X

मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना बिहार

मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना बिहार – Mukhyamantri (CM) Kanya Utthan Yojana in Bihar In Hindi

बिहार में हाल ही में महिला सशक्तिकरण, सामाजिक सशक्तिकरण और शिक्षा के क्षेत्र में सशक्तिकरण आदि मुद्दों पर एक बैठक आयोजित की गई. यह बैठक 29 अप्रैल 2018 को आयोजित की गई थी. इस बैठक में महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए कई फैसले लिये गए. इस बैठक में राज्य की कन्याओं के लिए अच्छे स्वास्थय, बेहतर शिक्षा, सामाजिक समानता, आत्मनिर्भरता आदि विषयों को ध्यान में रखते हुए मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना की घोषणा की गई.

इस योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य में कन्या मृत्यु दर को कम करने और कन्या जन्म को प्रोत्साहित करने के साथ साथ उन्हें सामाज में समानता का अधिकार दिलाना भी है. इसके अलावा इस योजना का एक अन्य उद्देश्य बालिका विवाह को बंद करना व कम उम्र में लडकियों को गर्भ धारण करने से रोकना भी है. प्रदेश के मुख्यमंत्री ने यह भी कहा है कि इस स्कीम के द्वारा हर परिवार की कन्या का जन्म से लेकर किशोरावस्था तक हर जरूरत का ध्यान रखा जायेगा.

इस योजना के संबंध में महत्वपूर्ण बातें Important things

योजना का नाममुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना
राज्यबिहार
लाभान्वितराज्य की लडकिया
योजना में दी जाने वाली कुल राशि54100
अलग-अलग समय दी जाने वाली राशि का विवरण 
कंडीशनराशिपात्रता
कन्या के जन्म पर5000परिवार की केवल 2 लडकियों के लिए
10th पास होने पर10000लड़की का अविवाहित होना आवश्यक
सैनेटरी नेपकिन के लिए300–     
स्नातक कम्पलीट करने पर25000–     

लांच डिटेल Launch Detail :

बिहार सरकार ने राज्य में मौजूद लडकियों के लिए एक नई योजना का शुभारंभ किया है. इसके अलावा सरकार ने यह भी स्पष्ट किया है की यह योजना अप्रैल 2018 से स्टार्ट की जाएगी. यह घोषणा चीफ सेक्रेटरी अंजनी कुमार द्वारा की गई है.

मुख्य बिंदु Key Features :

  • उद्देश्य : इस योजना के द्वारा सरकार कन्याओं को उनके जन्म से लेकर शिक्षा तक निश्चित समय अंतराल में इंसेंटिव प्रदान करेगी ताकि इस वजह से होने वाले बाल विवाह को टाला जा सके. और अगर किसी स्थिति में अगर कन्या का विवाह उसके 12th या इंटरमेडीएट के पहले कर दिया जाता है तो उसे इस स्थिति में इंसेंटिव की रकम 10,000 रुपय नहीं मिलेगी.
  • लाभान्वित : इस नई योजना के द्वारा राज्य में प्रतिवर्ष लगभग 1.60 करोड़ कन्याओं को लाभ दिया जायेगा. इस योजना को सफलता पूर्वक लागू करने के लिए सरकार को प्रत्येक लडकि के हिसाब से 60,000 का बजट तैयार कर लेना चाहियें.
  • यह 60,000 रुपय प्रत्येक लड़की पर वार्षिक रूप से शिक्षा, स्वास्थ, सेनेटरी नेपकिन साइकिल आदि सुविधाओं पर खर्च किये जायेंगे ताकि लडकियों की शिक्षा और अन्य सुविधाओं में रूकावट ना आए.

वित्तीय सहायता Financial Assistance :

  • बिहार सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत राज्य में मौजूद लडकियों को कुल 54100 रुपय की सहायता दी जाएगी. यह राशि लडकियों को उनके जन्म से लेकर स्नातक करने तक के दौरान अलग अलग किश्तों में दी जाएगी.

लडकियों को अलग-अलग किश्तों में मिलने वालीं राशि:

  • प्रदेश सरकार द्वारा दी जाने वाली इस सहायता में पहली किश्त 2000 रुपये की लड़की के जन्म के समय उसके माता पिता को उनके खाते में ट्रांसफर की जाएगी. वही इसकी दुसरी किश्त लड़की के 1 वर्ष पूर्ण करने पर 1000 रुपय की और तीसरी किश्त 2000 रुपय की उसे टिके लगवाने पर माता पिता को दी जाएगी.
  • इसके बाद लड़की को 10th पास करने के बाद 10,000 की राशि दी जाएगी, परंतु यदि कन्या का विवाह हो जाता है तो वह इस राशि की हक़दार नहीं होगी. इस राशि के संबंध में इस नियम को लागू करने का सरकार का उद्देश्य राज्य में बाल विवाह को रोकना है.
  • इसके बाद यदि कन्या स्नातक की डिग्री पुरी करती है तो उसे राज्य सरकार द्वारा 25,000 की राशि दी जाएगी. इस स्थिति में लड़की के विवाह के बाद भी उसे यह रकम प्रदान की जाएगी.
  • इन सब के अलावा सैनिटरी नैपकिन के लिए भी सरकार की तरफ से 300 रुपय दिए जायेंगे वहीं पहले सरकार की तरफ से इस संबंध में केवल 150 रुपय दिये जाते थे जिसमे अब इजाफा किया गया है.

Other:

  1. Study in India Portal (studyinindia.gov.in) Hindi
  2. Mukhyamantri Sukarmi Puraskar Yojana Maharashtra for Mantralaya Employees In Hindi
  3. MP Mukhyamantri Mahila Kosh Scheme
  4. Two Cows to BPL Women Scheme
Categories: State
Tags: BiharWomen Girl Child
Editor :