मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना मध्यप्रदेश 2020

मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना मध्यप्रदेश 2020 [लिस्ट, आवेदन पत्र]  (Mukhyamantri Teerth Darshan Yojana MP in Hindi) Registration, Online Form, Schedule, List, Selection, Application Process, Train

हमारा देश धार्मिक स्थानों से भरा देश है और यहाँ ऐसे स्थानों में तीर्थ यात्रा करना बहुत आवश्यक माना गया है. ऐसे में कई ऐसे गरीब बुजुर्ग लोग हैं जो तीर्थ यात्रा करने में असमर्थ है, क्योंकि उनके पास उतने पैसे नहीं होते. किन्तु मध्यप्रदेश ने उन बुजुर्गों को यह अवसर प्रदान करने के लिए एक योजना की शुरूआत की है, जिसके बारे में यहाँ विस्तार से बताया गया है.

Mukhyamantri Teerth Darshan Yojana

नाममध्यप्रदेश मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना
मुख्यमंत्रीशिवराजसिंह
विभागधार्मिक ट्रस्ट और एंडॉमेंट्स विभाग
लक्ष्य5 लाख लाभार्थी
शुरुआतअगस्त, 2012

मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना  की विशेषताएँ (Key Features)

इस योजना की कुछ विशेषताएँ हैं –

  • मुफ़्त में दर्शन :- इस योजना के अंतर्गत सभी बुजुर्ग यात्रियों को मुफ़्त में तीर्थ दर्शन कराया जायेगा. उन्हें किसी भी प्रकार का कोई भी व्यय नहीं करना होगा.
  • धर्मिक स्थान :- इस योजना के तहत सभी धर्मों का सम्मान करते हुए सभी धर्मों के धार्मिक स्थलों में यात्रियों को दर्शन करवाने का प्रावधान रखा गया है. इनके तीर्थ यात्रा की जिम्मेदारी रेलवे को सौंपी गई है.
  • अन्य सुविधा :- इस यात्रा के दौरान बुजुर्गों के भोजन, बीमा, चिकित्सा उपचार ओर गाइड आदि की भी पूरी व्यवस्था की जाएगी.
  • पहली ट्रेन :- मध्यप्रदेश की यह अनूठी तीर्थ यात्रा योजना की पहली ट्रेन 3 सितम्बर, 2012 को भोपाल के हबीबगंज रेल्वे स्टेशन से शुरू हुई थी जोकि रामेश्वरम के लिए रवाना की गई थी.
  • कुल ट्रेनें :- इस योजना में वरिष्ठ नागरिकों के तीर्थ यात्रा के लिए लगभग 100 ट्रेनें अलग – अलग धार्मिक स्थलों पर चलाई गई है और योजना की लोकप्रियता के अनुसार यह दोगुनी भी की जा सकती है. लगभग 1000 यात्री एक ट्रेन में यात्रा कर सकते हैं.
  • लाभार्थियों की तीर्थ यात्रा के लिए अच्छी और सुलभ व्यवस्था करने के उद्देश्य से राज्य और जिला स्तर पर समितियों के गठन किये गए है, ताकि लोगों को किसी प्रकार की दिक्कतों का सामना ना करना पड़े.
  1. राज्य स्तरीय प्रबंधन समिति के अध्यक्ष धार्मिक ट्रस्ट और एंडॉवमेंट मंत्री है. इनके आलावा इस समिति में अन्य भी कई मंत्री शामिल है.
  2. जिला स्तरीय प्रबंधन समिति के अध्यक्ष जिले के प्रभारी हैं. इसके सचिव कलेक्टर हैं, जबकि इस समिति के सदस्यों में पुलिस अधीक्षक, जिला पंचायत के मुख्य कार्यकारी अधिकारी, एक डिप्टी कलेक्टर, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी और जिला प्रोटोकॉल अधिकारी शामिल हैं.

वरिष्ठ नागरिकों की तीर्थ यात्रा की व्यवस्था के अलावा ये समितियां यात्रा के दौरान तीर्थयात्रियों की समस्याओं का निवारण भी करती है.

मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के लिए पात्रता मापदंड (Eligibility Criteria)

  • इस योजना में पात्र होने के लिए वरिष्ठ नागरिकों को मध्यप्रदेश का निवासी होना अनिवार्य है, क्योंकि यह योजना केवल मध्यप्रदेश के निवासियों के लिए है.
  • वरिष्ठ नागरिकों को इस योजना का हिस्सा बनने के लिए 60 वर्ष या उससे अधिक आयु का होना आवश्यक है. वरिष्ठ नागरिकों के अलावा, एक व्यक्ति को सहायक के रूप में उनके साथ निःशुल्क यात्रा करने के लिए अनुमति दी गई है.
  • पहले इस योजना के तहत आवेदक केवल एक बार यात्रा के लिए जा सकता था लेकिन अब इसमें कुछ संशोधन किया गया है. अब इस यात्रा में आवेदक 5 साल के अन्तराल के बाद दोबारा यात्रा पर जाने के लिए पात्र है.
  • इस यात्रा में जाने वाले कोई भी व्यक्ति के लिए यह परम आवश्यक है कि वह किसी भी प्रकार से कर दाता नहीं होना चाहिए.
  • तीर्थ यात्री का यात्रा करने के लिए हर तरह से फिट होना आवश्यक है. और आवेदक किसी भी संक्रमण युक्त बीमारी जैसे टीबी, साँस लेने में कठिनाई, हृदय रोग, कुष्ठ रोग आदि से पीढित नहीं होना चाहिए.

मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना  दस्तावेज (Required Documents)

इस योजना के लिए आवेदक के पास राशन कार्ड, बीपीएल कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस आदि दस्तावेजों का होना आवश्यक है. तभी वे इस तीर्थ यात्रा का हिस्सा बन सकेंगे.

मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के आवेदन फॉर्म (Application Form)

इस योजना के तहत सभी इच्छुक आवेदक ऑनलाइन एप्लाई कर सकते हैं. जो भी वरिष्ठ नागरिक इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं तो वे दिए गए अधिकारिक लिंक पर क्लिक करके इस योजना का आवेदन फॉर्म डाउनलोड कर सकते हैं. इसके लिंक मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना आवेदन पत्र pdf है. यह फॉर्म आप अपने पास के तहसील या उप – तहसील में जाकर भी प्राप्त कर सकते हैं.

मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के लिए आवेदन की प्रक्रिया (Application Process)

इस योजना के लिए फॉर्म डाउनलोड कर लेने के बाद आप निम्न प्रक्रिया द्वारा आवेदन कर सकते हैं –

  • आवेदन पत्र में आपको अपनी पूरी जानकारी भरनी होगी. इसके बाद आपको अपने दिए गये दस्तावेज के साथ आवेदन पत्र की 2 कॉपी निर्धारित समय सीमा से पहले निकटम तहसील या उप तहसील में जाकर जमा करना होगा.
  • अपने आवेदन फॉर्म के साथ अपनी फोटो और पते का प्रमाण देना न भूलें, ऊपर दिए गए दस्तावेजों के अलावा राज्य सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त किसी भी अन्य प्रमाण को पते के प्रमाण के रूप में स्वीकार किया जा सकता है.
  • यदि वरिष्ठ नागरिक समूह में आवेदन जमा करना चाहते हैं तो पूरे समूह को एक आवेदन के रूप में माना जायेगा और लोटरी में चुना जायेगा. एक समूह में उपस्थित लोगों में 25 आवेदक से ज्यादा नहीं होने चाहिए. इसमें एक सहायक व्यक्ति भी शामिल होगा.

मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना में चयन की प्रक्रिया (Selection Procedure)

योजना के लिए चयन प्रक्रिया इस प्रकार है –

  • इस योजना में तीर्थ यात्रियों का चयन जिले के जिलाधीश द्वारा किया जायेगा. प्राथमिकता उन आवेदकों को दी जाएगी जिसका आवेदन पहले आया है.
  • यदि आवेदन कोटा से अधिक होते हैं तो चयन लोटरी के माध्यम से किया जायेगा. 10% कोटा की वेटिंग लिस्ट भी तैयार की जाएगी.
  • यदि तीर्थ यात्री, यात्रा के समय सरकार जो सुविधा दे रही है इसके अलावा किसी सुविधा का लाभ उठाना चाहते हैं तो उन्हें इसके लिए अलग से भुगतान करना होगा.

मप तीर्थ दर्शन योजना के लिए तीर्थ स्थान और शेड्यूल (Places and Schedule 2019)

इस तीर्थ यात्रा योजना में चयन प्रक्रिया के बाद निम्न तीर्थ स्थानों के दर्शन कराये जायेंगे.

1.श्री बद्रीनाथ
2.श्री केदारनाथ
3.श्री जगन्नाथ पुरी
4.श्री द्वारका जी
5.हरिद्वार
6.अमरनाथ
7.वैष्णो देवी
8.शिर्डी
9.तिरुपति बालाजी
10.अजमेर शरीफ
11.काशी
12.अमृतसर
13.रामेश्वरम
14.सम्मेद – शिखर
15.श्रवण बेलगोला और वेलंगादी चर्च
16.नागापट्टनम
17.पटना साहिब गुरुद्वारा बिहार
18.करतारपूर साहेब पाकिस्तान

 

गुरु गोविन्द साहेब की गुरुनानक जयंती के उपलक्ष्य में मध्यप्रदेश सरकार ने सिख्य समुदाय के लिए स्पेशल ट्रेन शुरू की है, जिसमें उन्हें अमृतसर एवं बिहार के पटना में स्थित साहिब गुरुद्वारा ले जा रहे है, इसके साथ ही पाकिस्तान के करतारपुर साहेब के दर्शन भी अब इस योजना के तहत किये जा सकेंगें.

यदि कोई आवेदक अपनी कोई भी गलत जानकारी देता है तो उसे योजना के तहत किसी भी समय लाभ से वंचित किया जा सकता है. इस योजना का लाभ केवल वरिष्ठ नागरिक ही उठा सकते हैं और यदि इसमें कोई शुल्क देकर इस योजना का लाभ उठाना चाहता है तो उसे इसके लिए अनुमति नहीं दी गई है.

अन्य पढ़े –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *