मुख्यमंत्री कृषि ऋण एकमुश्त समाधान योजना हरियाणा 2019-20

मुख्यमंत्री कृषि ऋण एकमुश्त समाधान योजना हरियाणा 2019-20 (One Time Settlement Scheme Haryana in hindi) आवेदन फॉर्म ऑनलाइन, किसान लाभार्थी सूची, चेक स्टेटस नाम, पात्रता

 हरियाणा के मुख्यमंत्री ने किसानों के लिए एक नई योजना का ऐलान किया है जिसे वह अगली विधानसभा में किसानों के लिए दिया जाने वाला तौहफा कह रही है। इस योजना का नाम मुख्यमंत्री कृषि ऋण एकमुश्त समाधान योजना हरियाणा है। इस योजना के अंतर्गत किसानों पर लगने वाले ब्याज और जुर्माने की राशि को सरकार द्वारा भरा जाएगा।  योजना के लिए आवेदन कैसे करें और कौन से किसान इस योजना का लाभ ले सकते हैं इस तरह की जानकारी के लिए पूरा आर्टिकल ध्यान से पढ़ें।

Interest Crop Loans waiver haryana

नाम मुख्यमंत्री कृषि ऋण एकमुश्त समाधान योजना हरियाणा
किसने लागू की ? मनोहर लाल खट्टर
वर्ष 2019
लाभार्थी हरयाणा किसान
लाभ लोन माफी
वेबसाइट अभी नहीं
हेल्पलाइन टोलफ्री नंबर अभी नहीं

मुख्यमंत्री कृषि ऋण एकमुश्त समाधान योजना हरियाणा क्या  है ? (One Time Settlement Scheme Haryana)

यह योजना किसानों के लिए शुरू की गई है जिन किसानों ने प्राथमिक कृषि सहकारी समिति, जिला सहकारी केंद्रीय बैंक,  हरियाणा विकास बैंक जैसी सहकारी बैंकों से कर्ज लिया है । उन किसानों पर लगने वाला ब्याज और जुर्माना सरकार द्वारा माफ किया जा रहा है परंतु शर्त यह है कि किसानों को 3 महीने के अंदर मूलधन वापस करना होगा । तभी उन्हें इस योजना का लाभ प्राप्त होगा ।

मुख्यमंत्री कृषि ऋण एकमुश्त समाधान योजना मुख्य बिंदु (Waiver Off Penalty & Crop Loans Interest Scheme Haryana)

जुर्माना और ब्याज माफी योजना

यह एक दूसरी तरह की कर्ज माफी योजना है,  आमतौर पर कर्ज माफ किया जाता है । परंतु इस योजना के अंतर्गत ब्याज एवं लगने वाला जुर्माना सरकार की तरफ से माफ किया जाएगा ।

 मूलधन भरना होगा

योजना का लाभ लेने के लिए किसानों को मूलधन लौटाना अनिवार्य है अर्थात कर्ज की जो मुख्य राशि है वह किसानों को सरकारी बैंकों को खुद ही लौटाना होगा ।

 कर्ज लौटाने की अंतिम तिथि

योजना के शुरू होने से 3 महीने के बीच में किसानों को मूलधन वापस करना पड़ेगा । इस प्रकार अंतिम तिथि 30 नवंबर 2019 तय की गई है ।

मुख्यमंत्री कृषि ऋण एकमुश्त समाधान योजना हरियाणा योजना के नियम

5% जुर्माना – अनुमान लगाया जा रहा है कि प्राथमिक कृषि सहकारी समिति से अब तक तकरीबन 1300000 किसान ऋण ले चुके हैं और इनमें से कई किसानों के खाते डिफ़ाल्ट हो चुके हैं । परंतु इस योजना के आ जाने के बाद से किसानों  पर लगने वाली पेनाल्टी को माफ कर दिया गया है अर्थात जो किसान समय पर ब्याज नहीं दे पा रहे थे उन पर 5% की का जुर्माना लगता था अब यह जुर्माना पूरी तरह से माफ कर दिया गया है ।

ब्याज पर मिलेगी छूट

  1. इसके अलावा जिन किसानों ने केंद्रीय सहकारी बैंक से लोन लिया है उन्हें ब्याज में छूट मिलेगी जिन्होंने 500000 तक का ऋण लिया है उन्हें 2% छूट मिलेगी।
  2. जिन्होंने 5 से 1000000 के बीच में लोन लिया है उन्हें 5% ब्याज में छूट मिलेगी
  3. जिन्होंने 1000000 या उससे अधिक का लोन लिया है उन्हें 10% की ब्याज में छूट मिलेगी ।
  4. इसके अलावा जिन किसानों के ऊपर चक्रवर्ती ब्याज लगता आया है उसे पूरी तरह से खत्म कर दिया जाएगा ।
  5. इसके अलावा जिन किसानों ने लैंड मॉरगेज बैंक से ऋण ले रखा है उन किसानों का दंड ब्याज पूरी तरह से खत्म कर दिया जाएगा । उन किसानों पर सामान्य लगने वाले ब्याज का 50% ही वसूला जाएगा और इसके अलावा जो 50% बचा है उसे सरकार द्वारा लौटाया जाएगा ।

मुख्यमंत्री कृषि ऋण एकमुश्त समाधान योजना के पात्रता बिंदु क्या है? (Eligibility Critera)

  • हरियाणा का किसान

किसान अगर हरियाणा राज्य का मूल निवास होगा तो ही उसे इस योजना के अंतर्गत लाभ मिल पाएगा  । अगर कोई किसान किसी और राज्य से इस राज्य में रहने आया है तो उसे इस योजना का लाभ प्राप्त नहीं होगा ।

  • दी गई बैंक से  लिया हुआ लोन होगा माफ

जिन किसानों ने सहकारी बैंकों जैसे हरियाणा भूमि सुधार एवं विकास बैंक, प्राथमिक कृषि सहकारी समिति एवं जिला सहकारी बैंक से लोन लिया है, केवल उन्हीं किसानों का लोन माफ किया ।

मुख्यमंत्री कृषि ऋण एकमुश्त समाधान योजना योजना के अंतर्गत लगने वाले दस्तावेज क्या हैं ? (Documents Required)

  •  खेत  संबंधी कागज

केवल किसान ही है जो योजना के अंतर्गत लाभ ले सकते हैं इसीलिए उनके पास अपनी स्वयं की कोई जमीन है इस चीज को सत्यापित करने के लिए कागज लगाना अनिवार्य हो सकता है ।

  • मूलनिवासी दस्तावेज

किसान हरियाणा का मूल निवासी है इससे पॉइंट को प्रूफ करने के लिए उसे अपना कोई भी आईडी प्रूफ देना जरूरी है ।

  •  बैंक लोन संबंधी दस्तावेज

 क्योंकि बैंक संबंधी लोन में कर्ज माफी मिल रही है इसीलिए बैंक से लिए गए लोन की कॉपी होना अनिवार्य है ।

कर्जमाफी सर्टिफिकेट कैसे मिलेगा ? (Loan Waiver Certificate)

आमतौर पर राज्यों में जब कर्ज माफी योजना लाई जाती है तो कर्ज माफी सर्टिफिकेट किसानों को प्रदान किया  जाता है।  हो सकता है हरियाणा सरकार भी इस योजना के अंतर्गत किसानों को कर्ज माफी प्रमाण पत्र दे ।

 मुख्यमंत्री कृषि ऋण एकमुश्त समाधान योजना आवेदन प्रक्रिया क्या हैं ? (Download Application Form and Process)

फिलहाल सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत शामिल होने की प्रक्रिया के बारे में ऐलान नहीं किया है । इस योजना के अंतर्गत किसान कैसे पंजीयन फॉर्म भर सकते हैं ? और कैसे लोन माफी का फायदा ले सकते हैं ? इससे संबंधी जानकारी मिलने पर इस पेज पर अपडेट कर दी जाएगी ।

लाभार्थी किसानों की सूची कैसे देखे ? (How to Check Name in List)

आमतौर पर इस तरह की योजना में जिन किसानों के नाम शामिल किए जाते हैं । उनकी लिस्ट कार्यालय में अथवा ऑनलाइन पोर्टल पर अपडेट कर दी जाती है । अगर इस योजना से संबंधित भी कोई लिस्ट जारी की जाती है तो उसकी जानकारी इस पेज पर आने वाले समय में अपडेट कर दी जाएगी ।

मुख्यमंत्री कृषि ऋण एकमुश्त समाधान योजना हरियाणा सरकार की तरफ से  किसानों के लिए एक अच्छी पहल है । इस योजना को किसानों के लिए तोहफा माना जा रहा है किसानों को इस योजना से काफी राहत मिलेगी । अधिकतर किसान मूलधन लौटाने के चक्कर में ब्याज और उस पर लगने वाले जुर्माने के कारण काफी परेशान रहते हैं और यह कर्ज बढ़ता ही चला जाता है ।  और इसके चलते वे आत्महत्या जैसे जुर्म को अपनाते हैं । इस टाइप की योजना से किसानों को काफी लाभ होगा ।  सामान्यतः किसान का पूरा कर्ज माफ करना प्रदेश सरकार के लिए भी इतना आसान नहीं होता हैं। अतः इस तरह जुर्माना और ब्याज माफ करने के कारण सरकार के बजट पर भी ज्यादा असर नहीं होगा।

Other links –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *