[फॉर्म] जय भीम मुख्यमंत्री प्रतिभा विकास योजना दिल्ली

जय भीम मुख्यमंत्री प्रतिभा विकास फ्री कोचिंग योजना दिल्ली (Jai Bhim Mukhyamantri Pratibha Vikas Yojana Delhi in Hindi) आवेदन फॉर्म डाउनलोड ऑनलाइन, पात्रता, फीस, कोचिंग सेण्टर लिस्ट (How to Apply, Registration)

दिल्ली में तत्कालिक राज्य सरकार ने राज्य के छात्र एवं छात्राओं के लिए ‘जय भीम मुख्यमंत्री प्रतिभा विकास योजना’ नाम से एक योजना की शुरुआत की है. इस योजना के तहत कमजोर पारिवारिक आय वाले, प्रतिभाशाली छात्र – छात्राओं को प्रतियोगी परीक्षाओं में अच्छी रैंक प्राप्त करने में मदद मिल सकें, इसके लिए उन्हें मुफ्त कोचिंग सुविधा प्रदान की जा रही है. इस योजना के लाभार्थियों की सूची में अब तक एसटी, एससी एवं अल्पसंख्यक श्रेणी के छात्र – छात्राओं के नाम शामिल किये गये थे, किन्तु अब इस योजना का लाभ सभी वर्ग के छात्र उठा सकेंगें. इस योजना के लाभ एवं अन्य जानकारी को आप हमारे इस आर्टिकल में देखें.   

Delhi-Jai-Bhim-Mukhyamantri-Pratibha-Vikas-Yojana

लांच की जानकारी (Launched Details)

योजना की जानकारी बिंदु योजना की जानकारी
नाम जय भीम मुख्यमंत्री प्रतिभा विकास योजना (फ्री कोचिंग)
लांच सन 2018 में
घोषणा मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल द्वारा
लाभार्थी राज्य के आर्थिक रूप से कमजोर छात्र – छात्राएं
सम्बंधित विभाग राज्य का समाज कल्याण विभाग
ऑफिसियल साईट delhi.gov.in
हेल्पलाइन नंबर अभी नहीं

जय भीम मुख्यमंत्री प्रतिभा विकास योजना दिल्ली की विशेषताएं एवं लाभ (Delhi Free Coaching Scheme Benefits)

  • प्रतिभाशाली छात्रों को उच्च शिक्षा के लिए सहायता :- ऐसे छात्र एवं छात्राएं जोकि प्रतिभाशाली होने के बावजूद वित्तीय मदद नहीं होने की वजह से प्रतियोगी परीक्षाओं को पूरा करने में असमर्थ होते हैं, वे सभी छात्र – छात्राएं वित्तीय सहायता प्राप्त करें ऐसा इस योजना को प्रारंभ करने का मुख्य उद्देश्य है.
  • आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों का विकास :- इस योजना के माध्यम से सभी जाति के ऐसे छात्र एवं छात्रायें अपनी उच्च शिक्षा प्राप्त करें और उनके सभी सपने पूरे हो, जिनकी आर्थिक स्थिति आम लोगों की तरह नहीं होती है. सरकार ऐसे परिवार की मदद कर उनका विकास करना चाहती हैं.
  • शिक्षा के लिए प्रोत्साहन :- इस योजना का एक मुख्य उद्देश्य यह भी हैं कि राज्य के सभी छात्र एवं छात्रायें शिक्षा के लिए प्रोत्साहित हो. ताकि उन्हें सरकारी या निजी नौकरी के बेहतर अवसर मिले और उनका भविष्य सवर सकें.
  • योजना का नाम :- इस योजना का नाम ‘जय भीम मुख्यमंत्री प्रतिभा विकास योजना’, भारतीय पूर्व जज, राजनेता एवं समाज सुधारक डॉ भीमराव अम्बेडकर जी के नाम पर रखा गया है. ऐसा इसलिए क्योंकि डॉ भीमराव जी हमेशा शिक्षा को बढ़ावा देते थे और जब बात गरीब एवं पिछड़े वर्ग की आती थी तो वे हमेशा उनकी मदद के लिए तत्पर होते थे.
  • कोचिंग फीस की व्यवस्था :- इस योजना में छात्र एवं छात्राओं को आय के अनुसार कोचिंग सुविधा प्रदान की जा रही है. यानि जिनकी वार्षिक आय 2 लाख रूपये से कम हैं उन्हें यह सुविधा मुफ्त में दी जाएगी और यदि किसी लाभार्थी के परिवार की वार्षिक आय 2 से 6 लाख तक की है, तो इसके लिए उसकी कुल फीस में से 75% भुगतान सरकार द्वारा किया जायेगा जबकि 25% भुगतान लाभार्थियों को स्वयं करना होगा. इससे उन्हें बिना किसी परेशानी के बेहतर शिक्षा प्राप्त होगी और वे सरकारी या निजी कंपनियों में नौकरी प्राप्त कर सकेंगे.
  • अतिरिक्त सहायता :- इस योजना में कोचिंग की फीस के अलावा लाभार्थियों को 2500 रूपये की अतिरिक्त सहायता भी प्रदान की जा रही है, जिसका इस्तेमाल वे अपनी किताबों एवं अन्य चीजों में कर सकते हैं.
  • कोचिंग सुविधा :- इस योजना में यह ड्राफ्ट किया गया है कि लाभार्थियों को सरकार द्वारा चुने गए कुछ शिक्षण संस्थानों में मुफ्त में कोचिंग सुविधा दी जाएगी, ताकि वे प्रतियोगी परीक्षा में बेहतर प्रदर्शन कर सकें. यहाँ तक कि यदि लाभार्थी पहली बार में प्रतियोगी परीक्षा को पास नहीं पता है तो उन्हें दूसरी बार कोचिंग करने का भी मौका मिलेगा. यानि 2 बार छात्र – छात्राएं मुफ्त में कोचिंग में प्रशिक्षण प्राप्त कर प्रतियोगी परीक्षा दे सकते हैं. किन्तु दूसरी बार में 2 से 6 लाख तक की वार्षिक आय वाले लाभार्थियों के लिए सरकार द्वारा कुल फीस का 50% दिया जायेगा.
  • कोचिंग सेंटर्स :- इस योजना में राज्य के सरकार द्वारा चयनित 8 प्रसिद्ध कोचिंग इंस्टिट्यूट को शामिल किया गया है जिसमें यह सुविधा लाभार्थियों को प्रदान की जाएगी.
  • प्रतियोगी परीक्षाएं :- लाभार्थियों को इस योजना के अंतर्गत आईआईटी या इंजीनियरिंग, मेडिकल प्री एवं मेंस, यूपीएससी, रेलवे, बैंकिंग, एसएससी आदि इसी तरह की प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए प्रशिक्षण दिया जायेगा.
  • कुल लाभार्थी :- इस योजना में लगभग 5,000 लाभार्थियों को यह सुविधा प्रदान करने का टारगेट सरकार ने तय किया हैं, जिसमें से लगभग 4,000 लाभार्थी इस योजना में पहले से ही शामिल हैं.
  • अलग – अलग कोर्स के अनुसार फीस स्ट्रक्चर :- अब तक प्रत्येक लाभार्थियों को इस योजना में जो कुल लाभ प्रदान किया जाता था वह 40,000 रूपये था, इसमें अब बढ़ोत्तरी कर दी गई हैं, जी हां अब यह बढ़कर 1.5 लाख रूपये तक हो गया है. अर्थात इस योजना में सिविल सेवा या राज्य सिविल सेवा की प्रारंभिक एवं मेन्स दोनों परीक्षाओं के लिए लाभार्थी 1.5 लाख रूपये तक की सहायता प्राप्त करेंगे, वहीँ यदि लाभार्थी इंजीनियरिंग या मेडिकल के कोर्स के लिए आवेदन करते हैं तो उन्हें 1 लाख रुपये तक की मदद मिलेगी. बैंक से सम्बंधित प्रतियोगी परीक्षाओं में उन्हें 50,000 रूपये और एसएससी की परीक्षा के लिए उन्हें 25,000 रूपये तक की सहायता प्रदान करने का प्रावधान है. साथ ही ये सहायता उन्हें न्यूनतम 4 महीने की कोचिंग के लिए दी जा रही थी, जिसे अब बढ़कर 12 महीने कर दिया गया है.

दिल्ली फ्री कोचिंग योजना में योग्यता (Jai Bhim Mukhyamantri Pratibha Vikas Yojana Delhi Eligibility Criteria)

  • दिल्ली का निवासी :- इस योजना में लाभार्थी वे सभी होंगे जोकि मूल रूप से दिल्ली की सीमा के अंदर के निवासी हैं.
  • आय पात्रता :- इस योजना के ड्राफ्ट में यह लिखा गया था कि लाभार्थी परिवार की वार्षिक आय कुल मिलाकर 6 लाख रूपये से अधिक नहीं होनी चाहिए लेकिन अब इसे बढ़ाकर 8 लाख कर दिया गया है और जिनकी आय 2 लाख रूपये से भी कम हैं उन्हें इसमें विशेष सुविधा प्रदान की गई है कि उनकी फीस पूरी तरह से मुफ्त हैं.
  • जाति पात्रता :- इस योजना में अब तक अनूसूचित जाति, जनजाति, अल्पसंख्यक एवं विकलांग लोगों को शामिल किया गया था, किन्तु अब इसमें सभी जाति के जरुरत मंद लोगों को यह सुविधा प्रदान हो सकेगी.
  • हाई स्कूल एवं हायर सेकण्ड्री की परीक्षा उत्तीर्ण :- ऐसे छात्र एवं छात्राएं जिन्होंने अपनी हाई स्कूल एवं हायर सेकण्ड्री की शिक्षा अच्छे अंकों से उत्तीर्ण कर ली हैं, उन्हें इस योजना का लाभ प्राप्त होगा.
  • दिल्ली के स्कूली छात्र :- ऐसे छात्र एवं छात्राएं जिन्होंने दिल्ली सीमा के अंदर आने वाले स्कूलों से पढ़ाई की है उन्हें इसमें शामिल किया गया है.
  • कोचिंग सेंटर्स में उपस्थिति :- लाभार्थियों की कोचिंग सेंटर्स में 100 % उपस्थिति होनी चाहिए. यदि वे प्रत्येक महीने में 15 दिन से अधिक अनुपस्थित होते हैं, तो उन्हें इस योजना से हटा दिया जायेगा.

आवश्यक दस्तावेज (Aap Free Coaching Scheme Documents Required)

  • पते एवं पहचान का प्रमाण :- लाभार्थियों को अपने दिल्ली के मूल निवासी होने के प्रमाण स्वरुप अपना मूल निवासी प्रमाण पत्र या राशन कार्ड की कॉपी जमा करनी होगी. इसके साथ ही अपनी खुद की पहचान के लिए उनके पास आधार कार्ड जैसे दस्तावेज भी हो तो बेहतर होगा.
  • जाति पात्रता :- इस योजना में जाति को भी महत्ता दी गई है इसलिए लाभार्थियों को अपना जाति प्रमाण पत्र की कॉपी भी देना होगा.
  • 10वीं एवं 12वीं की अंकसूची :- सभी लाभार्थियों को अपनी 10वीं एवं 12वीं कक्षा को उत्तीर्ण करने का प्रमाण देने के लिए दोनों कक्षाओं की वार्षिक परीक्षा की अंकसूची की कॉपी भी जमा करना आवश्यक है.
  • स्कूल प्रवेश सम्बंधित दस्तावेज :- दिल्ली के किसी भी स्कूल के लाभार्थी इस योजना में शामिल हो सकते है, इसलिए उन्हें अपने स्कूल प्रवेश सम्बंधित दस्तावेजों जैसे ट्रांसफर सर्टिफिकेट आदि की कॉपी जमा करनी आवश्यक है.
  • कोचिंग प्रवेश सम्बंधित दस्तावेज :- लाभार्थी इस योजना में शामिल होकर कोचिंग सुविधा ही प्राप्त करें इसके लिए आवश्यक है कि वे कोचिंग में प्रवेश से सम्बंधित दस्तावेजों को भी जमा करें, ताकि कोई धोखाधड़ी न हो सके.

दिल्ली जय भीम मुख्यमंत्री प्रतिभा विकास योजना में आवेदन कैसे करें ? (How to Apply for Jai Bhim Mukhyamantri Pratibha Vikas Yojana Delhi)

जय भीम प्रतिभा विकास योजना में आपको आवेदन करने के लिए निम्न विधि को अपना होगा –

  • इस योजना में ऑफलाइन आवेदन आप कोचिंग सेण्टर में जाकर कर सकते हैं. वहां आपको इसका रजिस्ट्रेशन फॉर्म प्राप्त हो जायेगा, जिसे भर कर आप वहीँ जमा कर दें.
  • इसके अलावा दिल्ली सरकार ने इस योजना का लाभ लाभार्थी तक पहुँचाने के लिए एक ऑनलाइन पोर्टल की शुरुआत की है जोकि दिल्ली जय भीम मुख्यमंत्री प्रतिभा विकास योजना पोर्टल है, सबसे पहले आप इस पर क्लिक करें और इस वेबसाइट के होम पेज पर पहुंचें.
  • होम पेज पर पहुँच कर आप इसमें इस योजना के नाम वाली लिंक को देखें और उस पर क्लिक करें. अब आपके सामने इस योजना में शामिल होने के लिए एक रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुलेगा. यह फॉर्म आपके सामने डिजिटल फॉर्मेट में प्रस्तुत होगा.
  • उसमें पूछी जाने वाली सभी जनकारी को भरें और सभी दस्तावेजों को उसमें संलग्न कर फॉर्म को सबमिट कर दें.
  • इसके बाद राज्य सरकार द्वारा इसकी जाँच की जाएगी और फिर लाभार्थियों की एक सूची तैयार की जाएगी. और उसके आधार पर लाभार्थियों को मुफ्त कोचिंग सुविधा प्रदान की जाएगी.

इस प्रकार इस योजना को शुरू कर दिल्ली सरकार शिक्षा को बढ़ावा देना चाहती हैं और साथ ही लाभार्थियों की मदद कर उनका विकास करना चाहती है. अतः यदि आप भी दिल्ली के रहने वाले हैं और इस योजना के लिए योग्य हैं, तो इसके लिए आवेदन अवश्य करें और इसका लाभ प्राप्त कर अपने भविष्य को उज्ज्वल बनाएं.

Other links –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *