निक्षय पोषण योजना 2021 | Nikshay Poshan Yojana in Hindi

निक्षय पोषण योजना 2021 (Nikshay Poshan Yojana in Hindi) रजिस्ट्रेशन, योग्यता, राशी [Registration Form Online, Portal, Tollfree number, Guidelines]

बीमारियाँ कई प्रकार की होती हैं कुछ गंभीर तो कुछ सामान्य. कुछ गंभीर बीमारियों जैसे कि टीबी आदि के कारण हर दिन हजारों लोगों की मृत्यु होती हैं. इसका मुख्य कारण यह हैं कि आज के समय में टीबी से लड़ने की दवायें तो काफी उपलब्ध हैं, लेकिन दवायें अकेले इस बीमारी से नहीं लड़ती हैं बल्कि यह पोषण युक्त खाद्य पदार्थों का समर्थन करती हैं. यदि मरीज अच्छा खाना नहीं खाते हैं, तो वे कभी ठीक नहीं हो सकते हैं. और इसी को नजरअंदाज करना ही मृत्यु का कारण बन जाता हैं. हालाँकि भारत सरकार द्वारा एक ‘निक्षय पोषण योजना’ नामक योजना लाई गई हैं, ताकि इस बीमारी को भारत से जड़ से ख़त्म किया जा सके. इसके लिए टीबी बीमारी के मरीजों को केंद्र सरकार द्वारा वित्तीय सहायता प्रदान की जा रही हैं.

Nikshay Poshan Yojana

Table of Contents

निक्षय पोषण योजना के लांच की जानकारी (Nikshay Poshan Yojana Launched Details)

योजना की जानकारी बिंदुयोजना की जानकारी
नामनिक्षय पोषण योजना
लांच किया गयाकेंद्र सरकार द्वारा
घोषणा की गईप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा
लांच तारीखअप्रैल, 2018
सम्बंधित विभगास्वास्थ्य एवं कल्याण विभाग
पोर्टल https://nikshay.in/
टोल फ्री नंबर1800-11-6666

निक्षय पोषण योजना की विशेषताएं (Nikshay Poshan Yojana Key Features)

टीबी मरीज के लिए बेहतर मंच :-

इस योजना के माध्यम से जो भी टीबी की बीमारी से पीढित मरीज हैं उनके लिए एक बेहतर मंच विकसित किया गया है.

टीबी मरीजों का रिकॉर्ड रखना :-

इस योजना के तहत नामांकन करने वाले मरीजों के डेटा की सभी जरुरी जानकारी पर केंद्र सरकार एवं संबंधित विभाग द्वारा निगरानी रखी जा रही हैं.

वित्तीय सहायता :-

इस योजना में शामिल होने वाले टीबी मरीजों को सरकार द्वारा 500 रूपये प्रतिमाह वित्तीय सहायता के रूप में प्रदान किये जा रहे हैं. और यह राशि उन्हें हर महीने तब तक प्रदान की जाती रहती हैं, जब तक की वे बिलकुल ठीक नहीं हो जाते.

कुल लाभार्थी :-

इस योजना का लगभग 13 लाख टीबी के मरीज फायदा उठाने के लिए सक्षम हैं. इस आंकड़े में वृद्धि आगे भी हो सकती हैं.

राशि का वितरण :-

इस योजना के सभी लाभार्थियों को वित्तीय सहायता उनके स्वयं के सक्रिय बैंक खाते में डायरेक्ट बेनेफिट ट्रांसफर मोड के माध्यम से प्रदान की जा रही थी, जोकि आधार कार्ड से लिंक किया हुआ था. लेकिन हालही में इस योजना में कुछ सुधार कार्य करते हुए नए दिशा – निर्देशों का उल्लेख किया गया हैं कि अब इस योजना में भुगतान प्रणाली पब्लिक फाइनेंसियल मैनेजमेंट सिस्टम यानि पीएमएफएस के द्वारा होगी.

अन्य संशोधन :-

यदि किसी मरीज का बैंक में खुद के नाम से खाता नहीं है, तो ऐसी स्थिति में वह किसी दूसरे व्यक्ति के खाता नंबर का उपयोग कर पैसे प्राप्त कर सकता हैं. लेकिन उसके लिए लाभार्थी का स्वयं द्वारा प्रमाणित एक सहमति पत्र भी दिया जाना आवश्यक है. हालाँकि यदि उसके घर में किसी का खाता नहीं है तो इसके लिए नया खाता खुलवाया जा सकता हैं. इसी के साथ ही इस योजना के अधिकारिक पोर्टल को और भी अधिक सुरक्षित और सुव्यवस्थित बनाया जा रहा हैं, ताकि मरीजों की हर स्तर पर निगरानी की जा सके.

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन का भाग :-

इस योजना को टीबी मरीजों की मदद करने के लिए एक विशेष मेडिकल योजना के तहत लागू किया गया है. जोकि राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत आती हैं.

मरीजों की श्रेणी के आधार पर भुगतान अनुसूची (Payment Schedule)

मरीजों की श्रेणीपहला प्रोत्साहनदूसरा प्रोत्साहनतीसरा प्रोत्साहनचौथा प्रोत्साहन
नये मरीजनामांकन के साथआईपी फॉलो – अप एग्जामिनेशन के बाद 2 महीने के लिएफॉलो – अप एग्जामिनेशन के बाद 6 महीने के लिए     –
औपचारिक रूप से रोगियों का ईलाजनामांकन के साथआईपी फॉलो – अप एग्जामिनेशन के बाद 3 महीने के लिएईलाज के बाद 5 महीने के लिएफॉलो – अप क्लिनिकल  एग्जामिनेशन के बाद 8 महीने के लिए
टीबी से पीढित व्यक्तिनामांकन के साथफॉलो – अप एग्जामिनेशन के 2 महीने के लिएक्लिनिकल  एग्जामिनेशन के बाद 4 महीने के लिएफॉलो – अप सेशन के दौरान 6 महीने के लिए

अतिरिक्त सहायता :- यदि नया मरीज हैं या औपचारिक रूप से मरीज का ईलाज हो रहा हैं सभी को 2 महीने के लिए अतिरिक्त उपचार एवं थेरेपी पर 1000 रूपये मिलेंगे. यानि प्रति महीने के उपचार के लिए उन्हें 500 रूपये प्राप्त होंगे.

निक्षय पोषण योजना में पात्रता मापदंड (Nikshay Poshan Yojana Eligibility Criteria)

टीबी मरीजों के लिए :-

इस योजना में ऐसे मरीज जोकि टीबी जैसी खतरनाक बीमारी से पीढित हैं उन मरीजों को इसमें नामांकन करने की अनुमति दी गई हैं.

निक्षय पोर्टल पर पंजीकृत मरीज :-

ऐसे मरीज जिनका नाम अधिकारिक निक्षय पोर्टल पर नामांकित हैं, उन्हें इस योजना में वित्तीय सहायता केंद्र सरकार द्वारा प्रदान की जा रही हैं.

निक्षय पोषण योजना आवश्यक दस्तावेज (Nikshay Poshan Yojana Required Documents)

डॉक्टर का प्रमाण पत्र :-

इस योजना में लाभार्थी चूकी टीबी की बीमारी से पीढित ही हो सकते हैं, इसलिए उन्हें डॉक्टर द्वारा प्रमाणित किया हुआ आवश्यक मेडिकल प्रमाण पत्र जमा करना अनिवार्य हैं. यह दस्तावेज मरीजों को क्लेम करने के लिए समर्थन देगा.

आवेदन फॉर्म :-

इसके अलावा आवेदकों को अपना नामांकन फॉर्म भी जमा करना होगा जिसमें मरीज की सभी जानकारी दी हुई होगी. यह सम्बंधित अधिकारी एवं हेल्थ केयर सेण्टर को मरीज का रिकॉर्ड रखने में मदद करेगी.

निक्षय पोषण योजना में नामांकन कैसे करें ? (How to Enroll in Nikshay Poshan Yojana ?)

इस योजना के लाभार्थी मरीजों को योजना का लाभ उठाने के लिए सर्वप्रथम निक्षय योजना पोर्टल पर जायें, और वहां से इस योजना का ऑनलाइन फॉर्म प्राप्त कर उसे भरें और सबमिट कर दें, इसमें आवेदक की सभी जरुरी जानकारी होगी. इसके बाद आप अपने नामांकन स्लिप को सेव कर लें. इस तरह से आपका निक्षय पोषण योजना में नामांकन हो जायेगा. 

यदि आप इस योजना में ऑफलाइन नामांकन करना चाहते हैं, तो इसके लिए आप इसमें शामिल होने वाले किसी भी सरकारी एवं निजी हेल्थ केयर सेंटर में जाकर नामांकन फॉर्म भर सकते हैं.

निक्षय पोषण योजना हेल्थ केयर सेंटर कैसे नामांकन करें ? (How Health Care Centers can Apply Under Nikshay Poshan Yojana ?)

इस योजना में यदि कोई हेल्थ केयर सेंटर्स शामिल होकर मरीजों को सेवा प्रदान करना चाहता हैं. तो उन्हें इस योजना में शामिल होने के लिए निम्न प्रक्रिया के अनुसार नामांकन करना होगा.

  • सर्वप्रथम इस योजना से जुड़ने के लिए इच्छुक हेल्थ केयर सेंटर्स के नाम पर आपको इसमें रजिस्टर करना हैं. यदि आप इसमें पहले से रजिस्टर हैं तो आप सीधे इसमें लॉग इन कर सकते हैं.
  • इसमें रजिस्टर्ड करने के लिए आप इस पोर्टल में पहुंचने के बाद ‘न्यू हेल्थ फैसिलिटी रजिस्ट्रेशन’ पर क्लिक करें, और पूछी जाने वाली सभी डिटेल जैसे आपका हेल्थ केयर सेंटर किस प्रकार हैं किस राज्य, जिले, और ब्लॉक का हैं आदि को सेलेक्ट करें.
  • जैसे ही आप सभी जानकारी सेलेक्ट कर लेंगे उसके बाद इसमें आपके हेल्थ केयर सेण्टर की कुछ और जानकारी भरने के लिए विकल्प खुल जायेगा, वह सब भरने के बाद आप ‘कंटिन्यू’ बटन पर क्लिक करें.
  • इसके बाद आपकी स्क्रीन पर आपको एक यूनिक आईडी कोड प्रदर्शित होगा आप उसे सुरक्षित रखें और फिर इसके माध्यम से ही आप इस पोर्टल पर लॉग इन करेंगे.

इस तरह से आपके हेल्थ केयर सेंटर की इस निक्षय पोषण योजना में नामांकन की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी.

हेल्थ केयर सेंटर के रजिस्ट्रेशन का अप्रूवल (Aprooval of Health Care Center Registration)

किसी भी हेल्थ केयर सेंटर का इस योजना में नामांकन हो जाने के बाद तुरंत ही वे इस योजना में शामिल नहीं होते हैं, उन्हें कुछ समय का इंतजार करना होता हैं, क्योंकि नामांकन के बाद उच्च अधिकारीयों द्वारा हेल्थ केयर सेण्टर के अप्रूवल की प्रक्रिया शुरू होती हैं, जोकि इस प्रकार हैं –

  • जब हेल्थ केयर सेंटर की नामांकन प्रोसेस पूरी हो जाती हैं तब फिर उन्हें अपने संबंधित जिले अधिकारी से अप्रूवल लेने तक के लिए इंतजार करना होता है. जब अधिकारी द्वारा आपकी एवं आपके हेल्थ केयर सेण्टर की सभी जानकारी की जाँच हो जाती हैं उसके बाद वे आपको कन्फर्मेशन देते हैं.
  • यह कन्फर्मेशन की सूचना एसएमएस के माध्यम से आप तक पहुंचा दी जाती हैं.
  • यह एसएमएस आप तक पहुँच जाने के बाद ही आपके हेल्थ केयर सेण्टर का अप्रूवल पूरा होता हैं, और इसके बाद आप टीबी के मरीजों के डेटा को प्राप्त करने का टास्क शुरू कर सकते हैं.

मरीजों का रजिस्ट्रेशन होने के बाद नोटिफिकेशन की प्रक्रिया (Notification Process after Patient’s Registration)

  • सभी पात्र मरीजों को खुद के रजिस्ट्रेशन के बाद टीबी ईलाज सेण्टर में जाकर अपनी सभी जानकारी देनी होती हैं, जोकि उनके डेटाबेस में स्टोर की हुई होती हैं.
  • इसके बाद मरीज द्वारा दी गई जानकारी और डेटाबेस में सेव की हुई मरीज की जानकारी दोनों एक बराबर है इसकी जाँच की जाती हैं, सही होने पर हेल्थ केयर सेंटर संबंधित मरीज को इसके बारे में सूचित करते हैं.

इस योजना में जुड़ने की सभी औपचारिकताएँ समाप्त हो जाने के बाद आप अपनी टीबी की बीमारी के ईलाज के लिए एवं पोषण युक्त आहार के लिए सरकार से वित्तीय सहायता प्राप्त कर सकते हैं. 

Other links –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *