मुख्यमंत्री सुकर्मी पुरस्कार योजना | Mukhyamantri Sukarmi Puraskar Yojana Maharashtra for Mantralaya Employees

मुख्यमंत्री सुकर्मी पुरस्कार योजना, महाराष्ट्र मंत्रालय के कर्मचारियों के लिए अवार्ड स्कीम | Mukhyamantri Sukarmi Puraskar Yojana Award Scheme Maharashtra for Mantralaya Employees In Hindi

महाराष्ट्र में मौजूद राज्य सरकार ने अपने कर्मचारियों के लिए एक अवार्ड स्कीम लांच की है. यह अनुमान लगाया जा रहा है कि यह नई अवार्ड स्कीम महाराष्ट्र मंत्रालय के कर्मचारियों के लिए है. इस योजना का नाम मुख्यमंत्री सुकर्मी पुरस्कार योजना है, जो कि कर्मचारियों के लाभ के लिए लाई गई है जिससे हर कर्मचारी अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्श करे.

Mukhyamantri-Sukarmi-Puruska-Yojana-Award-Scheme-Maharashtra-for-Mantralaya-Employees

मुख्यमंत्री सुकर्मी पुरस्कार योजना

इस नई योजना को उन कर्मचारियों के उत्साहवर्धन के लिए लांच किया गया है जो कि महारष्ट्र मंत्रालय में कार्यरत है. यह निर्णय राज्य में मौजूद भारतीय जनता पार्टी की सरकार द्वारा लिया गया है. राज्य सरकार ने यह भी स्पष्ट किया गई की यह नई योजना कर्यकालिन वर्ष 2018 में लागू की जाएगी.

इस योजना के तहत अवार्ड के विजेताओं का चयन कर्मचारियों के उनके अपने क्षेत्र में उनके व्यक्तिगत प्रदर्शन के हिसाब से किया जाएगा. राज्य सरकार ने यह घोषणा की है कि यह अवार्ड 15 अगस्त 2018 को वितरित किये जायेंगे. और फिर अगले वर्ष से प्रतिवर्ष यह अवार्ड 21 अप्रैल को दिये जायेंगे.

मुख्य बिंदु Key features

  • राज्य सरकार द्वारा दिए गए स्टेटमेंट के अनुसार, यह स्पष्ट किया गया है कि 7 वीं सीपीसी को अधिनियम में लागू करने में सरकार द्वारा किए गए विलंब के बाद यह नया कार्यान्वयन किया गया है.
  • इस योजना के क्रियान्वयन के नियमो के अनुसार यह उम्मीद लगाई जा रही है की कर्मचारियों को अवार्ड उनके कार्य क्षेत्र में प्रदर्शन के अनुसार मिलेंगे. अर्थात महाराष्ट्र सरकार में कार्यरत 7500 कर्मचारी इस योजना के अंतर्गत लाभ के पात्र होंगे.
  • इस वर्ष से इस योजना के लागू होने के पश्चात यह स्पष्ट हो गया है कि इससे सभी कर्मचारी अपने कार्य को बेहतर तरीके से करने के लिए प्रोत्साहित होंगे. इन सबके अलावा यह भी उम्मीद लगाई जा रही है कि इसके द्वारा कर्मचारियों का मनोबल भी बढेगा और वे जनता के प्रति अपने कर्तव्यो का निर्वाह बेहतर ढंग से करेंगे.

·         राज्य सरकार ने यह भी स्पष्ट कर दिया है कि इस योजना के अंतर्गत कर्मचारियों का अवार्ड के लिए चयन विभिन्न स्तरों जैसे मंत्रालय भूषण पुरस्कार, कैडर स्तर पुरस्कार, विभाग स्तर पुरस्कार और विशेष श्रेणी पुरस्कार में चयन के पश्चात् ही किया जायेगा. इस योजना को राज्य में लागू करने से यह स्पष्ट है कि इसके पीछे राज्य सरकार का उद्देश्य कर्मचारियों को उनके कार्य के लिए प्रोत्साहित करना है. अपने इस विशेष उद्देश्य की पूर्ति के लिए राज्य सरकार द्वारा 6 सदस्यों की टीम का गठन किया जायेगा ताकि निर्णय सही रूप से लिया जा सके और इसे सर्वमान्य किया जाए.

Other:

  1. झारखंड दिव्यांग जन अधिकार नियमावली-2018 
  2. स्टार्टअप एग्री इंडिया स्कीम
  3. पंजाब ऋण माफी योजना

Leave a Comment