{फॉर्म} मुख्यमंत्री अत्यंत पिछड़ा वर्ग सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना बिहार | Mukhyamantri Atyant Pichhda Varg Civil Seva Protsahan Yojana Bihar in Hindi

मुख्यमंत्री अत्यंत पिछड़ा वर्ग सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना बिहार Mukhyamantri Atyant Pichhda Varg Civil Seva Protsahan Yojana Bihar in Hindi 2020 Application Form Process, Eligibility Criteria, Students List, Documents 

हमारे देश की केन्द्रीय सरकार द्वारा लगातार नई योजनायें शुरू की जा रही है जोकि अनुसूचित जाति और जनजाति के लोगों की वर्तमान स्थिति का विकास करने के लिए होती हैं. इसी के चलते बिहार राज्य द्वारा भी एक योजना की शुरुआत की गई है, जोकि इन लोगों को वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए हैं. इस योजना के तहत उन सभी उम्मीदवारों को वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी जोकि राज्य एवं केंद्र सरकार के प्राइमरी लेवल की परीक्षा में उत्तीर्ण आये हो और सभी अत्यंत पिछड़े वर्ग से सम्बन्ध रखते हो.

Mukhyamantri Atyant Pichhda Varg Civil Seva Protsahan Yojana

Table of Contents

मुख्यमंत्री सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना के लांच की जानकारी (Mukhyamantri Civil Seva Protsahan Yojana Launch Details)

इस योजना के लांच से जुड़ी कुछ जानकारी इस प्रकार है –

क्र. म.जानकारी बिंदु (Information Points)योजना की जानकारी (Information)
1.योजना का नाम (Scheme Name)मुख्यमंत्री अत्यंत पिछड़ा वर्ग सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना
2.योजना का लांच (Launched By)बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार द्वारा
3.योजना की देखरेख (Supervised By)बिहार के एसटी / एससी कल्याण विभाग
4.योजना का लक्ष्य (Target Beneficiary)5000 छात्र
5.योजना के लांच की तारीख (launch Date)16 मई, 2018

योजना का उद्देश्य (Mukhyamantri Civil Seva Protsahan Yojana Objectives)

इस योजना का मुख्य उद्देश्य पिछड़े वर्ग से संबंध रखने वाले छात्रों को उनकी उच्च शिक्षा के लिए प्रोत्साहित करना है, ताकि वे गरीबी रेखा से बाहर निकर सकें और अपने करियर विकल्पों पर ध्यान दे सकें. पूरे राज्य में कुल 33 अल्पसंख्यक कल्याण छात्रावास हॉस्टल हैं, जिसमें कुल 3,350 विद्यार्थी रहते हैं. वे इस योजना का लाभ उठा सकते हैं. सरकार द्वारा 11 और हॉस्टल के निर्माण करने का प्रावधान है ताकि यहाँ रहने वालों की संख्या बढ़कर 5000 हो जाये. और वे सभी इस योजना लाभ उठा पायें.

योजना की विशेषताएँ (Mukhyamantri Civil Seva Protsahan Yojana Features)

इस योजना का मुख्य लाभ यह है कि वे उम्मीदवार जो सरकारी परीक्षाओं को पास करने के योग्य हैं लेकिन अत्यंत ही गरीब और पिछड़े वर्ग से सम्बन्ध रखते हैं, उनकी वित्तीय आवश्यकताओं को पूरा किया जायेगा. इसकी कुछ विशेषताएँ निम्नानुसार हैं –

पिछड़े वर्ग का विकास और प्रोत्साहन :-

इस योजना के अनुसार, राज्य सरकार उन उम्मीदवारों को प्रोत्साहित करेगी, जो सरकारी एडमिनिस्ट्रेटिव सेक्टर की नौकरियों में शामिल होना चाहते हैं.

यूपीएससी और बीपीएससी उम्मीदवारों के लिए :-

इस योजना में उन उम्मीदवारों को शामिल किया गया है, जिन्होंने यूनियन पब्लिक सेवा आयोग एवं बिहार पब्लिक सेवा आयोग दोनों की प्रारंभिक लेवल की परीक्षाओं को सफलता पूर्वक पास किया हो.

उम्मीदवारों को मिलने वाली प्रोत्साहन राशि :-

इस योजना में वे सभी उम्मीदवार जिन्होंने यूपीएससी की प्राइमरी लेवल की परीक्षा उत्तीर्ण की है उन्हें 1 लाख रूपये की वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी. वहीँ यदि किसी उम्मीदवार ने बीपीएससी की प्राइमरी लेवल की परीक्षा उत्तीर्ण की है तो उन्हें 50,000 रूपये की वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी.

प्रोत्साहन राशि का भुगतान :

इस योजना के तहत दी जाने वाली प्रोत्साहन राशि सिंगल क़िस्त में ही दी जाएगी.

बैंक अकाउंट में ट्रान्सफर :

इस प्रोत्साहन राशि को लेने के लिए उम्मीदवार को किसी भी सरकारी दफ्तर के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे. यह राशि सीधे उम्मीदवार के बैंक अकाउंट में जमा कर दी जाएगी.

अन्य निर्णय :

कैबनेट द्वारा यह निर्णय लिया गया है कि छात्रावास में रहने वाले सभी ओबीसी और ईबीसी छात्र – छात्राओं को पढ़ाई के लिए 1000 रूपये प्रति माह प्रदान किये जायेंगे. इसके अलावा राज्य सरकार एसटी / एससी कल्याण विभाग, ओबीसी / ईबीसी कल्याण विभाग और अल्पसंख्यक मामलों के कल्याण विभाग द्वारा शुरू किये गए हॉस्टल में रहने वाले सभी छात्र – छात्राओं को बीपीएल दरों पर 15 किलो सब्सिडाइज्ड गेंहू और चांवल भी प्रदान करेगी.

योजना के लिए पात्रता मापदंड (Mukhyamantri Civil Seva Protsahan Yojana Eligibility)

  • इस योजना के लिए उन सभी उम्मीदवारों को पैसे दिए जायेंगे जो बिहार के रहने वाले हैं. यदि उम्मीदवारों के पास इसी राज्य में रहने का कोई प्रमाण नहीं है तो वे इसके लिए एप्लीकेबल नहीं हैं.
  • यह योजना विशेष रूप से एसटी / एससी उम्मीदवारों के भविष्य में सुधार के लिए लागू की गई है. इस योजना में जनरल केटेगरी के उम्मीदवारों को हिस्सा लेने की अनुमति नहीं दी गई है.
  • छात्रों के पास उनके खुद के नाम का एक वैलिड बैंक अकाउंट होना आवश्यक है, क्योकि योजना में दी जाने वाली राशि उनके बैंक अकाउंट में ही जमा की जाएगी.

योजना के लिए दस्तावेज (Mukhyamantri Civil Seva Protsahan Yojana Documents)

  • उम्मीदवार के बिहार का नागरिक होने के बाद भी उन्हें अपने पते का प्रमाण देना होगा, जोकि उनकी वैद्धता को दर्शायेगा.
  • सभी उम्मीदवार जो इस योजना के योग्य हैं उन्हें अपने पहचान दस्तावेज जमा करने होंगे, जिसमें उनकी जानकारी जैसे नाम, उम्र, पता, सेक्स और ऐसी ही कुछ जानकारी मेंशन होनी चाहिए.
  • इसके अलावा आवेदक के पास सबसे जरूरी दस्तावेज आधार कार्ड की फोटोकॉपी का होना भी बहुत जरुरी है. इसमें दिया गया कोड आवेदक की पहचान के लिए आवश्यक है.
  • आवेदक को यूपीएससी और बीपीएससी की प्राइमरी परीक्षा में उपयोग होने वाले एडमिट कार्ड की फोटोकॉपी भी जमा करना जरुरी है.
  • आवेदक द्वारा यूपीएससी या बीपीएससी परीक्षा के पहले चरण के प्राइमरी लेवल की परीक्षा पास कर लेने के बाद उनकी मार्कशीट की फोटोकॉपी भी उन्हें जमा करनी होगी.
  • यह योजना केवल अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति से सम्बन्ध रखने वाले छात्र – छात्राओं के विकास के लिए है इसलिए यह जरुरी है कि उम्मीदवार अपनी आय के प्रमाण पत्र की कॉपी जरुरी जमा करें.
  • इस योजना में मिलने वाली राशि बैंक अकाउंट में जमा होगी, इसलिए आवेदक को अपने बैंक अकाउंट की जानकारी आवेदन फॉर्म में प्रदर्शित करना बहुत जरुरी है.

योजना के लिए आवेदन प्रक्रिया (Mukhyamantri Civil Seva Protsahan Yojana Application Process)

  • यदि कोई इच्छुक उम्मीदवार इस योजना में रजिस्टर होना चाहता है तो उसे अपने आप को ऑनलाइन माध्यम से रजिस्टर करना होगा इसके लिए उन्हें सरकार की अधिकारिक वेबसाइट http://bcebcwelfare.bih.nic.in/ में विजिट करना होगा.
  • वेबसाइट में विजिट करने के बाद इसके फॉर्म को खोलना होगा, जिसमें आप अपनी पूरी जानकारी भर सकते हैं. साथ ही आपको इस फॉर्म के साथ दिए गए सभी दस्तावेजों को अटेच करके अपलोड भी करना होगा.
  • सभी जानकारी सावधानी पूर्वक भर लेने और दस्तावेजों को अटेच कर अपलोड कर लेने के बाद आपको फॉर्म सबमिट करना होगा. इसके लिए आप सबमिट बटन पर क्लिक करें.

योजना में छात्रों की सूची 2018 – 19 (Mukhyamantri Civil Seva Protsahan Yojana Students List 2018-19)

  • आवेदन की सारी प्रक्रिया पूरी हो जाने के बाद आप योजना में योग्य होने वाले छात्रों की सूची भी देख सकते हैं. इसके लिए भी आपको सरकार की अधिकारिक वेबसाइट http://bcebcwelfare.bih.nic.in/ पर विजिट करना होगा.
  • यह सूची देखने के लिए आपको सर्च बार के तहत ड्रॉप बॉक्स मेनू से वित्तीय साल का चयन करना होगा. और उसके बाद अपने जिले का चयन करना होगा.
  • इसके बाद आप सर्च रिकॉर्ड के विकल्प पर क्लिक करते ही सूची में आपका नाम है या नहीं देख सकते हैं.

योजना का बजट (Mukhyamantri Civil Seva Protsahan Yojana Budget

राज्य सरकार द्वारा यह निश्चित किया गया है कि इस छात्रवृत्ति योजना के लिए 32,54,70,000 से भी ज्यादा के बजट का आवंटन किया गया है, जोकि सिर्फ सराहनीय छात्रों को दिया जाना है. सभी छात्रों को 10,000 रूपये का छात्रवृत्ति अमाउंट दिया जायेगा.

बिहार राज्य सरकार द्वारा यह निश्चय किया गया है कि इस योजना में अत्यंत पिछड़े वर्ग के छात्रों को प्रोत्साहित किया जायेगा. ताकि वे अपने प्रयासों के लिए उन्हें मिलने वाली छात्रवृत्ति के साथ अपनी शिक्षा को पूरी कर सकें.  

Other Articles –

One comment

  1. rte form kab s open h information chaiy jaldi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *