राज्य

किसने घोषणा की

मुख्यमंत्री नितीश कुमार

लाभार्थी

बाढ़ ग्रसित

मुआवजा

6000 रूपए हर बाढ़ ग्रसित को

बिहार मुख्यमंत्री वृद्धजन पेंशन योजनासरकार हर महीने दे रही है, 400-500 रूपए पेंशन, आप भी उठायें लाभ

बिहार बाढ़ सहायता योजना का उद्देश्य –

बिहार मुख्यमंत्री नितीश कुमार जी ने योजना को इस उद्देश्य से शुरू किया है कि बाढ़ ग्रसित लोगों को सहायता मिल सके. हजारों लोगों को जनधन की हानि हुई है, इन पैसों से लोगों को कुछ मदद मिल सकेगी.

बिहार बाढ़ सहायता योजना मुआवजा राहत धनराशी –

बिहार सरकार ने स्वयं मुख्यमंत्री नितीश कुमार जी ने घोषणा की है कि बिहार बाढ़ से जितने भी लोग प्रभावित हुए है, उनका पक्का या कच्चा घर टूट गया हो या जानमाल की हानि हुई हो उन्हें सरकार अपनी तरफ से प्रत्येक परिवार को 6000 रूपए की आर्थिक सहायता देगी. यह राशी मुआवजे के रूप में होगी, जो सीधे लोगों के बांक खाते में ट्रान्सफर की जाएगी. सरकार अलग-अलग नुकसान के लिए अलग-अलग मुआवजा तय किया है, नीचे सूची में बताया गया है कि किस नुकसान में कितनी धनराशी मिलेगी.

  • परिवार में अगर बाढ़ की वजह से किसी की मृत्यु हो जाती है, तो सरकार की तरफ से 4 लाख की धनराशी मुआवजे के लिए मिलेगी.
  • अगर बाढ़ के कारण कपड़ो का नुकसान हुआ है तो 1800 रूपए की राहत मदद.
  • बर्तनों का नुकसान हुआ है तो 2000 रूपए की मदद.
  • अगर किसी की खेती में फसल नष्ट हो गई है तो उसे प्रति हेक्टेयर के हिसाब से 6800 रूपए मिलेंगें.
  • अगर किसी के घर में गाय, भैंस जीव नष्ट हुए है तो उन्हें प्रति जंतु के हिसाब से 30 हजार रूपए मिलेंगें.
  • किसी के यहाँ घोड़ा बाढ़ के कारन नष्ट हुआ है तो उसे प्रति जंतु के लिए 25 हजार मुआवजा मिलेगा.
  • अगर भेड़, सूअर या बकरी का नुकसान हुआ है तो 3000 रूपए प्रति जंतु मिलेगा.
  • अगर किसी का पक्का या कच्चा किसी भी तरह मकान पूरी तरह से नष्ट हो गया है, तो उसे 95100 रूपए मिलेंगें.
  • अगर किसी की मुर्गियों का नुकसान हुआ है, तो उसे अधिकतम 5000 रूपए का मुआवजा मिलेगा.
  • अगर किसी के पक्के मकान को कुछ क्षति हुई है तो उसे 5200 रूपए की मदद मिलेगी.
  • अगर किसी के कच्चे मकान में क्षति है तो उसे 3200 रूपए मिलेंगें.
  • अगर घर में जानवर के रखने वाले स्थान को नुकसान हुआ है तो उसे 2100 रूपए मिलेंगें.
  • अगर किसी की झोपड़ी पूरी तरह टूट गई है तो उसे 4100 रूपए मिलेंगें.

बिहार कोरोना तत्काल सहायता योजना – सरकार से पायें 1000 रूपए की आर्थिक सहायता.

बिहार बाढ़ सहायता योजना के अंतर्गत मिलने वाले लाभ –

  • बाढ़ के कारण जो लोग परेशां हुए है, उनके घर टूट गए है या बह गए है या किसी की मौत हो गई है तो सरकार उन्हें 6000 रूपए का मुआवजा देगी.
  • इसके अलावा किसी परिवार में अगर खेती की जमीन बर्बाद हुई हो, जीव जंतु का नुकसान हुआ हो, या किसी भी तरह की कोई प्रॉपर्टी ख़राब हुई हो तो सरकार उन्हें अलग से राहत कोष से आर्थिक मदद देगी.
  • सरकार उन सभी लोगों की एक लिस्ट बना रही है, जिनको मदद की जरुरत है, जिनका नाम में सूची में होगा वही इस योजना का फायदा उठा सकेगा.

बिहार में बाढ़ ग्रस्त क्षेत्रो का विवरण –

बिहार के कुछ जिले गाँव पूरी तरह बाढ़ से ग्रसित हुए है, जिनकी लिस्ट बनाकर सरकार ने उन्हें बाढ़ ग्रसित घोषित कर दिया है. अभी सरकार ने बिहार के 12 जिले, 101 ब्लाक को बाढ़ क्षेत्र घोषित किया है. यहाँ रहने वाली 29 लाख 62 हजार जनसंख्या इससे प्रभावित हुई है. जबकि 50 लाख बुरी तरह प्रभावित हुए है.

बिहार बाढ़ प्रभावित क्षेत्र –

सीतामढ़ी, शिवहर, सुपौल, किशनगंज, दरभंगा, मुज्जफरनगर, गोपालगंज, खगरिया, सरन, पूर्वी समस्तीपुर, पश्चिम समस्तीपुर, चंपारण

बिहार बाढ़ राहत योजना पात्रता एवं दस्तावेज़ –

  • योजना का लाभ उन्ही को मिलेगा, जो बाढ़ ग्रसित जिले के अंतर्गत आते है. सरकार द्वारा घोषित किये गए बाढ़ ग्रसित जिले वाले लोग ही योजना के लिए आवेदन करें.
  • जिनका घर बाढ़ प्रभावित क्षेत्र में हो उनकी योजना के तहत मुआवजा दिया जायेगा
  • योजना का लाभ लेने के लिए जरुरी है कि उसके पास आधार कार्ड हो.
  • निवास प्रमाण पत्र
  • बैंक जानकारी

बिहार राशन कार्ड लिस्ट – बिहार में राशन कार्ड लिस्ट में ऑनलाइन नाम चेक करें.

बिहार बाढ़ सहायता योजना में आवेदन कैसे करें –

योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए किसी भी आवेदक को अलग से आवेदन नहीं करना होगा. सरकार बाढ़ ग्रसित जिले के लोगों की लिस्ट बनाकर उन्हें लाभ पहुंचाएगी. लिस्ट का काम जिले, ग्राम पंचायत का होगा. जिसका नाम लिस्ट में नहीं होगा उसके लिए सरकार समय-समय में कैंप भी लगाएगी, कैंप में आप स्वयं जाकर सारी जानकारी देकर, पूरा विवरण बताकर अपना नाम लिस्ट में दर्ज करवा सकते है.

बिहार बाढ़ सहायता योजना लाभार्थी सूचि –

जो क्षेत्र अत्यधिक बाढ़ ग्रसित है वहां बिहार सरकार कैंप लगाएगी ताकि लोग लाभार्थी सूचि में अपना नाम दर्ज करवा सकें. कैंप में आपको दस्तावेज के साथ साडी जानकारी देगी होगी, अधिकारी आपके द्वारा बताई गई और जमा किये गए कागज की जांच करेगी. अगर सब सही रहा तो लिस्ट में आपका नाम जुड़ जायेगा और समय के साथ राज्य सरकार सीधे आपके अकाउंट में पैसे ट्रान्सफर कर देगी.

बिहार बाढ़ सहायता योजना के द्वारा बाढ़ से पीढित परिवार को बहुत राहत मिलेगी, लोगों का जो भी आर्थिक नुकसान हुआ है वहां कुछ हद तक भरपाई हो सकेगी.

FAQ –

Q: बिहार बाढ़ सहायता योजना के तहत कितना मुआवजा दिया जा रहा है

Ans:  सभी प्रभावित लोगों को 6000 रूपए.

Q: बिहार बाढ़ में अगर किसी का घर पूरी तरह बह गया है या टूट गया है तो उसे कितनी राशी सरकार दे रही है?

Ans:  95100 रूपए

Q: बिहार बाढ़ में अगर किसी व्यक्ति की मौत हो गई है तो परिवार को कितनी सहायता राशी मिलेगी.

Ans:  4 लाख रूपए

Q: बिहार बाढ़ सहायता योजना के तहत अगर लाभार्थी सूचि में नाम नहीं है तो क्या करें?

Ans:  सरकार प्रभावित क्षेत्र में कैंप लगाएगी, जिसकी जानकारी उपर आर्टिकल में गई है, कृपया ध्यान से वहां पढ़ें.

Q: बिहार में कितने अत्यधिक बाढ़ प्रभावित क्षेत्र है?

Ans:  12 जिले, 101 ब्लाक

अन्य पढ़ें –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *