छत्तीसगढ़ इंदिरा वन मितान योजना 2020 फॉर्म

छत्तीसगढ़ इंदिरा वन मितान योजना 2020 फॉर्म [Indira Van Mitan Yojana Chhattisgarh Form, Eligibility Criteria, Benefits]

अक्सर सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनायें शहर में एवं गांव में रहने वाले लोगों को लाभ पहुंचाती है, लेकिन कुछ ऐसे लोग होते हैं जोकि वन में रहते हुए अपना जीवन व्यतीत करते हैं. उनके लिए अब तक कोई भी योजना नहीं चलाई गई है. किन्तु छत्तीसगढ़ सरकार इनके लिए एक योजना का शुभारंभ करने जा रही हैं जोकि इंदिरा बन मितान योजना है. इस योजना के तहत वनी इलाकों में रहने वाले लोगों के विकास के लिए कार्य किया किये जायेंगे. वहन के लोगों को आत्मनिर्भर बनने में मदद की जाएगी. इस योजना की प्रमुख विशेषताएं एवं संपूर्ण जानकारी आपको यहां मिल जाएगी.

indira van Mitan Yojana

इंदिरा वन मितान योजना छत्तीसगढ़ के लांच की जानकारी

नामइंदिरा वन मितान योजना
राज्यछत्तीसगढ़
घोषणा की गईअंतर्राष्ट्रीय आदिवासी दिवस के अवसर पर
घोषणा करने वालेमुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी द्वारा
लाभार्थीवनांचल में रहने वाले छत्तीसगढ़ के नागरिक
योजना की शुरुआतजल्द ही

छत्तीसगढ़ राजीव गांधी किसान न्याय योजना में किसान आवेदन करने के लिए ये प्रक्रिया अपनाएं.  

इंदिरा वन मितान योजना छत्तीसगढ़ की विशेषतायें एवं लाभ

  • योजना का उद्देश्य :- इस योजना को शुरू करने का मुख्य्म्नात्री भूपेशा बघेल जी का उद्देश्य यह है कि वन क्षेत्र में रहने वाले लोगों को खुशहाल जिन्दगी जीने का मौका मिले एवं वनांचल के गांव स्वावलंबी एवं आत्मनिर्भर बन सकें.
  • योजना का लक्ष्य :- इस योजना के अंतर्गत कम से कम 19 लाख परिवारों को इसमें शामिल किया जायेगा.
  • आर्थिक गतिविधियों का संचालन :- इस योजना के तहत वन आधारित आर्थिक गतिविधियों का संचालन करने के लिए 10 हजार गांवों के समूह का गठन किया जायेगा और प्रत्येक समूह में 10 से 15 सदस्य शामिल होंगे. इन समूहों में विशेष रूप से युवा शामिल होंगे.
  • स्वरोजगार एवं समृद्धि में बढ़ावा :- इस योजना से राज्य के लाभार्थियों को स्वरोजगार के अवसर के साथ साथ समृद्ध बनने का मौका का भी मिल सकेगा.
  • वनोपज प्रोसेसिंग केंद्र की स्थापना :- इस योजना के तहत वनोपज प्रोसेसिंग केंद्र की स्थापना भी की जाएगी, जोकि प्रत्येक आदिवासी विकासखंड में बनाये जायेंगे. कुल मिलाकर 85 विकासखंड होंगे जहाँ पर यह केंद्र स्थापित होंगे.
  • कुल बजट :- इस योजना में वनोपज प्रोसेसिंग केंद्र की स्थापना में राज्य सरकार ने 8 करोड़ 50 लाख रूपये तक का बजट आवंटित किया है, जिसमें से हर केंद्र के बनने में कम से कम 10 लाख रूपये का खर्च आयेगा.   
  • गठन किये गये समूहों की दिया जाने वाला कार्य :- इस योजना में गांव के समूह का गठन किया गया है. जिनका कार्य होगा वृक्ष प्रबंधन, वन उपज की खरीद, मार्केटिंग एवं प्रोसेसिंग का प्रबंधन करना.
  • वनोपजन की खरीद :- पहले छत्तीसगढ़ में केचल 7 प्रकार के वनोपज की खरीदी होती थी किन्तु अब यह बढ़कर 31 हो गई है.
  • वनोंपज का सही मूल्य :- वन समूहों के द्वारा बेचे जाने वाले वनोपज का सही मूल्य मिलेगा. और इससे समर्थन मूल्य में भी वृद्धि होगी.
  • फलदार एवं वनौषधियों वाले पौधे का रोपण :- इस योजना में वन वासियों की आय में वृद्धि भी की जानी हैं इसके लिए इमारती लकड़ी के स्थान पर फलदार एवं वनौषधियों वाले पौधों का रोपण किया जाएगा.  

इंदिरा वन मितान योजना छत्तीसगढ़ में पात्रता मापदंड

  • छत्तीसगढ़ का निवासी :- इस योजना का लाभ केवल छत्तीसगढ़ के निवासी ही ले सकते हैं. अन्य राज्यों के लिए यह योजना नहीं है.
  • वनी इलाकों में रहने वाले युवा :- इस योजना का लाभ लेने वाले युवा वनी इलाकें से संबंधित होना चाहिये.
  • जाति पात्रता :- इस योजना में जाति पात्रता के आधार पर अनुसूचित जाति एवं जनजाति के लोगों को ज्यादा लाभांवित किया जायेगा. इसके साथ ही आदिवासी समाज के लोगों को भी इसमें लाभ दिया जायेगा.

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना के तहत ऐसे बेचें अपना गोबर और पायें आमदनी.

इंदिरा वन मितान योजना छत्तीसगढ़ में आवश्यक दस्तावेज

  • निवास प्रमाण पत्र :- छत्तीसगढ़ के निवासियों को अपना निवास प्रमाण पत्र की कॉपी दिखानी होगी.
  • आधार कार्ड :- आवेदकों की पहचान के लिए आवश्यक हैं वे अपना आधर कार्ड अवश्य याद रखें.
  • जाति प्रमाण पत्र :- इस योजना में चुकी जाति पात्रता भी सुनिश्चित की हैं इसलिए इसका प्रमाण पत्र भी फॉर्म में अटैच करना आवश्यक है.
  • बैंक खाता एवं मोबाइल नंबर :- इस योजना में आवेदन करने वाले आवेदकों के पास उनका खुद का एक बैंक खता होना चाहिए जोकि उनके मोबाइल नंबर से जुड़ा हो.

इंदिरा वन मितान योजना छत्तीसगढ़ के लिए आवेदन कैसे करें

इस योजना के तहत आप आवेदन कैसे करेंगे यह जानकारी आपको हम देने में असमर्थ हैं, क्योकि अभी राज्य सरकार ने इस योजना की केवल घोषणा की हैं आवेदन से संबंधित कोई भी जानकारी नहीं दी गई है. हमें इसकी जानकारी प्राप्त होते ही आपको इसकी जानकारी हम यहाँ दे देंगे.

छत्तीसगढ़ असंगठित श्रमिक मजदूर कार्ड के लिए पंजीयन कराने के लिए आवेदन फॉर्म यहं से प्राप्त करें.

इस प्रकार छत्तीसगढ़ सरकार एक के बाद एक यूनिक योजना लोगों के लिए लेकर आ रही हैं. जिससे उचित लोगों को इसका उचित लाभ मिल सके.

FAQ’s

Q : इंदिरा वन मितान योजना क्या है ?

Ans : वनांचल में रहने वाले लोगों का विकास करने एवं उन्हें आत्मनिर्भर बनाने के लिए शुरू की गई योजना है.

Q : इंदिरा वन मितान योजना से क्या लाभ हैं ?

Ans : वनी इलाकों में रहने वाले लोगों का विकास करना एवं उन्हें आर्थिक मदद देना है.

Q : इंदिरा वन मितान योजना का लाभ किसे मिलेगा ?

Ans : छत्तीसगढ़ के रहें वाले अनूसूचित जाति एवं जनजाति के लोग.

Q : इंदिरा वन मितान योजना आवेदन कैसे करें ?

Ans : इसकी जानकारी अभी नहीं दी गई है –

Q : इंदिरा वन मितान योजना में कितने समूह का गठन किया जायेगा.

Ans : 10 हजार, प्रत्येक गांव से 10 से 15 लोग होंगे इसमें शामिल.

अन्य पढ़ें –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *