[आवेदन] दिल्ली स्कॉलरशिप योजना 2019-20

दिल्ली स्कॉलरशिप योजना 2019-20 (आवेदन फॉर्म, पात्रता) (Delhi Scholarship Fee Waiver Scheme in hindi) [Application Form Process, Eligibility Criteria, Student List]

 दिल्ली के सरकारी विद्यालयों में पढने वाले वो छात्र जिनकी आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं हैं, उनके लिए दिल्ली सरकार ने योजना की शुरुआत की हैं. बैंक में गारंटी देने की स्थिति ना होने कारण जो लोग बैंक से लोन नहीं ले सकते लेकिन उनके बच्चे योग्य एवं मेधावी हैं उन सभी के लिए ये योजना शुरू की गयी हैं.

Delhi Scholarship Scheme

लांच की आवश्यक जानकारी (important launch details)

योजना का नाम (Name of the future scheme) दिल्ली स्कॉलरशिप योजना

 

कहां लांच हुयी? (Launched in) दिल्ली
किसने बनाई? (Designed by) अरविन्द केजरीवाल
योजना की घोषणा किसने की (Announced by) मनीष सिसोदिया
प्रारम्भिक घोषणा (Preliminary announcement) जून 2019
लांच की दिनांक Date of Launch) जल्द ही
लक्षित लाभार्थी (Target beneficiaries) गरीब बच्चे
वेबसाईट (Website for scheme) edistrict.delhigovt.nic.in  

 

योजना की मुख्य विशेषताएं (Special features of the scheme)

  • शिक्षा में ज्यादा और बेहतर अवसर उपलब्ध करवाना (Providing better educational scope)- दिल्ली सरकार ने जरूरतमंद प्रतिभाशाली छात्रों के लिए विशेष योजना शुरू की हैं. दिल्ली सरकार इसके लिए एक ऐसी योजना लायी हैं जिसमे छात्र यदि उच्च शिक्षा लेना चाहे तो सरकार उसकी आर्थिक मदद करेगी. इस योजना के कारण आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के परिवारों के बच्चे अब आसानी से इंजीनियर, मेडिकल, स्नातक और पीजी जैसी पढ़ाई पूरी कर पायेंगे.
  • गरीब मेधावी छात्र (Poor meritorious applicants)– ये योजना उन छात्रों की मदद करेगी जिन्होंने स्कूल में अच्छे प्रतिशत हासिल किये हैं लेकिन आर्थिक तंगी के कारण आगे पढ़ाई करने में सक्षम नहीं हैं, इसलिए इस योजना के अंतर्गत उच्च शिक्षा के लिए लाभार्थियों को आवश्यक एवं नियत राशि दी जायेगी.
  • छात्रवृत्ति राशि (Scholarship amounts) – दिल्ली सरकार ने छात्रवृत्ति के लिए दो श्रेणिया निर्धारित की हैं, ये श्रेणियां परिवार की आय पर निर्भर करती हैं, राशि के आधार पर सरकार 100 या 50 प्रतिशत तक छात्रवृत्ति देगी.
  • रीक्षा के लिए कोई एप्लीकेशन फीस नहीं (No application fee for examination) – यदि ये योजना क्रियान्वित होती हैं तो  सरकार जल्द ही सीबीएसई के छात्र/ छात्राओं के लिए अनिवार्य 1500 रूपये की फीस भी माफ़ कर देगी.
  • शिक्षा ऋण (Education loan) – प्रारम्भिक घोषणा के अनुसार छात्र/ छात्राओं को इसमें लोन भी मिलेगा जिससे उनके परिवारों पर आर्थिक दबाव कम होगा.
  • शिक्षा के ऋण पर कोई ब्याज नहीं (No interest on education loan) – बैंक और अन्य वित्तीय संस्थाएं किसी भी तरह के शिक्षा के ऋण पर ब्याज लगाती हैं. यदि लाभार्थी इस योजना के लिए आवेदन करता हैं तो उसे इस पर लगने वाले ब्याज के लिए चिंता करने की आवश्यकता नहीं होगी, इस योजना में शून्य प्रतिशत के ब्याज के साथ ऋण दिया जाएगा.
  • छात्र/छात्रा का  बैंक अकाउंट (Students’s bank account) – अभ्यर्थी को छात्रवृत्ति और शिक्षा के लिए ऋण दोनों ही उसके बैंक अकाउंट में ट्रान्सफर किये जायेंगे इसलिए छात्र के पास उसका बैंक अकाउंट होना अनिवार्य हैं.

आय और छात्रवृत्ति (Income and scholarship)

मनीष सिसोदिया ने इस योजना की जानकारी एक आधिकारिक ट्वीट करके दी थी. एक लाख से कम आय वाले परिवारों को छात्रवृत्ति में शत-प्रतिशत राशि वापिस दी जाएगी.

पारिवारिक की वार्षिक आर्थिक आय (Family’s annual income range) दी जाने वाली छात्रवृत्ति का प्रतिशत (Attainable scholarship percentage)
एक लाख रूपये से कम छात्र को शत प्रतिशत छात्रवृत्ति
एक लाख से 2.5 लाख के मध्य छात्र को 50% छात्रवृत्ति
2.5 लाख से 6 लाख तक छात्र को 50 प्रतिशत तक की छात्रवृत्ति

 

दिल्ली स्कालरशिप में आवेदन के लिए आवश्यक डाक्यूमेंट्स (Eligibility and documents necessary for Delhi Scholarship Scheme application)

  • दिल्ली का निवासी (Resident of Delhi) – केवल वो छात्र/छात्रा जो दिल्ली के निवासी है और जिनकी स्कूल दिल्ली में ही हैं वो ही इस योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं, एक बार योजना के आधिकारिक रूप से लांच हो जाने के बाद पता चल जायेगा कि योजना का लाभ लेने के लिए निवास-प्रमाण पत्र होना जरुरी हैं.
  • आर्थिक बैकग्राउंड (Financial background) – ये योजना आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग के लिए बनाई गयी हैं इसलिए ये स्वाभाविक हैं कि योजना का लाभ लेने के लिए उनके पास बीपीएल सर्टिफिकेट हो, वैसे इससे जुडी आवश्यक दस्तावेजों के बारे में योजना के लांच होने के बाद ही पता चलेगा.
  • आय प्रमाण-पत्र (Income certificate) – सभी लाभार्थियों को अपने पारिवारिक आय की जानकारी के साथ ही आय प्रमाण पत्र लगाना भी अनिवार्य होगा.
  • स्कूल की अंतिम एग्जामिनेशन मार्क्स शीट (School final examination mark sheet) – योजना में अभ्यर्थी को अपने स्कूल के फाइनल एग्जाम की मार्क्स-शीट अटेच करने की भी जरूरत पड़ सकती हैं,  
  • कॉलेज एडमिशन पेपर्स (College admission papers) – कॉलेज में एडमिशन के लिए आवश्यक डाक्यूमेंट्स भी इस योजना का लाभ का लेने में अनिवार्य हो सकते हैं, क्योंकि ये डाक्यूमेंट्स ही सुनिश्चित करेंगे कि अभ्यर्थी ने मेरिट के आधार पर प्रवेश लिया हैं. ये एडमिशन डाक्यूमेंट्स उच्च शैक्षिक संस्था को पहचानने में सरकार की मदद भी करेंगे.
  • कॉलेज फीबुक की कॉपी (College fee book copy) – छात्रवृत्ति की राशि या तो कोर्स-फीस के बराबर होगी या आधी होगी, इसलिए फी-बुक की फोटोकॉपी लगाना जरुरी होगा. फी-बुक ही अभ्यर्थी के कुल कोर्स फीस के बारे में जानकारी देगी, जिसके अनुसार राज्य सरकार पैसे ट्रांसफर कर सकेगी,
  • किसी भी स्ट्रीम के लिए (For any stream)- जो अभ्यर्थी साइंस, कॉमर्स, आर्ट्स या कोई प्रोफेशनल सब्जेक्ट जैसे मेडिकल या इंजीनियरिंग की पढाई कर रहे हैं उन्हें योजना का सीधा लाभ मिलेगा और इसमें एनरोल हो सकेंगे.
  • बैंक अकाउंट डिटेल्स (Bank account details)– पारदर्शिता और प्रॉपर ग्रांट देने के लिए पैसों को बैंक अकाउंट में ट्रान्सफर किया जायेगा, साथ में डाक्यूमेंट्स भी लगाये जायेंगे, जिसमे बैंक अकाउंट की सारी डिटेल्स देनी अनिवार्य होगी.

दिल्ली स्कालरशिप योजना के लिए कैसे आवेदन करे और रजिस्ट्रेशन फॉर्म कैसे प्राप्त करे (How to get registration form and apply for Delhi Scholarship Scheme?)

  दिल्ली सरकार ने केवल एक घोषणा की हैं कि वो एक योजना लांच करने जा रही हैं. मुख्यमंत्री द्वारा इसकी औपचारिक और जानकारीयुक्त घोषणा होना बाकि हैं और अभी तक इसके लांच होने की भी जानकारी नहीं आई हैं इसलिए इसके ऑनलाइन एप्लीकेशन की प्रक्रिया और डिजिटल एनरोलमेंट फॉर्म अभी उपलब्ध नहीं हैं. एक बार दिल्ली सरकार इसकी आधिकारिक घोषणा कर देगी तो योजना का क्रियान्वयन करना आसान  हो जाएगा तो. पोर्टल अभी तक तैयार नहीं हैं, जैसे ही कोई नयी अपडेट मिलती हैं तो वो साईट पर उपलब्ध करवा दी जाएगी.

       योजना का उद्देशय स्कूल की पढ़ाई के बाद भी छात्र/ छात्राओं को पढ़ाई जारी रखने के लिए प्रोत्साहित करना हैं, जिससे कि जो छात्र/ छात्रा प्री-मैट्रिक, पोस्ट-मैट्रिक की पढाई कर सके. इस योजना से राज्य में शिक्षा का विकास होगा, यदि ज्यादा से ज्यादा छात्र पैसों की कमी के कारण उच्च शिक्षा लेना बंद कर देंगे तो साक्षरता की दर घट जायेगी जरूरतमंद छात्र इस आर्थिक सहायता से अपने अकादमिक सपनों को पूरा कर सकेंगे. एक बार जब दिल्ली सरकार इस योजना को शुरू कर देगी तो छात्र/ छात्राएं अपनी आर्थिक समस्या को भूलकर पढाई पर ध्यान केन्द्रित कर सकेंगे. इस तरह ये योजना शिक्षा के क्षेत्र में समाज के सर्वांगीण विकास के लिए बनाई गयी हैं, इससे गरीब बच्चों को पढने के साथ ही सशक्त बनाने का मौका भी मिलेगा,इससे मिलने वाली राशि उनकी पढाई के साथ ही उनके  भविष्य को भी सुरक्षित करेगा.

Other links –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *