X

फसलों की न्युनतम बिक्री कीमत में उसकी लागत से 1.5 प्रतिशत की बढ़त (MSP For Kharif Crops To Be 1.5 Times Input Cost) 

फसलों की न्युनतम बिक्री कीमत में उसकी लागत से 1.5 प्रतिशत की बढ़त (MSP Minimum Support Price For Kharif Crops To Be 1.5 Times Input Cost)

इस साल बजट में किसानों को बढ़ावा देने के उद्देश्य से वित्त मंत्री अरुण जेटली जी ने खरीफ की फसलों की कीमत बढ़ाने का फैसला लिया है. आज के बजट सत्र के अनुसार सरकार ने फसलों की न्युनतम बिक्री कीमत उनकी लागत के हिसाब से 1.5 प्रतिशत बढ़ाने का निर्णय लिया है, जिससे किसानों को लाभ मिल सके.

इस योजना का क्रियान्वयन Implementation Details :

बजट के अनुसार नई कीमते देश में उपस्थित हर किसान के लिए मान्य होगी. सरकार द्वारा किसानों को दिया जाने वाला यह लाभ 2019 में होने वालें चुनाव को देखते हुए अच्छा कदम है.

मुख्य बिंदु Key Features :

  • अगर किसानों को मिलने वाली फसलों की कीमत में इजाफा होता है, तो इससे किसानों को लाभ होगा और उनकी हालत में भी सुधार होगा.
  • अगर किसानों को फसल की न्युनतम बिक्री कीमत उनकी लागत से 1.5 प्रतिशत अधीक होना चाहिये. अगर ऐसा नहीं होता है तो नुकसान की भरपाई सरकार द्वारा की जायेगी.
  • सरकार यह भी सुनिश्चित करेगी की किसान को किसी प्रकार का नुकसान ना हो, उसे अपनी फसल की न्युनतम बिक्री कीमत तो मिलना ही चाहिये.
  • इसके अलावा सरकार जैविक खेती को प्रोत्साहन देने के लिए राष्ट्रीय निति आयोग से भी बात करेगी, ताकि किसन इसका लाभ ले सके.

इस योजना के द्वारा सरकार का उद्देश्य यह है की किसान को उसकी कीमत का उचित मूल्य प्राप्त हो, ताकि वे कृषि के द्वारा वह अपनी पारिवारिक आय में वृध्दि कर सके.

कृषि विभाग और किसानों से जुड़ी अन्य खबरे :

  • आज के बजट के अनुसार कृषि बाजार विकास के लिए 2000 करोड़ का बजट पास किया है, इसके अतिरिक्त वित्त वर्ष 2018 -19 में वित्त मंत्रालय के लिए आवंटन पिछले वर्ष की तुलना में दोगुना 1400 करोड़ कर दिया गया है.
  • वित्त मंत्री ने यह भी कहा की कृषि के लिए ऑपरेशन ग्रीन लांच किया जायेगा और इसके लिए 500 करोड़ रूपए का बजट पास किया जायेगा.

Other Schemes –

Categories: Central
Tags: Farmers
Editor :