कृषि उपकरण सब्सिडी योजना : कृषि यंत्रों पर सरकार दे रही है 60 हजार तक की सब्सिडी, सूचि जारी, चेक करें अपना नाम

आधुनिक खेती ने देश के किसानों को एक नया दर्जा दिया है, इसकी मदद से किसानों को बहुत फायदा होता है. लेकिन इस तकनीक से कार्य करने के लिए किसानों को ट्रेक्टर और उसके द्वारा चलने वाले विशेष यंत्रों की आवश्कता होती है. इन यंत्रों के द्वारा किसानों का काम बहुत आसान हो जाता है, बुआई से लेकर कटाई तक इन यत्रों के द्वारा काम मिनटों में और कम मेहनत के द्वारा हो जाता है. लेकिन इन यंत्रों को खरीदना हर किसी किसान के बस की बात नहीं होती है. इसलिए सरकार समय समय पर किसानों को इन यत्रों को खरीदने के लिए सब्सिडी योजना की मुहीम चलाती है. सरकार इसके लिए किसानों से ऑनलाइन आवेदन करने की मांग करती है, ताकि समय रहते ज्यादा से ज्यादा इसके लिए आवेदन कर लाभ प्राप्त कर सकें.

kisan-krishi-yantra-anudan-subsidy-mp-check-list-name

सरकार दे रही है कृषि उपकरणों पर 60,000 तक की सब्सिडी, अंतिम तिथि के पहले आवेदन करने के लिए यहाँ क्लिक करें.

पहले सरकार ने इस योजना के अंतर्गत किसान के चुनाव प्रक्रिया को पहले आओ पहले पाओ की तर्ज पर रखा था. इससे बहुत कम किसान लाभान्वित होते थे, और कहीं कहीं इसमें कुछ गड़बड़ी भी सुनने मिलती थी. इसी सब के चलते सरकार ने इस प्रक्रिया के नियम को अब बदल दिया है. एमपी सरकार ने अब कृषि एवं सिंचाई यंत्र में सब्सिडी प्राप्त करने के लिए लौटरी सिस्टम शुरू कर दिया है. चलिए जानते है लौटरी के द्वारा चुनाव कैसे होगा, आप अपना नाम कहाँ और कैसे चेक करें.

किसानों को कृषि यंत्र की सब्सिडी कैसे मिलती है – (आवेदन एवं चयन प्रक्रिया)

  • सरकार ने कृषि यंत्र में अनुदान के लिए किसानों से 13 जून से 22 जून तक आवेदन मांगे थे. जिसे बढ़ा कर 26 कर दिया गया था. सरकार ने पहले आप पहले पाओ प्रक्रिया को भी समाप्त कर दिया, जिसके चलते सभी किसान जिन्होंने 13 से 26 जून के बीच आवेदन किया है, उनके फॉर्म को एक सामान दर्जा ही मिलेगा.
  • सरकार ने आवेदन प्रक्रिया पूरी होने के बाद कंप्यूटर में लोटरी सिस्टम के द्वारा किसानो के नाम निकाले, और उसके आधार पर एक सूचि तैयार की. सरकार ने लोटरी निकालने के लिए भी कंप्यूटर का उपयोग किया है, ताकि बीच में कोई भी व्यक्ति के द्वारा यह कार्य न हो, और किसी भी तरह के भ्रष्टाचार की कोई संभावना न हो.
  • अलग-अलग कृषि यंत्रों के लिए अलग-2 किसानों की सूचियाँ तैयार हुई है. जिस किसान का नाम लिस्ट में उसे वही यंत्र की सब्सिडी दी जाएगी, जिसके लिए उसने आवेदन किया था.

एमपी ई – उपार्जन रबी 2020 पंजीयन की जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे.

लॉटरी के माध्यम से चयनित किसानों की सूचि जारी –

26 जून को आवेदन प्रक्रिया पूरी होने के बाद सरकार ने 27 जून किसानों की ऑनलाइन सूचि जारी कर दी है. सभी यंत्रों के लिए अलग-अलग सूचि जारी हुई है. जिस सूचि में जिस किसान का नाम है उसे उसी यंत्र की सब्सिडी सरकार देगी.

आवश्यक दस्तावेज –

  • बैंक पास बुक फोटोकॉपी
  • आधार कार्ड
  • जाति प्रमाण पत्र
  • भूमि के लिए B – 1

कृषि यंत्रों की लिस्ट जिसके लिए किसान आवेदन कर सकते है –

  • पावर वीडर
  • लेजर लेंड लेवलर
  • पावर टिलर – 8 बी.एच.पी. से अधिक
  • क्लीनर – कम – ग्रेडर /मिनी दाल मिल
  • सीड कम फर्टिलाइजर ड्रिल /जीरो टिल सीड कम फर्टिलाइजर ड्रिल
  • रेज्ड बेड प्लान्टर/रिजफर्रो प्लान्टर/मॉल्टीक्रॉप प्लान्टर/रेज्ड बेड प्लांटर विथ इन्कलाइंड प्लेट एंड शेपर
  • रोटावेटर
  • सीड ड्रिल
  • पॉवर स्प्रेएर

इस लिस्ट में सभी वर्ग के किसान आवेदन कर सकते है, चाहे वो अनुसूचित जाति, जनजाति, पिछड़ा वर्ग या सामान्य वर्ग का है.

किसान 30 जून से पहले करा लें रजिस्ट्रेशन तो मिलेंगे 4000 रुपये, जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें.

अनुसूचित जाती एवं अनुसूचित जनजाति वर्ग के कृषिकों हेतु

ये दो समुदाय के लोग कृषि यंत्र के साथ साथ ट्रेक्टर सब्सिडी योजना के लिए भी आवेदन कर सकते है.

कृषि यंत्र सब्सिडी हेतु चयनित किसान लिस्ट कैसे देखें ?

  • कृषि यंत्र सब्सिडी लिस्ट में अपना नाम चेक करने के लिए आपको सबसे पहले कृषि अभियांत्रिकी के कृषियंत्र अनुदान पोर्टल में जाना होगा.
  • यहाँ आपको तीन विकल्प दिखाई देंगें, आपको कृषि अभियांत्रिकी के कृषि यंत्र आवेदन करें क्लिक करना है. जिसके बाद एक नया पेज खुल जायेगा.
  • यहाँ आपको 4 विकल्प दिखाई देंगें – पंजीकृत आवेदकों की स्थति, आवेदन फॉर्म की वर्तमान स्थति, अनुदान प्राप्त करने की शर्त एवं यंत्र सामग्री की लक्ष्य. यहाँ आप पंजीकृत आवेदकों की स्थति पर क्लिक करें.
  • पंजीकृत कृषक एक फॉर्म खुलेगा, जहाँ आपको अपनी कुछ जानकारी भरनी होगी. सभी जानकारी देने के बाद आप खोजें पर क्लिक करें. जिसके बाद एक सूचि खुल जाएगी, जिस पर आप अपना नाम चेक कर सकते है.

किसानों को अगर और अधिक जानकारी चाहिये तो वो अपने जिला कृषि विभाग में संपर्क कर सकते है. सरकार ने एक यंत्र के लिए एक से अधिक किसानों किसानों की सूचि तैयार की है. अगर किसी कारणवश लिस्ट में उपर नाम वाले किसान को वो यंत्र नहीं चाहिए तो नीचे दिए किसानों को यह मौका दिया जायेगा. लेकिन ये तभी होगा जब उपर नाम वाले किसान उस यंत्र को लेने से मना कर देता है.

अन्य पढ़ें –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *