वन नेशन वन मोबिलिटी कार्ड 2021| One Nation One Mobility Card 2021 Apply in hindi

वन नेशन वन कार्ड – नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड 2021 (One Nation One Card – National Common Mobility Card in hindi) –  (एक देश, एक कार्ड) [Policy, Bank list, Online Apply] 

अपने नई घोषणाओं के दौर में अब प्रधान मंत्री जी ने देश में वन नेशन वन कार्ड / नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड लॉंच किया है. इस नए कार्ड के द्वारा जनता अपनी बस यात्रा, टोल टेक्स, पार्किंग शुल्क, रीटेल शॉपिंग और धन निकासी जैसे कामों के लिए इस कार्ड का उपयोग कर पाएगी. यह लॉंच हुआ नया कार्ड भारत की मेड इन इंडिया के अंतर्गत बनाया गया है और अब भारत को इस टेक्नालॉजी के लिए विदेशी तकनीक पर आधारित नहीं होना होगा.

one nation one card

वन नेशन वन राशन कार्ड : देश के किसी भी कोने में मिल सकेगा मुफ्त अनाज.

नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड की लांच डीटेल (Launch Detail) –

जानकारी विवेचन
कार्ड का नाम (Card’s Name)नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड
लॉंच दिनांक (Launch Date)मार्च 2019
किसके द्वारा लॉंच किया गया (Launch By)प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी
लाभार्थी (Beneficiaries)भारतीय जनता
सुविधा (Facility)विभिन्न जगहों पर पैसो के ट्रांजेक्शशन में उपयोगी

नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड का उद्देश्य (Key Features) –

  • इस कार्ड के जरिये भारतीय जनता को ट्रैवल करते समय होने वाली दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़ेगा. जब भी कोई बस, ट्रेन या मेट्रो में सफर करता है, या पार्किंग में अपनी गाड़ी पार्क करता है तो उसे वहाँ का बिल चुकाते वक़्त खुल्ले पैसे से संबंधित दिक्कत होती है, अब इस कार्ड के जरिये यह पेमेंट डायरेक्ट हो जाएगा और लोगों की इस समस्या का समाधान स्वतः हो जाएगा.
  • पहले भारत इस तरह के कार्डस को विदेशो से आयात करता था, इसे विभिन्न लोगों द्वारा बनाया जाता था, परंतु ये कार्ड केवल एक शहर में काम करते थे और दूसरे शहर में जाते ही यह काम करना बंद कर देते थे. फिर सरकार ने विभिन्न विभागों, मंत्रालयों और बैंकों को इस संबंध में काम करने के निर्देश दिये अब आखिरकार हुमे एक ऐसा कार्ड प्राप्त हुआ जो संपूर्ण देश में काम करेगा.
  • इस रुपे कार्ड के जरिये लोग पैसे भी निकाल पाएंगे और सफर के समय अपने बिल का भुक्तान भी कर पाएंगे. इसके लिए समान्य रूप से तकनीकी विभाग द्वारा रुपे कार्ड को मोबिलिटी कार्ड से मर्ज कर दिया गया है. आधिकारिक रूप से यह नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड बैंक द्वारा जारी किए गए डेबिट/क्रेडिट और प्री पेड कार्ड है.
  • इस कार्ड में, कार्ड के उपर स्टोर वैल्यू होगी, जिससे यात्रा के समय भी इसके द्वारा बिना रुकावट के पेमेंट किया जा सकेगा.
  • इन सब सुविधाओं के अतिरिक्त इस कार्ड में मासिक पास, सीजन टिकिट जैसी अन्य सुविधाएं भी उपलब्ध होगी. इसके अलावा इस कार्ड पर एटीएम पर 5 प्रतिशत का कैश बैक होगा और विदेश यात्रा के समय मर्चेन्ट आउटलेट पर इसमे 10 प्रतिशत का कैश बैक होगा.
  • यह नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड स्टेट बैंक, पंजाब बैंक और अन्य 25 बैंको के साथ सपोर्ट करेगा.

एमएसएमई क्या है – जानिए उद्योग लोन के रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया.

वन नेशन एक मोबिलिटी कार्ड बनवाने हेतु आपको सर्वप्रथम अपने बैंक से संपर्क करना पड़ेगा। अभी वर्तमान समय में केवल 25 बैंक ही इस कार्ड की सुविधा को प्रदान करने के लिए योग्य है। इस योजना के जरिए सरकार कैशलेस प्रणाली को बढ़ावा प्रदान करने पर जोर दे रही है। यूनिक आइडेंटीफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने अपने पूर्व अध्यक्ष नीलेकणी के नेतृत्व में इस कार्ड योजना के सफल संचालन के लिए पांच सदस्यीय कमेटी का निर्माण किया है और इस कमेटी ने सभी प्रकार के डिजिटल भुगतान के जरिए सुविधा को प्रदान करने के अपने अनेकों प्रकार के सुझाव साझा किए हैं। उन सभी सुझावों को मध्य नजर रखते हुए सरकार ने मोबिलिटी कार्ड योजना को आरंभ करने का अपना निश्चय पूरा कर लिया है और आज हम इस लेख में इसी विषय पर विस्तार से जानकारी जानेंगे।


मेट्रो सुविधा वन नेशन वन मोबिलिटी कार्ड

स्पेशल कमेटी के सदस्यों ने कहा कि मोबिलिटी कार्ड के अंतर्गत दो नए फीचर भुगतान के लिए इस्तेमाल होने चाहिए पहला फीचर रेगुलर डेबिट कार्ड तथा दूसरा लोकल वायलेट का उपलब्ध होना चाहिए।इस कार्ड के प्रारंभ हो जाने से अब मेट्रो की टिकट को प्राप्त करने के लिए यात्रियों को लंबी-लंबी लाइनों में खड़ा होने की आवश्यकता नहीं होगी। इस सुविधा के जरिए सभी यात्री अपने टिकट को आसानी से प्राप्त कर सकेंगे।सरकार का उद्देश्य है कि इस सुविधा को अगले 2022 वर्ष तक संपूर्ण दिल्ली में प्रारंभ कर दिया जाए और इसमें एक ऑटोमेटिक किराया कलेक्शन का भी सिस्टम सरकार की तरफ से इन बिल्ड किया जाएगा। समय की बचत के साथ-साथ यात्रियों को 5% की कैशबैक सुविधा भी इसके अंतर्गत प्राप्त होगी। अगर किसी यात्री ने विदेशी यात्रा के दौरान मर्चेंट आउटलेट पर पेमेंट करने के लिए इसका इस्तेमाल किया, तो उसे 10% का कैशबैक प्राप्त होगा। इस कार्ड के अंतर्गत भारतीय इलेक्ट्रॉनिक लिमिटेड ने ऑटोमेटिक फेयर कलेक्शन सिस्टम का पूरा प्रोग्राम तैयार किया है और इसे बनाया भी है।

वन नेशन वन मोबिलिटी कार्ड के कुछ मुख्य तथ्य

  • इस कार्ड को हमारे देश में आने वाले समय में नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड के नाम से भी जाना जाएगा।

  • इस कार्ड के अंदर स्वचालित किराया संग्रह प्रणाली की भी सुविधा यात्रियों को प्राप्त होगी।

  • इस योजना को वन नेशन 1 कार्ड की टैगलाइन के साथ 4 मार्च वर्ष 2019 में सरकार ने लॉन्च कर दिया था।

  • इस कार्ड के जरिए उपभोक्ता खरीदारी, बैंकिंग लेनदेन एवं अन्य सुविधाएं भी प्राप्त कर पाएंगे।

  • अब तक पिछले 18 महीने में जितने भी सिलेक्टेड 25 बैंकों ने रुपे डेबिट कार्ड जारी किया है, वह सभी यात्रियों के लिए मेट्रो स्वाइप की सुविधा भी प्रदान करेंगे और इसी कार्ड के अंदर वन नेशन वन मोबिलिटी कार्ड की फीचर भी मौजूद होंगे।

  • यह कार्ड एक स्मार्टफोन संग्रह प्रणाली के रूप में कार्य करेगा और इसी के जरिए सभी मेट्रो स्टेशन में प्रवेश और निकासी की सुविधा यात्रियों को प्राप्त होंगी।

  • दिल्ली मेट्रो फेज 4 परियोजना के अंतर्गत एएफसी प्रणाली पूरी तरीके से इस कार्ड के सभी सुविधाओं को स्वीकार करने का कार्य करेगी।

  • अब आगे से जो भी बैंक डेबिट कार्ड अपने उपभोक्ताओं को जारी करेंगे उन सभी डेबिट कार्डओं में वन नेशन वन मोबिलिटी कार्ड के सारे फीचर इन बिल्ड होंगे।

  • इस कार्ड के उपभोक्ता बिना किसी पिन और ओटीपी के जरिए 2000 रुपए की शॉपिंग आसानी से कर सकेंगे।

वन नेशन मोबिलिटी कार्ड के लाभ एवं विशेषताएं

  • इस कार्ड के अंदर एक इंटीग्रेटेड एक्सेस प्रदान किया जाएगा और इसी के जरिए सभी मेट्रो की टिकटों का भुगतान किया जा सकेगा।

  • इस कार्ड के उपभोक्ता को लंबी-लंबी लाइनों में मेट्रो टिकट के लिए समय व्यर्थ नहीं करना होगा और उन्हें इसका लाभ सिर्फ एक कार्ड के जरिए मिल जाएगा।

  • इस कार्ड के इस्तेमाल से प्रणाली में पारदर्शिता हो जाएगी।

  • अब पिछले 18 महीनों में जो भी 25 बैंक के योजना के अंतर्गत सिलेक्टेड हैं, वह जब भी कोई भी डेबिट कार्ड रुपए का जारी करेंगे, उनमें यह फीचर इन बिल्ड दिया जाएगा।

  • आने वाले समय में यात्री एयरपोर्ट में और बसों के किराया भुगतान के लिए भी इस कार्ड का इस्तेमाल कर सकेंगे।

  • यदि आप यह कार्ड प्राप्त करने के लिए इच्छुक है, तो इसके लिए आपको सर्वप्रथम अपने नजदीकी बैंक से संपर्क करना अनिवार्य है।

  • इस सुविधा को बढ़ावा प्रदान करने के लिए सरकार इसके उपभोक्ताओं को कई सारी कैशबैक सुविधाएं भी प्रदान करेगी।

  • सरकार ने इस लाभकारी सुविधा को शुरू करने से पहले पांच स्पेशल सदस्यों की कमेटी का गठन किया था और इन सभी सदस्यों ने वन नेशन वन कार्ड को आरंभ करने के लिए अपना महत्वपूर्ण सहयोग एवं सुझाव दिया था।

  • इस कार्ड के उपभोक्ताओं को पूरे देश की सरकारों द्वारा इसकी सुविधाएं स्वीकार की जाएगी और इसे मान्य करार किया जाएगा।

  • इस कार्ड के धारक पार्किंग टोल शुल्क, शॉपिंग मॉल में पेमेंट करने के लिए, अपने एटीएम से नकदी कैश निकालने के लिए एवं आदि अन्य सुविधाओं का लाभ उठाने के लिए इसका इस्तेमाल कर सकेंगे।

  • यह कार्ड एक प्रकार से एटीएम कार्ड की तरह भी कार्य करने के लिए सक्षम होगा।

  • इस कार्ड के रखने वाले उपभोक्ताओं को अलग-अलग कार्ड को रखने की आवश्यकता नहीं होगी।

  • अभी वर्तमान समय में देश के 25 निजी तथा सरकारी बैंक इस कार्ड की सुविधा को उपभोक्ताओं को मुहैया कराने का काम शुरू कर रहे हैं।

  • इस कार्ड की सुविधा दिल्ली राज्य में 2022 तक सभी मेट्रो स्टेशनों पर उपलब्ध हो जाएगी।

वन नेशन वन कार्ड की सुविधा प्राप्त करने के लिए पात्रता

इस कार्ड को प्राप्त करने के लिए सरकार ने कुछ महत्वपूर्ण पात्रता मापदंड को सुनिश्चित किया है और इसकी जानकारी इस प्रकार से नीचे निम्नलिखित हैं।

  • भारत का मूल निवासी :-

    इस कार्ड को बनवाने वाला व्यक्ति भारत का मूलनिवासी होना अनिवार्य है।

  • बैंक में खाता :-

    इस कार्ड को बनवाने के लिए सर्वप्रथम आवेदक के पास उसका किसी भी बैंक में खाता होना अनिवार्य है।

वन नेशन वन कार्ड के लिए आवश्यक दस्तावेज

इस कार्ड को प्राप्त करने के लिए आपको आवेदन देना होगा और आवेदन करते समय आपको कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेजों की जरूरत पड़ेगी, इसकी जानकारी इस प्रकार से नीचे निम्नलिखित है।

  • आधार कार्ड :-

    एक राष्ट्र एक कार्ड की सुविधा को प्राप्त करने के लिए आवेदकों के पास उसका आधार कार्ड होना चाहिए।

  • राशन कार्ड :-

    कार्ड की सुविधा प्राप्त करने वाले लाभार्थियों के पास राशन कार्ड भी होना चाहिए और यह आवेदन देते समय आपके काम में आएगा।

  • पहचान प्रमाण पत्र :-

    इसके आवेदकों को किसी भी प्रकार के एक पहचान प्रमाण पत्र की आवश्यकता होगी।

  • निवास प्रमाण पत्र :-

    आपके निवास को प्रमाणित करने के लिए और कार्ड को प्राप्त करने के लिए आवेदक व्यक्ति के पास निवास प्रमाण पत्र होना चाहिए।

  • पासपोर्ट साइज फोटो :-

    कार्ड को बनवाने वाले व्यक्ति के पास उसका दो नवीनतम पासपोर्ट साइज फोटो लगेगा।

  • एक स्थाई मोबाइल नंबर :-

    कार्ड से संबंधित सभी प्रकार की जानकारी को प्राप्त करने के लिए आवेदकों को एक स्थाई मोबाइल नंबर देना होगा।

वन नेशन वन मोबिलिटी कार्ड को प्राप्त करने के लिए आवेदन प्रक्रिया

इसके लिए आपको नीचे जानकारी को पढ़ना होगा और उसी हिसाब से आपको आगे का कार्य करना होगा।

  • कार्ड बनवाने के लिए सर्वप्रथम आवेदकों को अपने नजदीकी बैंक में जाना अनिवार्य है।

  • अब संबंधित बैंक से आपको वन नेशन वन मोबिलिटी कार्ड प्राप्त करने के लिए एक आवेदन फॉर्म प्राप्त करना है।

  • अब इस आवेदन फॉर्म में आपको पूछी जा रही आवश्यक जानकारियों के साथ आवश्यक दस्तावेजों की प्रतिलिपिओं को भी संलग्न करना है।

  • इतनी प्रक्रिया को पूरा करने के साथ आपको अपने आवेदन फॉर्म को उसी बैंक में जमा करवाना है, जहां से आप ने अपने आवेदन फॉर्म को प्राप्त किया है।

  • इस प्रकार से आप एनसीएमसी कार्ड के लिए अपना आवेदन पूरा करेंगे और आपका आवेदन सत्यापन होने के पश्चात स्वीकार कर लिया जाता है और आपको कार्ड यीशु कर दिया जाता है।

नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड कैसे प्राप्त करे (How to Get National Common Mobility Card, One Nation, One card Online Apply, Bank list, Paytm) –

सर्वसुविधा युक्त यह कार्ड भारत सरकार ने 25 भारतीय बैंको के साथ मिलकर मार्केट में लाने का फैसला किया है. अब तक प्राप्त खबरों के मुताबिक यह कार्ड इन बैंको में डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड और प्रीपेड़ कार्ड के रूप में उपलब्ध होगा. नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड प्राप्त करने के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करना होगा. यह रजिस्ट्रेशन एनसीएमसी की वेबसाइट पर जाकर किया जा सकता है.

नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड का विकास

28 दिसंबर  को राष्ट्रीय कॉमन मोबिलिटी कार्ड प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा विकसित किया गया.  जिसका मुख्य कार्य देशभर में मेट्रो सेवाओं एवं टोल टैक्स सहित अन्य प्रकार के परिवहन शुल्क का भुगतान करना होगा. यह एक तरह से वन नेशन वन मोबिलिटी कार्ड के रूप में भारत के नागरिकों द्वारा इस्तेमाल किया जा सकेगा. साथ ही भारत में पहली ड्राइवरलेस ट्रेन को भी प्रधानमंत्री मोदी द्वारा हरी झंडी दिखाई गई. वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए प्रधानमंत्री जी ने इस बात की जानकारी दी.

प्रधानमंत्री रोजगार लोन सब्सिडी योजना – 5 से 10 लाख रूपये तक लोन प्राप्त कर सकते हैं जानिए कैसे.

ऑटोमेटिक फेयर कलेक्शन सिस्टम (एएफसी)

भारत में ऐसा पहली बार होगा कि ऑटोमोबाइल तरीके से ऑटोमेटिक फेयर कलेक्शन सिस्टम लागू किया जाएगा. एएफसी सिस्टम के जरिए किसी भी ट्रांजैक्ट ऑपरेटर की मदद से स्वचालित फेयर कलेक्शन प्रक्रिया नागरिकों द्वारा की जा सकेगी. अब तक विदेशों में ही ऐसी प्रक्रिया जारी की गई है परंतु भारत में पहली बार एएफसी प्रक्रिया चालू करने की तैयारी पूरी हो चुकी है. इसको क्रियान्वित करने के लिए वेंडर लॉगइन से बचने के लिए इंटर अपने टेबल सिस्टम तैयार किए गए हैं. मेक इन इंडिया पहल के तहत नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड तैयार किया गया है. केंद्रीय सरकार ने यह कार्य महानगरों एवं अन्य परिवहन प्रणालियों में बाधाओं को दूर करके यात्रा सुगम बनाने के लिए किया है.

भारत में पहली बार ड्राइवरलेस ट्रेन का संचालन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने दिल्ली मेट्रो की मजेंटा लाइन से भारत की पहली ड्राइवरलेस ट्रेन का परिचालन कर दिया है और इसका उद्घाटन 28 दिसंबर को किया जा चुका है. यह लाइन एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन पर पूरी तरह संचालित की जाएगी जिसमें नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड की सेवाएं भी प्रारंभ कर दी जाएगी. मजेंटा लाइन जो जनकपुरी पश्चिम से होती हुई बॉटनिकल गार्डन को जोड़ती है उस पर ड्राइवरलेस ट्रेन संचालित की जा चुकी है. यह नवीनतम प्रारंभ दिल्ली एनसीआर के निवासियों के लिए यात्रा को और भी ज्यादा आरामदायक एवं उन्नत गतिशील बनाने का काम करेगा. डीएमआरसी ने यह भी घोषणा की है कि 37 किलोमीटर की मजेंटा लाइन में ड्राइवरलेस ट्रेन चलाने के बाद वे साल 2021 के मध्य तक 57 किलोमीटर की पिंक लाइन कॉरीडोर जो शिव विहार से मजलिस पार्क तक जाएगी उसमें भी ड्राइवरलेस नेटवर्क को क्रियान्वित किया जाएगा. ड्राइवरलेस नेटवर्क को दिल्ली मेट्रो के जरिए 94 किलोमीटर तक पहुंचा दिया जाएगा जो कुल मेट्रो का लगभग 9% है. इन सभी ड्राइवरलेस ट्रेनों में यात्रा करने वाले नागरिक नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड का उपयोग आसानी से कर सकेंगे.

भारत में ऐसा पहली बार होने जा रहा है जहां पर कोई रेल गाड़ी बिना ड्राइवर के पटरी पर दौड़ेगी. मशीन अपने आप ही सेट किए गए दिशा निर्देशों के अनुसार काम करेगी जिससे मानव त्रुटियों की संभावनाएं खत्म हो सकेंगे. भारत देश प्रौद्योगिकी के मामले में बहुत आगे बढ़ रहा है उसका एक सबसे बड़ा एग्जांपल ड्राइवरलेस मेट्रो ही है. ड्राइवरलेस ट्रेन तकनीक में जॉब मानक तय किए गए हैं उन्हें ग्रेड ऑफ ऑटोमेशन का नाम दिया गया है. ग्रेट ऑफ ऑटोमेशन के पहले चरण में गाड़ियों को एक चालक द्वारा चलाया जाता है और अन्य दूसरे एवं तीसरे चरण में ऑपरेटिंग दरवाजों के लिए चालकों की भूमिका कम हो जाती है. ऐसे में आपात की स्थिति में ही गाड़ियों की शुरुआत और ठहराव को स्वचालित कर दिया जाता है. यदि चौथे चरण की बात करें तो गाड़ियों को पूरी तरह से बिना चालक के छोड़ दिया जाता है जिसे ड्राइवरलेस वाहन कहा जाता है. मजेंटा लाइन पर 3 सेवाओं के लिए ड्राइवर तरीका अपनाया गया है. इसके साथ ही सोमवार से दिल्ली मेट्रो में नेशनल एक्सप्रेस मोबिलिटी कार्ड का इस्तेमाल एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन पर प्रारंभ कर दिया जाएगा.

पीएम मोदी हेल्थ आईडी कार्ड योजना – नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन के अंतर्गत अब हर नागरिक का बनेगा यूनिक हेल्थ आईडी कार्ड, जानिए इसके लाभ.

भारत सरकार ने इस नए कार्ड को लॉंच करके नागरिकों की कई परेशानियों का समाधान किया है. यह विकासशील भारत का विकसित टेक्नालॉजी की ओर नया कदम है, जिसके लिए अब वह विदेशी तकनिकों पर निर्भर नहीं रहेगा. यह नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड कॉमन मेन (आम आदमी) को हर तरह के और हर जगह भुगतान में सहायता करेगा. आशा करते है कि भारत तकनीकी क्षेत्र में इसी तरह से उत्तरोत्तर प्रगति के पथ पर अग्रणी हो और यहाँ का नागरिक विदेश कि तर्ज पर सुविधा पा सके.

FAQ

Q : वन नेशन वन कार्ड को जारी करने का किसका निर्णय था ?

ANS :- केंद्र सरकार का।

Q : क्या वन नेशन वन मोबिलिटी कार्ड को बनवाने के लिए इसके उपभोक्ताओं को किसी भी प्रकार का अतिरिक्त शुल्क देना होगा ?

ANS :- जी बिल्कुल भी नहीं।

Q : वन नेशन वन मोबिलिटी कार्ड धारकों को क्या-क्या सुविधाएं मिलेगी ?

ANS :- शॉपिंग की सुविधा, मेट्रो टिकट प्राप्त करने की सुविधा, कैश निकालने से लेकर और भी अनेकों सुविधाएं प्राप्त होगी।

Q : वन नेशन वन मोबिलिटी कार्ड को लॉन्च करने के लिए कितने सदस्यों की बैठक की गई थी ?

ANS :- पांच सदस्यों की स्पेशल कमेटी का निर्माण किया गया था।

Q : वन नेशन वन मोबिलिटी कार्ड की सुविधा कब तक संपूर्ण रुप से लोगों को मुहैया कर दी जाएगी ?

ANS :- वर्ष 2022 तक।

Other links –

One comment

  1. GOOD DISIZN

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *