मधुर गुड़ योजना छत्तीसगढ़ 2021 |Madhur Gud Yojana Chhattisgarh in Hindi

मधुर गुड़ योजना छत्तीसगढ़ 2020 – कुपोषण के खिलाफ अभियान (सब्सिडी रेट में मिलेगा गुड़, कैसे मिलेगा लाभ, पात्रता) (Madhur Gud Yojana Chhattisgarh in Hindi)

आप सभी ये तो जानते होंगे कि छत्तीसगढ़ में हमेशा से ही नक्सलवाद एक बहुत बड़ी समस्या रही है, जिसे ख़त्म करने के लिए सरकार काफी प्रयत्न भी करती हैं. लेकिन हम आपको बता दें कि छत्तीसगढ़ में इससे भी बड़ी एक और समस्या हैं जोकि कुपोषण एवं एनीमिया के शिकार हुए बच्चे एवं महिलाएं हैं. जी हाँ छत्तीसगढ़ में लगभग 37 प्रतिशत बच्चे ऐसे हैं जोकि कुपोषित है. और 42 प्रतिशत महिलाएं ऐसी हैं जोकि एनीमिया से पीढित हैं. इसी समस्या को खत्म करने के लिए छत्तीसगढ़ राज्य सरकार द्वारा ‘मधुर गुड़ योजना’ शुरू की गई है. इस योजना के माध्यम से सरकार लोगों में होने वाली विटामिन सी और आयरन की कमी को दूर करना चाहती है. इस योजना के बारे में और विस्तार से जानने के लिए नीचे लेख को पूरा पढ़ें.

Madhur Gur Yojana Chhattisgarh in hindi

लांच की जानकारी

योजना का नाममधुर गुड़ योजना
राज्यछत्तीसगढ़
लांच की तारीखजनवरी, 2020
लांच की गईछत्तीसगढ़ के खाद्य मंत्री अमरजीत भगत जी द्वारा
बजट50 करोड़ प्रतिवर्ष
सम्बंधित विभागराज्य का खाद्य एवं स्वास्थ्य मंत्रालय
लाभार्थीकुपोषित एवं अनीमिया के शिकार बच्चे एवं महिलाएं
लाभ2 किलों गुड़ 

छत्तीसगढ़ रोजगार मेला में पंजीयन करवाने के लिए यहाँ क्लिक करें

मधुर गुड़ योजना छत्तीसगढ़ की विशेषताएं एवं लाभ

  • कुपोषण से मुक्ति :- छत्तीसगढ़ में कुपोषित बच्चों की बढ़ती संख्या सरकार की एक बहुत बड़ी चिंता का विषय बनी हुई हैं. इसलिए इस योजना को शुरू कर सरकार बच्चों को सुपोषित करना चाहती है.
  • महिलाओं को भी पोषण :- छत्तीसगढ़ राज्य में कई महिलाएं ऐसी हैं जिन्हें पोषण युक्त भोजन प्रदान नहीं होता है. और इसके कारण वे अनीमिया जैसी बीमारी से पीढित हो जाती है. इसलिए यह योजना महिलाओं को भी सुपोषित बनाने के लिए है.
  • कवर किया जाने वाला क्षेत्र :- इस योजना को अभी छत्तीसगढ़ के बस्तर संभाग में शुरू किया जा रहा है. इसके बाद इसे पूरे राज्य में फैलाया जायेगा.
  • कुल लाभार्थी :- इस योजना में छत्तीसगढ़ के बस्तर संभाग से सम्बन्ध रखने वाले 6 लाख गरीबों, कुपोषित एवं एनीमिया से पीढित बच्चों एवं महिलाओं को लाभ पहुँचाया जायेगा.
  • परिवार एवं समाज में मजबूती :- इस योजना में मिलने वाले लाभ से बच्चे एवं महिलाएं सुपोषित होंगी. जिससे परिवार और साथ ही समाज मजबूत बनेगा. और इससे छत्तीसगढ़ की यह सबसे बड़ी समस्या भी हल हो सकती है.
  • विटामिन सी एवं आयरन में वृद्धि :- इस योजना के लाभार्थियों को किफायती दाम में गुड़ प्रदान किया जाना है, जिसके सेवन से लाभार्थियों में विटामिन सी एवं आयरन में वृद्धि होगी और वे सुपोषित हो सकेंगे.
  • योजना में मिलने वाली सुविधा :- इस योजना में लाभार्थियों को मात्र 17 रूपये में प्रतिमाह 2 किलो गुड़ प्रदान किया जायेगा. इसके लिए सरकार द्वारा बस्तर संभाग के क्षेत्र में 16 हजार टन गुड़ का वितरण किया जायेगा. इसके साथ ही उन्हें गर्म भोजन एवं पोषण युक्त आहार भी प्रदान किया जायेगा.
  • मलेरिया से भी मुक्ति :- इस योजना को शुरू कर सरकार कुपोषण एवं एनीमिया की समस्या को तो ख़त्म करेगी ही, साथ ही इससे लोगों में होने वाली मलेरिया जैसी बीमारी से भी मुक्ति दिलाये की बात कहीं गई है क्योकि लोगों में होने वाली खून की कमी एवं कुपोषण आदि की रोकथाम के लिए मलेरिया की रोकथाम बेहद आवश्यक है.
  • अन्य लाभ :- इस योजना का सबसे बड़ा लाभ यह भी है कि इससे शिशु मृत्यु दर और मातृ मृत्यु दर दोनों में ही कमी आयेगी. इसके अलावा आपको बता दें कि सरकार द्वारा स्कूल एवं आंगनबाड़ी के बच्चों के लिए अंडा भी उपलब्ध कराए जायेंगे, ताकि सभी बच्चों को पोषण की प्राप्ति हो और कोई भी कुपोषण से बीमार न हो सके.
  • गुड़ प्रदान करने वाला पहला राज्य :- इस तरह की योजना को अब तक किसी भी क्षेत्र में लागू नहीं किया गया है. यह पहला ऐसा राज्य और योजना है जिसमें गुड़ प्रदान किया जाना है.

छत्तीसगढ़ में मोबाइल चिकित्सा शुरू की गई है, बाजार में मिलेगा मुफ्त इलाज. अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

मधुर गुड़ योजना छत्तीसगढ़ में पात्रता मापदंड (Eligibility Criteria)

  • छत्तीसगढ़ का निवासी :- इस योजना में छत्तीसगढ़ राज्य की सीमा के अंदर आने वाले लोगों को सुपोषित होने का लाभ दिया जाना है. इसके अलावा कोई भी इस योजना का लाभ नहीं उठा पायेगा.
  • गरीब परिवार :- अक्सर देखा जाता हैं कि गरीब परिवार के बच्चों में ही कुपोषित होने की समस्या सबसे अधिक होती है. इसलिए इस योजना में भी गरीब परिवार से संबंध रखने वाले लोगों को लाभ प्रदान किया जायेगा.
  • कुपोषित परिवार :- इस योजना की पात्रता मापदंड में यह उल्लेख किया गया है कि जो बच्चे एवं महिलाओं में कुपोषण की समस्या हैं उन्हें ही इस योजना का लाभ मिलेगा.

मधुर गुड़ योजना छत्तीसगढ़ में आवश्यक दस्तावेज

  • मूल निवासी प्रमाण पत्र :- लाभार्थियों को इस योजना का लाभ लेने के लिए आवेदन के दौरान अपने छत्तीसगढ़ के निवासी होने का प्रमाण देना होगा.
  • बीपीएल कार्ड :- चुकी यह योजना गरीब परिवार के लोगों के लिए हैं, इसलिए यह आवश्यक हैं कि लाभार्थी अपना बीपीएल श्रेणी का कार्ड अपने साथ रखे.
  • पहचान प्रमाण पत्र :- लाभार्थियों को इस योजना का लाभ लेते समय वोटर आईडी कार्ड एवं आधार कार्ड जैसे कुछ जरूरी दस्तावेज अपने साथ रखने होंगे.

मधुर गुड़ योजना छत्तीसगढ़ के लिए आवेदन कैसे करें (How to Apply for Madhur Gud Yojana Chhattisgarh ?)

मधुर गुड़ योजना का लाभ लेने के लिए जनता को अपने करीबी राशन की दुकान की जाना होगा, वहां पर सरकार की तरफ से सब्सिडी रेट में उन्हें गुड दिया जायेगा.

Other links –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *