झारखंड फ्री (मुफ्त) स्मार्ट फोन के लिए पंजीकरण कैसे करवाये? | Free Smart Phone Yojana In Jharkhand In Hindi 2018

झारखंड फ्री (मुफ्त) स्मार्ट फोन के लिए पंजीकरण कैसे करवाये? (प्रदेश सरकार द्वारा किसानों की दिवाली गिफ्ट मुफ्त स्मार्ट फोन) (आवेदन फॉर्म) [Free Smart Phone Yojana In Jharkhand In Hindi] 2018 [Application Form, Eligibility]

झारखंड सरकार ने दिवाली के शुभ अवसर पर किसानों के लिए नयी योजना की शुरवात की हैं जिसके तहत उन्हे फ्री स्मार्ट फोन दिये जायेंगे। यह योजना किसानों में डिजिटल इंडिया के महत्व को बढ़ाने के उद्देश्य से लायी जा रही हैं , जिससे किसान आसानी ने e-NAM पोर्टल से जुड़ सके और उसका लाभ उठा सके। इस योजना के भीतर लगभग 28 लाख किसान लाभान्वित होंगे ऐसी उम्मीद की जा रही हैं ।

Free Smart Phone Yojana In Jharkhand In Hindi

1नामफ्री स्मार्ट फोन स्कीम
2दिनांकनवंबर 2018
3किसने लॉंच की ?मुख्यमंत्री रघुबर दास
4किसके लिए योजना लायी जा रही हैं ?झारखंड के किसान

 योजना के मुख्य बिन्दु क्या हैं ? [Key Features]

झारखंड सरकार ने किसानों को मुफ्त स्मार्ट मोबाइल फोन देने की घोषणा की हैं जिसका मुख्य उद्देश किसानों को डिजिटल इंडिया से जोड़ना हैं ।

  • कैसे जुड़ेंगे किसान डिजिटल इंडिया से ?

किसानों के लिए e-nam पोर्टल भारत सरकार ने शुरू किया हैं। यह एक ऑनलाइन सुविधा हैं जो कि किसानों के व्यापार का एक मात्र ऑनलाइन प्लैटफ़ार्म हैं । इस ऑनलाइन सुविधा का लाभ लेने के लिए किसानों को इंटरनेट की जानकारी होना जरूरी हैं लेकिन किसान जो दो वक्त का खाना नहीं जुटा पाता हैं वो कैसे इंटरनेट से जुड़ेगा? इस समस्या के समाधान के लिए झारखंड सरकार ने प्रदेश के किसानों को फ्री स्मार्ट फोन देने का तय किया हैं ।

  • e-NAM पोर्टल से जुड़ना क्यूँ जरूरी हैं ?

यह एक ऐसा प्लेटफार्म हैं जहां किसान को उसकी फसल का उचित दाम मिलता हैं । और किसान यहाँ से देश के साथ- साथ विदेश में भी अपनी फसल का व्यापार कर सकता हैं । इसलिए जरूरी हैं कि किसान इस योजना से जुड़े और इसके लिए डिजिटल इंडिया को सीखे, समझे और अपनाये।

  • स्मार्ट फोन के अन्य फायदे:
  1. अगर किसान इंटरनेट से जुड़ता हैं तो उसे खेती करने के नये और आसान तरीके भी सीखने मिलेंगे, जिससे किसान कम लागत में अधिक मुनाफा कमाने योग्य बनेगा ।
  2. स्मार्ट फोन के जरिये किसानों को मौसम का हाल पाता चलेगा जिससे वो समय रहते कारगर कदम उठा सकता हैं ।

कौन इस योजना के लिए पंजीकरण करवा सकता हैं ?[Eligibility Criteria]

यह योजना मुख्यतः झारखंड के किसानों के लिए आई हैं जिसमे 28 लाख किसान शामिल होंगे। यह सभी प्रदेश के छोटे किसान होंगे लेकिन अभी योजना की कोई गाइडलाइन नहीं दी गई हैं ।

कैसे पंजीकरण करवा सकते हैं ? [Application Form, Process]

अभी योजना का पंजीकरण कैसे होगा? इस पर कोई रूपरेखा नहीं बनाई गई हैं। इसके लिए अभी हमे इंतजार करना होगा जैसे ही हमे अप्लाई करने की जानकारी प्राप्त होगी हम अपने इस पेज में जानकारी जोड़ देंगे । अगर आप चाहते हैं आपको जानकारी सबसे पहले मिले तो आप हमारे पेज को बूकमार्क कर सकते हैं, साथ ही सभी योजनाओं की जानकारी सबसे पहले पढ़ने के लिए आप हमारी साइट को सब्सक्राइब कर सकते हैं।

योजना के लिए कौन- कौन से दस्तावेज़ महत्वपूर्ण होंगे ? [Documents List]

यह योजना प्रदेश के छोटे किसानों के लिए हैं इसलिए झारखंड का निवासी प्रमाण पत्र जिसमे कोई भी आईडी आ सकती हैं, का होना जरूरी हैं । इसके साथ ही अपना किसान होने का प्रमाणपत्र देना भी आवश्यक होगा ।

यह योजना कब शुरू होगी ? [Date Of Implementation]

इस योजना के बारे में मुख्यमंत्री जी ने 3 नवंबर 2018 को बताया, उन्हे स्पष्ट कहा कि यह योजना अगले बजट अर्थात 2019-20 में शामिल की जायेगी। लेकिन इस वर्ष कई दूसरे कार्यक्रम रखे गए हैं जो इस प्रकार हैं :

18 नवम्बर 2018इस दिन फसल बीमा पर बातचीत की जायेगी
29 नवम्बर 2018 एवं 30  नवम्बर 2018ग्लोबल एग्रीकल्चर फूड समिट

झारखंड सरकार द्वारा कुछ अन्य घोषणा भी की गई हैं जिसमे यह कहा हैं कि प्रदेश में आते वर्ष फसल बीमा योजना के लिए बीमा करवाने का कार्य बंद करवा दिया जाएगा और उसके स्थान पर ट्रस्ट शुरू किए जायेंगे। साथ ही ग्लोबल एग्रीकल्चर फूड समिट भी प्रदेश मे होना हैं जिसमें फूड प्रोसैसिंग मंत्री हरसिमरत कौर शामिल होंगे एवं चीन, फिलिपिस्तान के किसान भी हिस्सा लेंगे । इस ग्लोबल समिट में 10 हजार किसानों का रजिस्ट्रेशन करवाया जा चुका हैं । इसमे देश के अन्य राज्य जैसे असम, बिहार, कर्नाटक, उत्तराखंड और महाराष्ट्र भी शामिल होंगे ।

यह फ्री स्मार्ट फोन योजना एक अच्छी कोशिश हैं जिससे किसान डिजिटल इंडिया को जानेंगे और प्रधानमंत्री के सपने Doubling Farmers income by 2022 को पूरा करने के सक्षम होंगे ।

Other links –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *