‘ब्रांड इंडिया’ मिशन 2021–22– ब्रांड इंडिया टैग, आवेदन प्रक्रिया

ब्रांड इंडिया मिशन 2021, ब्रांड इंडिया टैग प्राप्त करने की प्रक्रिया, आत्मनिर्भर भारत अभियान (Brand India Mission 2020-21, Check Eligibility Criteria, Process to Get Brand India Mission Tag in Hindi)

भारत में केंद्र सरकार द्वारा जल्द ही ब्रांड इंडिया मिशन 2020 का शुभारंभ होने वाला है. केंद्र सरकार द्वारा यह मिशन उन गुणवत्ता वाले उत्पादों के प्रचार पर केंद्रित किए जाएंगे जो देश में ही स्थानीय स्तर पर निर्मित किए जाते हैं. इस नए प्रक्रिया का संचालन पीयूष गोयल जो वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय का नेतृत्व करते हैं ने प्रारंभ करने की योजना तैयार की है. यह मिशन संयुक्त राज्य अमेरिका, स्विजरलैंड, फ्रांस, जर्मनी जैसे अन्य देशों की तरह हीं भारत में चलाया जाएगा. इन सभी देशों में उत्पादित होने वाली वस्तुओं के लिए ब्रांड मिशन चलाए जाते हैं.

brand india mission in hindi

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना – कोरोनाकाल में नौकरी जाने वाले लोगों को मिल रहा है लाभ, जानिए कौन हैं पात्र.

ब्रांड इंडिया मिशन के लांच की जानकारी

योजना का नामब्रांड इंडिया मिशन
साल2020
किसने लांच कीकेंद्र सरकार
लाभार्थीभारत के नागरिक
उद्देश्यभारत में उत्पादित होने वाले सामानों को एक टैग प्रदान करना.
आधिकारिक वेबसाइटNA
टोल फ्री नंबरNA

ब्रांड इंडिया मिशन क्या है

ब्रांड इंडिया मिशन का सही अर्थ भारत में बनने वाले उत्पादों के बारे में सही जानकारी भारतीय एवं अंतर्राष्ट्रीय दोनों प्रकार के उपभोक्ताओं तक पहुंचाना है. मुख्य रूप से इस मिशन का कार्य भारत को अपने नेतृत्व की स्थिति और गुणवत्ता के प्रति प्रतिबद्धता को प्रदर्शित करने में सहायक होगा. सरकार द्वारा चलाए जाने वाले इस मिशन का मुख्य उद्देश्य भारत के स्थानीय उत्पादन को बढ़ाना होगा. ब्रांड इंडिया सबसे पहले भारत में उत्पादित होने वाले सामानों को एक टैग प्रदान करेंगी.

आत्मनिर्भर भारत अभियान 3.0 – इस साल की सबसे बड़ी योजना, जानिए किसे और कैसे मिल रहा लाभ.

ब्रांड इंडिया मिशन की विशेषताएं

ब्रांड इंडिया मिशन भारत में बनने वाले उत्पादों के लिए बेहद फायदेमंद साबित होने वाला है इसकी कुछ मुख्य विशेषताओं का विवरण नीचे दिया गया है.

  • ब्रांड इंडिया मिशन की सहायता से भारत में बनने वाले सभी उत्पादों की गुणवत्ता को बढ़ावा देने में सहायता मिलेगी.
  • भारत में बनने वाले उत्पादों को जब एक टैग एवं भारत सरकार द्वारा जारी किया गया नाम मिल जाएगा, तब उन उत्पादों की बिक्री देश विदेशों के साथ-साथ भारत में भी होने लगेगी और अधिक मुनाफा प्राप्त होगा.
  • उत्पाद के बनने के बाद भारत की सरकार की अनुमति प्राप्त होते ही वह अच्छे दामों पर बेचने में सहायता मिलेगी, जिससे भारत सरकार की आय में बढ़ोतरी के साथ साथ उत्पादक एवं फैक्ट्री मालिक की भी आय में बढ़ोतरी होगी.
  • इस मिशन के अंतर्गत आरंभ में टायर एवं रबड़ उद्योगों पर फोकस किया जाएगा जिसके तहत निजी निवेश की सहायता से रबर प्लांटेशन को प्रोत्साहन मिलेगा.
  • आने वाले अगले 10 सालों में विनिर्माण क्षेत्रों के अंतर्गत 200 लाख करोड़ रुपए के कार्य सूची का एजेंडा सरकार की तरफ से प्रस्तुत किया जाएगा.
  • धीरे-धीरे अन्य औद्योगिक कार्य भी इस मिशन में शामिल कर लिए जाएंगे.

न्यू इंडिया जो ब्रांड इंडिया मिशन का एक महत्वपूर्ण बिल्डिंग ब्लॉक है इसके अंतर्गत 41 विभिन्न क्षेत्रों को शामिल किया गया है जिनमें विकास करने के लिए सरकार द्वारा सहायता प्राप्त होगी. नीचे बताए गए सभी क्षेत्रों में विकास का कार्यक्रम जल्द ही प्रारंभ कर दिया जाएगा ऐसी घोषणा सरकार की तरफ से की गई है. जिनमें मुख्य रुप से रोजगार और श्रम सुधार, प्रौद्योगिकी और नवाचार, किसानों की आय को दुगना करना, सभी के लिए आवास उद्योग, यात्रा, पर्यटन एवं आतिथ्य, भूतल, परिवहन, ऊर्जा, नागरिक उड्डयन, रेलवे, शिपिंग और अंतर्देशीय जलमार्ग के साथ-साथ लॉजिस्टिक्स डिजिटल कनेक्टिविटी स्मार्ट सिटीज आदि शामिल हैं.

ब्रांड इंडिया मिशन का टैग प्राप्त करने के लिए पात्रता मानदंड

यदि किसी भी भारत में बने उत्पाद को ब्रांड इंडिया मिशन का टैग दिलाना चाहते हैं तो नीचे दिए गए पात्रता का पालन करना होगा.

  • सबसे पहले यह देखा जाएगा कि भारत में बने उस सामान में न्यूनतम 20% स्थानीय सामग्री मिश्रित होनी चाहिए.
  • यदि उत्पाद भारत में बना है तो टैग प्राप्त करने के लिए उसका मुख्यालय भी भारत में होना चाहिए.
  • भारत में बने हुए उत्पाद को ही केवल मेड इन इंडिया का टैग प्राप्त होगा.
  • भारत में निर्मित उत्पाद की गुणवत्ता अच्छी होनी चाहिए तभी उसे ब्रांड इंडिया का टैग प्राप्त हो सकेगा.
  • निर्मित उत्पाद वाली कंपनी के द्वारा सभी निर्धारित स्वास्थ्य एवं सुरक्षा मानकों का अनुपालन करना आवश्यक है.

PM आत्मनिर्भर भारत ऋण योजना – देश के हर वर्ग के लोगों को दिया जा रहा है लाभ

ब्रांड इंडिया मिशन का टैग प्राप्त करने के लिए आवश्यक दस्तावेज

ब्रांड इंडिया मिशन के तहत किसी भी उत्पाद के लिए ब्रांड इंडिया टैग प्राप्त करने के लिए आवश्यक दस्तावेजों की आवश्यकता भी होगी जैसे

  • निर्मित माल उत्पादकों का भारत में पंजीकरण करने के बाद पंजीकरण प्रमाण पत्र
  • कंपनी द्वारा निर्धारित किए गए स्वास्थ्य एवं सुरक्षा मानकों का अनुपालन पत्र
  • उत्पाद की गुणवत्ता की जांच कराने के बाद गुणवत्ता जांच प्रमाण पत्र
  • कंपनी का पूरा ब्यौरा एवं कंपनी के संचालन कर्ता के बारे में जानकारी
  • कंपनी द्वारा निर्मित उत्पाद के बारे में संपूर्ण जानकारी की उसमें इन सामानों का इस्तेमाल किया गया है और वह सामान कहां से मंगाए जाते हैं आदि.

ब्रांड इंडिया मिशन के अंतर्गत टैग प्राप्त करने के लिए पंजीकरण की प्रक्रिया

ब्रांड इंडिया मिशन के अंतर्गत किसी भी उत्पाद को पंजीकृत कराने के लिए सबसे पहले उत्पाद को भारत में पंजीकृत कराना आवश्यक होता है. उसके बाद ऊपर बताए गए पात्रता एवं मानदंडों के सभी नियमों का पालन करना अनिवार्य है उसके बाद ही आपका ब्रांड इंडिया मिशन के अंतर्गत उत्पाद सम्मिलित हो जाएगा और उस उत्पाद को न्यू इंडिया का टैग प्राप्त हो जाएगा.

पीएम स्वनिधि योजना – रेहाड़ी विक्रेता को मिलेगा 10,000 रूपये लोन, जानिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करने की प्रक्रिया.

अपने उत्पाद को किन पंजीकृत संस्थाओं से जोड़ सकते हैं

सरकारी संस्थाओं से अपने उत्पाद को जोड़ने के लिए कुछ प्रक्रियाओं का पालन करना पड़ता है परंतु आज के समय में इस प्रक्रिया को बहुत आसान बना दिया गया है. नीचे कुछ संस्थाओं के नाम बताए जा रहे हैं जिनमें आप अपनी कंपनी को सरकारी तौर पर पंजीकृत कर सकते हैं.

  • सरकार ई बाजार
  • सार्वजनिक खरीद में वरीयता
  • व्यापार समझौते के तहत अन्य लाभ

हालांकि ब्रांड इंडिया मिशन के तहत कुछ योजनाओं को अभी फिलहाल बंद कर दिया गया है परंतु चीन के साथ सीमा तनाव के बाद भारत सरकार ने आत्मनिर्भर भारत की रणनीति में भी काफी बदलाव किए हैं. जिनकी मदद से भारत में बने उत्पादों को वैश्विक तौर पर वैश्विक बाजार का हिस्सा बनाने की तैयारी की जा रही है.

भारत में उत्पादित उत्पाद जैसे टीवी सेट एवं टायर के आयात पर प्रतिबंध लगा दिए गए हैं जिसके साथ साथ केंद्र सरकार देश में इन सभी सामानों की उत्पत्ति पर जोर दे रही है, खासकर ई-कॉमर्स के मामले में सरकार अपने महत्वपूर्ण कदम उठाते हुए दिखाई दे रही है. भारत में इलेक्ट्रॉनिक से लेकर ऑटोमोबाइल्स तथा रक्षा उपकरणों तक के उत्पादन के संभावित क्षेत्रों पर ध्यान दिया जा रहा है और उनमें बढ़ोतरी के लिए कई कदम उठाए जा रहे है.

FAQ

Q : इंडिया मिशन 2020 योजना किसके द्वारा प्रारंभ की गई है ?

Ans : भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र दास मोदी जी द्वारा.

Q : ब्रांड इंडिया मिशन के अंतर्गत किन वस्तुओं को शामिल किया जाएगा ?

Ans : उच्च गुणवत्ता वाली.

Q : ब्रांड इंडिया मिशन में किसी उत्पाद को शामिल करने के लिए क्या सबसे महत्वपूर्ण है ?

Ans : वह वस्तु भारत में बनी होनी चाहिए और उस वस्तु के उत्पादक का मुख्यालय भी भारत में होना चाहिए.

Q : वस्तु को ब्रांड इंडिया मिशन में शामिल करने के लिए किस प्रकार की जांच की जाएगी ?

Ans : उत्पाद की गुणवत्ता की जांच करने के बाद ही उसे ब्रांड इंडिया मिशन के द्वारा टैग की प्राप्ति होगी.

अन्य पढ़ें –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *