[शिकायत] उत्तर प्रदेश जनसुनवाई | UP Jansunwai Portal/APP, Complaint Status

यूपी जन सुनवाई पोर्टल | Jansunwai Portal Online | Jansunwai Portal/APP, Complaint Status | jansunwai.up.nic.in Portal ऑनलाइन शिकायत

उत्तर प्रदेश सरकार हाल ही में एक नये पोर्टल की शुरुआत करने जा रही है, इसका नाम जनसुनवाई पोर्टल होगा तथा इसपर भ्रष्टाचार से निपटने के लिए कदम उठाये जायेंगे. इस पोर्टल पर राज्य में चल रहे भ्रष्टाचार के विरुद्ध शिकायत दर्ज कराई जा सकती है. इस पोर्टल पर आम जनता भ्रष्टाचार या भ्रष्टाचारी व्यक्ति के विरुध्द सबूत के रूप में ऑडियो विडियो या अन्य कोई सबूत जमा करवा सकती है.

Uttar-Pradesh-Jansunwai-Portal

Table of Contents

यूपी जन सुनवाई पोर्टल लांच डिटेल Launch Details

इस पोर्टल को 19 मार्च 2018 को दिल्ली में लांच किया गया. अपनी सरकार के सत्ता में 1 साल पुरा कर लेने के अवसर पर यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा इसे लांच किया गया. इस पोर्टल के अतिरिक्त उन्होंने इस अवसर पर राज्य के चार लाख युवाओं को चौसठ सरकारी विभागों में जल्द ही नौकरी दिलवाने का वादा भी किया है. इस पोर्टल की ऑफिशियल लिंक http://jansunwai.up.nic.in/ है.

लांच डिटेल Launch Details

  • उद्देश्य : राज्य के मुख्यमंत्री के अनुसार राज्य से भ्रष्टाचार को हटाना बहुत ही आवश्यक है. उनके अनुसार अगर राज्य में कोई भी व्यक्ति कोई नियम का उलंघन करता है या कोई अपराध करता हुआ पाया जाता है, तो उसे तुरंत सजा मिलनी चाहियें. यह पोर्टल इस प्रकार के मामलों को सामने लायेगा और अपराधी के विरुध्द कार्यवाही की जाएगी.
  • सरकारी कर्मचारी : इस पोर्टल का उद्देश्य भ्रष्ट सरकारी अफसरों से प्रदेश को निजात दिलाना है. इसके संबंध में मुख्य मंत्री जी ने कहा की इस पोर्टल पर कोई भी व्यक्ति किसी भी समय कही से भी विडियो या ऑडियो सेंड कर सकता है. दोषी व्यक्तियों पर तुरंत कार्यवाही की जाएगी.
  • लाभान्वित : राज्य का कोई भी नागरिक इस पोर्टल का लाभ ले सकता है. इस पोर्टल पर प्रभारी अधिकारियों के लिए भी एक अलग से ऑफिसर लॉग इन सेक्शन उपलब्ध है.
  • अन्य लाभ : इस पोर्टल पर जनसुनवाई के अतिरिक्त राज्य के बेरोजगार युवाओं को भी एकत्र किया जायेगा. तथा इसके माध्यम से विभिन्न युवाओं को विभिन्न सरकारी नौकरी के अवसर उपलब्ध कराये जायेंगे.

पोर्टल की जानकारी Portal Details

यह पोर्टल http://jansunwai.up.nic.in/ पर काम जारी हो चूका है, कोई भी व्यक्ति इसपर अपनी कम्प्लेंड दर्ज करवा सकता है. इस पोर्टल पर जनसुनवाई हिंदी और अंग्रेजी दो भाषाओं में उपलब्ध होगी. जो व्यक्ति उत्तर प्रदेश के ग्रामीण इलाकों से आते है वे भी आसानी से अपनी शिकायत हिंदी में इसपर दर्ज करवा सकतें है. इस पोर्टल के 4 सेक्शन: शिकायत पंजीकरण, शिकायत की स्थिति, अनुस्मारक भेजे और आपकी प्रतिक्रिया होंगे.

जनसुनवाई एंड्राइड एप Jansunwai Android App

जनसुनवाई पोर्टल के द्वारा एक मोबाइल एप भी लांच की गई है. यह एप एंड्राइड मोबाइल और अन्य जगहों पर  उपलब्ध है. इस एप के द्वारा भी उत्तर प्रदेश के नागरिक पोर्टल की ही तरह सामान सुविधा प्राप्त कर सकते है. स्मार्ट फोन के कारण एप का प्रयोग करना ज्यादा आसान होगा, फोन पर इस एप के द्वारा आप इसे आसानी से और तुरंत उपयोग कर सकतें है.

यह कैसे काम करता है / अपनी शिकायत कैसे दर्ज करे How it Works /How to register complaint:

इस पोर्टल पर शिकायत चार चरणों में दर्ज की जाएगी, नीचे इसकी सम्पूर्ण प्रक्रिया दी गई है.

  • इसके लिए सर्वप्रथम आपको इसकी ऑफिसियल वेबसाइट (http://jansunwai.up.nic.in/) पर जाना होगा. अब यहाँ अपनी शिकायत दर्ज करवाने के लिए आपको शिकायत पंजीकरण ऑपशन को सिलेक्ट करना होगा.
  • जब आप यहां क्लिक करते है तो आप रजिस्ट्रेशन के मेन पेज पर आ जाते है. इस फॉर्म में व्यक्ति को अपना मोबाइल नंबर देना होता है . इस मोबाइल नंबर पर ही व्यक्ति को अपना वन टाइम पासवर्ड प्राप्त होता है.
  • जब व्यक्ति को अपना वन टाइम पासवर्ड प्राप्त हो जाता है तो उसे यह पासवर्ड यहा भरना होता है. यह कोड डालते से व्यक्ति अगले पेज पर पहुच जाता है और यहाँ वह अपने पास उपलब्ध सबूत जमा करवा सकता है.
  • अलगे भाग में व्यक्ति अपनी शिकायत का स्टेटस चेक कर सकता है, संबंधित अधिकारियों को इस पोर्टल पर शिकायत के संबंध में सही जानकारी फिल करनी होति है.
  • अगला भाग रिमाइंडर का होता है, इस भाग में व्यक्ति को अगर ऐसा लगता है की उसकी शिकायत की सुनवाई में देरी हो रही है तो वह रिमाइंडर का उपयोग कर सकता है. यह सेक्शन जनता को सरकार और एंटी करप्शन अफसरों से संपर्क बनाये रखने में सहायक होगा.
  • इसका आखरी भाग कस्टमर के फीडबैक का होता है, जिसमें व्यक्ति अपनी शिकायत के सॉल्व होने से संबंधित फीडबैक दर्ज कर सकता है. यहा व्यक्ति अपने अनुभव साझा कर सकता है.

पोर्टल के अंतर्गत अन्य सेवाएँ Services under the portal

भ्रष्टाचार और अन्य शिकायतों के अलावा इस पोर्टल और एप पर अन्य सुविधाये भी उपलब्ध कराइ जाती है. यह सुविधाये सूचना का अधिकार, सुझाव, सरकारी कर्मचारियों द्वारा दी जाने वाली सेवा, न्यायालिक मामलें, नौकरी की जानकारी और वित्तीय सहायता आदि है.

इस पोर्टल पर अपनी शिकायत की स्थिति कैसे जानें How to track complaint status

अपनी शिकायत की स्थिति जानने के लिए आपको http://jansunwai.up.nic.in/Trackpage.aspx इस लिंक पर क्लिक करना होगा. यहा पर क्लिक करके आप सीधे स्टेटस पेज पर पहुच जायेंगे.

इस पेज पर खाली जगह पर आपको अपना मोबाइल नंबर और केस कोड भरना होगा. आपकी शिकायत की संपूर्ण जानकारी आपको इसी पेज पर उपलब्ध होगी. यहा पर लोग यह भी जान सकतें है की अपराधी व्यक्ति के खिलाफ कोई कार्यवाहीं की गयी है या नही.

प्रतिक्रिया Feedback

पोर्टल के अंतिम भाग में व्यक्ति अपनी शिकायत और उसे हल की जाने की प्रक्रिया के लिए अपनी प्रतिक्रिया दर्ज करवा सकता है. प्रतिक्रिया भाग पर सीधे जाने के लिए व्यक्ति इस लिंक http://jansunwai.up.nic.in/feedbacknew.aspx पर क्लिक करके सीधे उस पेज पर पहुच सकता है. इस पेज पर व्यक्ति को अपनी शिकायत का नंबर, मोबाइल नंबर आदि दर्ज करवाने होंगे और फिर वह यहा अपनी प्रतिक्रिया दर्ज करवा सकता है.

इस तरह के पोर्टल विभिन्न राज्यों द्वारा लांच किये जा रहें है. इनके द्वारा भ्रष्टाचार और अन्य समस्याओं से निजात पाना काफी हद तक संभव है. आशा करते है की सरकार को इन प्रयासो और इसके पीछे उनके उद्देश्य में उन्हें सफलता मिले.

उत्तर प्रदेश राज्य सरकार अपने इस ऑनलाइन पोर्टल के जरिए प्रवासी मजदूरों को पंजीकरण करने की सुविधा को मुहैया करवाती है। कोरोना वायरस वजह से लगे हुए लॉकडाउन के दौरान संपूर्ण देश भर में अन्य राज्यों में जाकर काम करने वाले श्रमिक मजदूर दूसरे राज्यों में लॉकडाउन की वजह से फंस गए थे।इतना ही नहीं उत्तर प्रदेश में आकर काम करने वाले मजदूर उत्तर प्रदेश राज्य में फस गए थे और वे अपने राज्य वापस लौटना चाहते थे, ऐसे में उत्तर प्रदेश राज्य सरकार ने मजदूरों की सुविधा के लिए जनसुनवाई पोर्टल की शुरुआत की थी। आज के इस महत्वपूर्ण लेख में हम आप सभी लोगों को उत्तर प्रदेश जनसुनवाई पोर्टल में कैसे पंजीकरण करें, इस विषय पर विस्तार से जानकारी देंगे, तो आप इसे अंतिम तक अवश्य पढ़ें।



जनसुनवाई पोर्टल क्या है



उत्तर प्रदेश राज्य में राज्य की सरकार ने कोरोना वायरस की वजह से लगे हुए लॉकडाउन में फंसे हुए लोगों को उत्तर प्रदेश में आने और प्रदेश से बाहर जाने जाने के लिए अनुमति को प्राप्त करने के लिए जनसुनवाई नामक एक पोर्टल का प्रारंभ किया गया था।जनसुनवाई पोर्टल पर सरकार ने पंजीकरण की प्रक्रिया को 5 मई वर्ष 2020 से ही प्रारंभ कर दिया है। सरकार ने होटल के बारे में जानकारी देते हुए कहा है, कि इस पोर्टल पर केवल पंजीकरण करने पर आपको यात्रा की अनुमति नहीं दी जा सकती अपितु आपको पंजीकरण करने के पश्चात सक्षम स्तर से जब यात्रा की अनुमति प्रदान की जाएगी, तब आपको इसकी सूचना जनसुनवाई पोर्टल के अधिकारी एंड्राइड ऐप पर आपको प्राप्त हो जाएगी।

उत्तर प्रदेश जनसुनवाई स्टैट्स

Received references24990197
Pending references381241
Disposed references24608635

जनसुनवाई पोर्टल पर स्वीकार ना किए जाने वाली कौन-कौन सी शिकायतें हैं

कुछ ऐसी शिकायतें हैं, जो जनसुनवाई पोर्टल पर करने पर उनकी सुनवाई नहीं की जाएगी। तो चलिए जानते हैं, कि उत्तर प्रदेश जनसुनवाई पोर्टल पर कौन-कौन सी शिकायतें अस्वीकार कर दी जाती है।

  • सूचना से संबंधित सभी प्रकार के मामले को अस्वीकार किया जाता है।

  • मुख्य न्यायालय में विचाराधीन प्रकरण को अस्वीकृत किया जाता है।

  • सुझाव संबंधित प्रतिक्रियाएं जनसुनवाई पोर्टल पर अस्वीकृत की जाती हैं।

  • आर्थिक सहायता मांगने या फिर नौकरी संबंधित मांग को यहां पर दर्ज नहीं किया जा सकता है।

  • सरकारी सेवकों के सेवा संबंधित प्रकरण की यहां पर सुनवाई नहीं की जाती है।

उत्तर प्रदेश जनसुनवाई पोर्टल पर शिकायत का जल्दी निवारण ना होने पर क्या करें

यदि आपने उत्तर प्रदेश के जनसुनवाई पोर्टल पर या एप्लीकेशन में अपनी शिकायत दर्ज की है और आपकी शिकायत पर शीघ्र किसी भी प्रकार की कार्यवाही नहीं की जा रही है, तो ऐसे में आप नीचे बताए गए तरीकों का अनुसरण करें और अपनी समस्या का समाधान प्राप्त करें।

  • यदि आपकी शिकायत का निवारण उत्तर प्रदेश जनसुनवाई पोर्टल पर नहीं किया जा रहा है, तो ऐसे में आप सीधे प्रदेश के मुख्यमंत्री को अनुस्मारक जाने की रिमाइंडर मैसेज भेज सकते हैं।

  • इसके लिए आपको जनसुनवाई पोर्टल की अधिकारी वेबसाइट या फिर मोबाइल एप्लीकेशन को ओपन करना होगा।

  • आधिकारिक वेबसाइट या फिर एंड्राइड एप्लीकेशन को ओपन करने के बाद आपको यहां पर एक “सेंड रिमाइंडर” नामक विकल्प दिखाई देगा और आपको इसी विकल्प पर क्लिक करना होगा।

  • अब आगे आपके सामने एक फॉर्म खोल कर आएगा और आप फॉर्म में पूछी जा रही जानकारियों को एक-एक करके बड़े ही ध्यान पूर्वक से भरे।

  • अब अपने फॉर्म को एक बार चेक कर के अंतिम में इसे अनुस्मारक जाने की रिमाइंडर बटन पर क्लिक करके अपने शिकायत के रिमाइंडर मैसेज को सीधे मुख्यमंत्री को भेजें।

उत्तर प्रदेश राज्य से अन्य राज्य में जाने हेतु प्रवासी पंजीकरण करने की प्रक्रिया



अगर आप उत्तर प्रदेश राज्य से किसी अन्य राज्य में जाना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको अपना पंजीकरण करना होगा और इसके लिए पंजीकरण की प्रक्रिया भी अलग है और इसकी जानकारी नीचे निम्नलिखित हैं।

  • सबसे पहले आपको जनसुनवाई पोर्टल के अधिकारी वेबसाइट पर जाना है और इसके होम पेज को ओपन कर लेना है।

  • अब आपको आधिकारिक वेबसाइट के होम पेज पर “प्रवासी पंजीकरण” नामक एक विकल्प दिखाई देगा और आपको इसी विकल्प पर क्लिक करना होगा।

  • अब आपके साथ अब आपके सामने एक नया पेज खुलेगा और यहां पर आपको आवेदन फॉर्म में कुछ आवश्यक पूछी जा रही जानकारियों को एक-एक करके भरना होगा।

  • जानकारियों को भरने के बाद आपको “ओटीपी भेजें” नामक एक विकल्प दिखाई देगा और आपको इसी विकल्प पर क्लिक करना है।

  • अब आपको ओटीपी वेरीफाई करना है और फिर इतना करने के बाद आपके सामने पंजीकरण करने का आवेदन फॉर्म खुलकर आएगा।

  • इस पंजीकरण फॉर्म में आपको कुछ आवश्यक जानकारियां भरनी होंगी, जैसे कि आपका नाम आपका पता और आपकी कुछ आवश्यक जानकारियां।

  • सभी जानकारियों को दर्ज करने के पश्चात आपको अंतिम में अपने आवेदन फॉर्म को “सबमिट” बटन पर क्लिक करके सबमिट कर देना है और इस प्रकार से आपका पंजीकरण पूर्ण हो जाता है।

अन्य राज्य से उत्तर प्रदेश राज्य में आने के लिए प्रवासी पंजीकरण करने की प्रक्रिया

अगर आप किसी अन्य राज्य में रह रहे थे और वापस अपने उत्तर प्रदेश राज्य में लौटना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको अलग से पंजीकरण करना होगा और इसकी प्रक्रिया इस प्रकार से नीचे निम्नलिखित है।

  • सर्वप्रथम अन्य राज्य से अपने उत्तर प्रदेश राज्य में लौटने के लिए आपको जनसुनवाई पोर्टल के अधिकारी वेबसाइट पर जाना है और इसके होम पेज को ओपन कर लेना है।

  • अब आधिकारिक वेबसाइट पर आपको “प्रवासी पंजीकरण” नामक एक विकल्प दिखाई देगा और आपको इसी विकल्प पर क्लिक कर देना है।

  • अब आपके सामने एक नया पेज खुलेगा और यहां पर आपको कुछ आवश्यक और साधारण जानकारियां दर्ज करनी होगी।

  • जानकारियों को दर्ज करने के बाद आपको यहां पर अंतिम में कैप्चा कोड दर्ज करना होगा और फिर “ओटीपी भेजें” नामक विकल्प पर क्लिक करना होगा।

  • अब ओटीपी वेरीफाई करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुलेगा और यहां पर आपको अपने राज्य में वापस लौटने हेतु आवेदन फॉर्म दिखाई देगा और आपको इस आवेदन फॉर्म में एक-एक करके पूछी जा रही जानकारियों को बड़े ही ध्यान पूर्वक तरीके से भरना होगा।
  • जानकारियों को भरने के बाद एक बार अपने द्वारा दर्ज की गई जानकारियों की पुष्टि करें और फिर अंतिम में “सबमिट” बटन पर क्लिक करके अपने आवेदन फॉर्म को सबमिट कर दे।
  • इस प्रकार से आप का पंजीकरण पूर्ण हो जाता है और आप अपने उत्तर प्रदेश राज्य में स्वीकृति मिलने पर वापस लौट सकते हैं।


उत्तर प्रदेश जनसुनवाई पोर्टल के माध्यम से आप अपना पंजीकरण पूरा करके उत्तर प्रदेश राज्य से अन्य राज्य में वापस लौट सकते हैं और अन्य राज्य से अपने उत्तर प्रदेश राज्य में वापस आ सकते हैं। उत्तर प्रदेश सरकार की तरफ से इस विषम परिस्थिति में प्रवासी मजदूरों को काफी ज्यादा इस पोर्टल के लांच हो जाने से सहायता प्राप्त हुई ह

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *