[फॉर्म] जिला उद्योग केंद्र से लोन कैसे प्राप्त करें? 2019 | Jila Udyog Kendra Loan Scheme Detail in Hindi 2019

जिला उद्योग केंद्र से लोन कैसे प्राप्त करें? योजना की जानकारी 2019-20 [ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन फॉर्म] (Jila Udyog Kendra Loan Scheme Detail in Hindi) [Online Application Form, Eligibility Criteria]

लगातार बढ़ रही आबादी के चलते देश में बेरोजगारी की समस्या बहुत अधिक हो गई है. सरकार द्वारा भी काफी प्रयास किये जा रहे हैं कि देश के सभी बेरोजगार नागरिकों के पास रोजगार हो. इसके लिए सरकार ने लोगों को उनके रोजगार में मदद करने के लिए लोन की सुविधा देने की एक योजना बनाई है, ताकि वे लोन लेकर खुद का व्यवसाय शुरू कर सकें, या अपने व्यवसाय को बेहतर बना सके. इस योजना के बारे में जानकारी आपको हमारे इस लेख में मिल जाएगी.   

Jila Udyog Kendra Loan scheme

जिला उद्योग केंद्र लोन स्कीम के लांच की जानकारी (Jilla Udyog Kendra Loan Scheme Launched Details)

क्र.म.योजना की जानकारी बिंदुयोजना की जानकारी
1.योजना का नामजिला उद्योग केंद्र लोन योजना
2.योजना का लांचसन 2017
3.योजना की शुरूआतकेंद्र सरकार द्वारा
4.योजना का प्रकारलोन योजना
5.संबंधित मंत्रालयसूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्रालय 
6.अधिकारिक वेबसाइटhttps://udyogaadhaar.gov.in/

 

जिला उद्योग केंद्र लोन योजना का उद्देश्य एवं विशेषताएं (Jilla Udyog Kendra Loan Scheme Objective and Features)

  • योजना का उद्देश्य :- इस योजना का मुख्य उद्देश्य हैं बेरोजगार युवाओं को रोजगार दिलवाना एवं उनके व्यवसाय में उनकी मदद करना. ताकि देश में लगातार बढ़ती बेरोजगारी की समस्या दूर हो सके.
  • ऑनलाइन प्रक्रिया से आवेदन :- इस योजना में लोन के लिए आवेदन करने के लिए आवेदक कही जाये बिना घर पर ही ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं. इसमें बेहतर ऑनलाइन सुविधा प्रदान की गई है.
  • योजना के लाभार्थी :- इस योजना के तहत उन लोगों को लोन प्रदान किया जायेगा जोकि आर्थिक रूप से कमजोर हैं और खुद का व्यवसाय शुरू करने के बारे में सोच रहे हैं या अपने व्यवसाय को बढ़ाने के बारे में सोच रहे हैं.
  • योजना में दी जाने वाली लोन की राशि :- इस लोन योजना में लाभार्थियों को 10 से लेकर 25 लाख रूपये तक का लोन प्राप्त हो सकता है, जिसमें 25 लाख रूपये तक का लोन मैन्युफैक्चरिंग क्षेत्र के लिए एवं 10 लाख रूपये तक का लोन व्यापारी क्षेत्र के लिए निर्धारित है. इसका इस्तेमाल वे केवल अपने रोजगार के लिए ही कर सकते हैं.
  • लोन चुकाने के लिए :- जब भी बैंक से लोन लिया जाता है तो कुछ ब्याज के साथ उसे बैंक को लौटना भी पड़ता है. अतः इस योजना के तहत लोन लेने के बाद आवेदको को 7 साल की अवधि में लोन चुकाना होगा और साथ ही इसमें उन्हें केवल 4 % ब्याज चुकाना होगा.

जिला उद्योग केंद्र लोन योजना के लाभ (Jilla Udyog Kendra Loan Scheme Benefits)

  • बेरोजगार युवाओं को प्रोत्साहन :- इस लोन योजना से देश के जितने भी बेरोजगार युवा हैं उन्हें रोजगार मिल सकता है. क्योंकि इस योजना में दिए जाने वाले लोन से कुछ लोग अपना खुद का व्यवसाय स्थापित करेंगे और अपने व्यवसाय में वे दूसरे बेरोजगारों को कर्मचारी के रूप में भी रखेंगे, इससे सभी बेरोजगारों को प्रोत्साहन के साथ ही रोजगार मिल सकता है.
  • स्वरोजगार को बढ़ावा :- केंद्र सरकार ने इस योजना को इसलिए भी शुरू किया हैं ताकि देश में स्वयं के रोजगार उत्पन्न हो, ताकि किसी को किसी पर निर्भर न होने पड़े. और देश में स्वरोजगार को बढ़ावा मिल सकें.
  • उद्योग क्षेत्र को बढ़ावा :- इस योजना में सभी तरह के उद्योगों को शामिल किया गया है चाहे वह सूक्ष्म हो, लघु हो या मध्यम हो. अतः इन उद्योगों को शुरू करने वालों की संख्या में वृद्धि होने से उद्योग के क्षेत्र का विकास होगा और साथ ही उसे बढ़ावा भी मिलेगा.
  • ग्रामीण एवं हस्तशिल्प संबंधी उद्योगों का विकास :- इस लोन योजना के तहत मिलने वाले लोन से लोग घर पर हस्तशिल्प से संबंधित व्यवसाय भी शुरू कर सकते हैं एवं ग्रामीण क्षेत्र में भी कई सारे व्यवसाय शुरू किये जा सकते हैं. जिससे इस तरह के उद्योगों का विकास होगा.
  • नये उद्योगों की पहचान :- जब लोग लोन लेने के लिए नये – नये उद्योगों को लायेंगे तो इससे नये उद्योगों की पहचान भी होगी.
  • समय की बचत :- जब आप कोई नया व्यवसाय शुरू करते हैं तो उसमे कुछ प्रयासों जैसे अनुमति लेना, लाइसेंस, रजिस्ट्रेशन और सब्सिडी लेना आदि में बहुत समय लगता है किन्तु जब आप लोन योजना के तहत लोन के लिए आवेदन करेंगे तो उसके साथ में ही आपके ये काम भी हो जायेंगे, जिससे आपके समय की बचत होगी.

जिला उद्योग केंद्र लोन लेने के लिए पात्रता मापदंड (Jilla Udyog Kendra Loan Scheme Eligibility Criteria)

  • आयु सीमा :- जब भी आप लोन के लिए आवेदन करते हैं तो सबसे पहले यह जरूरी होता है कि आपकी आयु कितनी हैं. क्योंकि लोन चाहे कोई भी हो इसके लिए आवेदन 18 साल की उम्र के ऊपर के लोग ही कर सकते हैं. इसके लिए आवेदन करने
  • शिक्षा :- किसी भी उद्योग को शुरू करने में यह जरूरी होता हैं कि उद्योग शुरू करने वाला व्यक्ति शिक्षित हो. इसलिए उद्योग शुरू करने के लिए लोन लेने के लिए यह निश्चय किया गया है कि लोन लेने वाला वह व्यक्ति आवेदन कर सकता है जोकि कम से कम 8 वीं पास हो.
  • बीपीएल कार्डधारक :- चूकिं पैसों की कमी के कारण ही लोग रोजगार शुरू नहीं कर पाते हैं, और यह अधिकतर गरीब लोगों में होता है. अतः जिसके पास बीपीएल कार्ड हैं वे लोग इस योजना के लिए आवेदन कर लोन प्राप्त कर सकते हैं. किन्तु इसके लिए यह भी आवश्यक है कि आवेदक इससे संबंधित किसी अन्य योजना का लाभार्थी न हो.
  • उद्योग क्षेत्र :- आप केवल उद्योग बोर्ड, गाँव उद्योग बोर्ड, हस्तशिल्प, हैण्डलूम, रेशम और कॉयर उद्योग आदि के अंतर्गत आने वाले व्यापार एवं मैन्युफैक्चरिंग व्यवसाय शुरु कर सकते हैं.   

जिला उद्योग केंद्र लोन के लिए आवेदन देते समय लगने वाले आवश्यक दस्तावेज (Required Documents for Jilla Udyog Kendra Loan Scheme)

  • आधार कार्ड :- आपका व्यवसाय शुरू करने से पहले आपको अपने व्यवसाय को उद्योग आधार के अंतर्गत रजिस्टर करना आवश्यक हैं, इसमें आपको आधार कार्ड की जरुरत पड़ेगी इसलिए यह होना आवश्यक है.
  • पैन कार्ड :- जब भी आप अपने व्यवसाय से संबंधित लोन लेते हैं या बैंक में खाता खुलवाते हैं तो इसके लिए आपको पैन कार्ड की आवश्यकता होती है. अतः लोन के लिए आवेदन करते समय यह दस्तावेज भी लगाना होगा.
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो :- लोन के लिए आवेदन करने के लिए आवेदन फॉर्म में लगाने के लिए आपके पास पासपोर्ट साइज़ की फोटो होना भी आवश्यक है.
  • आवास प्रमाण पत्र :- केंद्र सरकार द्वारा जिस भी योजना की शुरुआत की जाती है वह केवल देश के निवासियों के लिए होती हैं, इसलिए आवश्यक है कि इस योजना का लाभ उठाने के लिए आवेदक के पास उनका आवासीय प्रमाण पत्र हो.
  • बैंक पासबुक :- बैंक से लोन केवल उन्हें दिया जाता है जिनका बैंक में खाता होता है इसलिए आवेदकों को यह साबित करने के लिए कि उनका बैंक में खाता है उनके पास बैंक पासबुक होना अनिवार्य है.
  • प्रोजेक्ट रिपोर्ट :- यदि आप किसी व्यवसाय को शुरू करने के लिए लोन ले रहे हैं, तो आपको अपने व्यवसाय की एक प्रोजेक्ट रिपोर्ट बना कर बैंक में दिखानी होगी. तभी आपको इसके लिए लोन दिया जा सकता है.

नोट :- चूकिं यहाँ आवेदन करने की प्रक्रिया ऑनलाइन रखी गई है इसलिए आवश्यक है कि आवेदक के पास उनके सभी दस्तावेजों की सॉफ्ट कॉपी हो, ताकि जब वे ऑनलाइन आवेदन फॉर्म भरें तो उन्हें इससे सम्बंधित कोई परेशानी न हो.

जिला उद्योग केंद्र लोन के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया (Jilla Udyog Kendra Loan Scheme Application Process)

  • यदि आप अपने व्यवसाय के लिए इस योजना के अंतर्गत लोन लेना चाहते हैं, तो आप सबसे पहले उद्योग आधार की अधिकारिक वेबसाइट https://udyogaadhaar.gov.in/UA/UAM_Registration.aspx पर जायें.
  • इस वेबसाइट के होम पेज में पहुंचने के बाद यहां आपको आपना आधार कार्ड नंबर और साथ में आपको अपना नाम इंटर करना होगा. इसके बाद ‘जनरेट ओटीपी’ बटन पर क्लिक करें.
  • इससे आपके उस मोबाइल नंबर पर एक एसएमएस आयेगा जोकि आपके यूनिक आइडेंटिटी कार्ड से लिंक होगा, यह एक ओटीपी नंबर होगा. इस ओटीपी नंबर को आप यहाँ टाइप करें और फिर ‘वैलिडेट’ बटन कर क्लिक कर दें.
  • जब आप यह कर लेंगे तब आपके स्क्रीन पर एक आवेदन फॉर्म शो होगा, उसमें पूछी जाने वाली सभी जानकारी आपकी स्वयं की, आपके व्यवसाय की, आपके बैंक खाते से संबंधित एवं इसी तरह की अन्य जानकारी होगी, जिसे आपको सही से भरना होगा.
  • यह सब कर लेने के बाद आप अंत में फॉर्म को जमा कर दें इसके लिए आपको नीचे एक ‘सबमिट’ बटन दिखाई देगी. और उसी के नीचे फॉर्म में आपके जिले के उद्योग केंद्र का नाम दिया हुआ होगा, जहाँ से आपको लोन मिलेगा. आप वहां जाकर भी संपर्क कर इससे सम्बंधित जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.
  • अब आपको नीचे एक एकनॉलेजमेंट नंबर के साथ एक रिसिप्ट शो होगी. उसका अप प्रिंट निकाल लें, जिसक उपयोग बाद में हो सकता है. इस तरह आपका लोन के लिए आवेदन हो जायेगा.

अतः जब आप अपने रोजगार को शुरू करने के लिए लोन के लिए आवेदन कर देते हैं तो इसके कुछ समय बाद आपको यह लोन प्राप्त हो जाता है. और लोन प्राप्त कर लेने के बाद आप अपना व्यवसाय आसानी से शुरू कर सकते हैं. जब आपका व्यवसाय अच्छी तरह से व्यवस्थित हो जायें, इसके बाद आप लोन के पैसे भी चूका सकते हैं.

Other links –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *