PM E-vidya Program : पहली से बारहवीं तक हर क्लास के लिए होगा अलग टीवी चैनल, जाने पूरी योजना विस्तार से

पीएम ई विद्या योजना पोर्टल छात्र पंजीकरण फॉर्म 2020-21 (PM E-Vidya Yojana Student Registration new portal, check Course List, Apply Online, digital learning education programme, one class one channel)

कोरोनावायरस का संक्रमण दिन-प्रतिदिन पूरे देश में भयंकर रूप से अपने पैर पसार रहा है। जबकि कोरोनावायरस से बचाव के लिए पूरे देश को ताला भी लगा दिया गया है लेकिन उसके बावजूद भी कोरोनावायरस ने लोगों को ग्रसित करना बंद नहीं किया है। लगातार 67 दिन के इस तालाबंदी की अवधि के दौरान दिन-प्रतिदिन संक्रमित लोगों की संख्या बढ़ती हुई नजर आ रही है। संक्रमण से बचाव के लिए निरंतर लॉक डाउन की अवधि बढ़ाई जा रही है जिसके चलते अब चौथा लॉक डाउन भी प्रधानमंत्री द्वारा घोषित कर दिया गया है। भारत की अर्थव्यवस्था के साथ-साथ भारत की भावी पीढ़ी अर्थात भारत के भविष्य के निर्माता विद्यार्थियों का जीवन भी उलट-पुलट हो गया है क्योंकि वह अपनी शिक्षा से दूर होते जा रहे हैं। भावी पीढ़ी के भविष्य को ध्यान में रखते हुए अब भारत सरकार द्वारा e-vidya योजना का आरंभ किया गया है। हम अपने इस पोस्ट के जरिए आपको ही विद्या के बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं।

PM E-Vidya Yojana Student Registration Form

योजना का नामप्रधानमंत्री ई विद्या योजना
में प्रारंभभारत
द्वारा लॉन्च किया गयानरेंद्र मोदी
द्वारा घोषित किया गयानिर्मला सीतारमण
घोषणा की तिथि17 वीं मई 2020
कार्यान्वयन की तिथि30 वीं मई 2020
लाभार्थियों को लक्षित करेंछात्र
पंजीकरण की प्रक्रियाऑनलाइन मोड

किफायती किराया आवास योजना : जानें मोदी सरकार कैसे देगी गरीबों और प्रवासी मजदूरों को किफायती दाम पर घर यहाँ क्लिक करे 

योजना की मुख्य विशेषताएं

  • बेहतर शिक्षा:- इस योजना के जरिए  स्कूल कॉलेज और विश्वविद्यालयों से जुड़े सभी विद्यार्थियों को पाठ्यक्रम प्रदान किए जाएंगे ताकि वह अपनी पढ़ाई से जुड़े रहें और इस लॉक डाउन के समय में शिक्षा से दूर ना हो।
  • शिक्षा के प्रसार के लिए पोर्टल:- इस योजना के तहत स्कूल कॉलेज और विश्वविद्यालय की शिक्षा को सुचारू रूप से एक मार्ग प्रदान किया जाएगा ताकि सभी बच्चों तक शैक्षणिक ज्ञान पहुंचाया जा सके।
  • डीटीएच का चैनल:- केंद्र सरकार यह जानती है कि सभी छात्र आसानी से इंटरनेट तक नहीं पहुंच सकते हैं परंतु सब के पास टीवी और केबल कनेक्शन अवश्य मौजूद है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए जिन बच्चों के पास इंटरनेट कनेक्शन मौजूद नहीं है केंद्र सरकार ने 12 डीटीएच अध्ययन चैनल लांच करने का प्लान बनाया है।
  • 1 चैनल 1 वर्ग:- इस योजना के जरिए एक डीटीएच चैनल को केवल एक ही विषय पर आधारित रखा जाएगा। ताकि बच्चों को समझने में आसानी हो और वह आसानी से चैनल के माध्यम से अपने विषय को सुचारू रूप से समझ सकें।
  • अन्य शिक्षा प्रसार मीडिया:- सामुदायिक रेडियो और अन्य प्रशिक्षित रेडियो स्टेशन को भी इस योजना के अंतर्गत जोड़ा गया है। बेहतर रूप से छात्रों को शैक्षणिक ज्ञान देने के लिए पॉडकास्ट भी लांच किए जाएंगे।
  • विकलांग छात्रों के लिए विशेष सामग्री:- बद्री और नेत्रहीन छात्रों के लिए भी केंद्र सरकार द्वारा विशेष इंतजाम किए गए हैं। विशेषज्ञों की विशेषज्ञों की सहायता से ऐसे विकलांग विद्यार्थियों के लिए अलग से अध्ययन सामग्री तैयार की जा रही है।
  • अध्ययन सामग्री की उपलब्धता:- वित्त मंत्री द्वारा यह बताया गया है कि जो छात्र प्रधानमंत्री विद्या योजना वेबसाइट में अपना पंजीकरण करेंगे उन्हें इस पोर्टल के जरिए अध्ययन सामग्री डाउनलोड करने का भी लाभ होगा।
  • कोई शुल्क नहीं:- केंद्र सरकार ने छात्रों की सहायता का लक्ष्य साधते हुए इस वेब पोर्टल के अंतर्गत किसी भी शुल्क का जिक्र नहीं किया है। इसका सीधा अर्थ यह है कि केंद्र सरकार द्वारा जारी इस वेब पोर्टल में विद्यार्थी पंजीकरण के दौरान किसी भी शुल्क का भुगतान नहीं करना होगा।
  • मनोवैज्ञानिक योजना:- विद्यार्थियों के भविष्य की चिंता करते हुए उन्होंने इस कार्यक्रम के साथ-साथ मनोवैज्ञानिक और सामाजिक समर्थन प्रदान करने का भी फैसला लिया है। इस मनोवैज्ञानिक योजना के दौरान सरकार यह सुनिश्चित करेगी कि छात्र शिक्षक और परिवार के सदस्य मानसिक रूप से कितने सक्रिय हैं।
  • दीक्षा मंत्र:- जो विद्यार्थी इस पोर्टल के जरिए अपना पंजीकरण दर्ज कराएंगे उनकी ऑनलाइन कक्षाएं जारी रखने के लिए केंद्र और राज्य दोनों सरकारें मिलकर काम करेंगे। सरकार द्वारा बच्चों के पाठ्यक्रमों के अनुसार डिजिटल इंफ्रास्ट्रक्चर फॉर नॉलेज शेयरिंग प्लेटफॉर्म भी बनाया गया है। यह एक ऐसा प्लेटफॉर्म है जो वन नेशन वन डिजिटल प्लेटफॉर्म का संचालन करता है।
  • उचित शिक्षा सुनिश्चित:- राष्ट्रीय संस्थापक साक्षरता और न्यूमैरेसी ने मिशन के साथ मिलकर केंद्र सरकार द्वारा यह भी सुनिश्चित किया जाएगा कि छोटे बच्चों से लेकर कक्षा 5 तक सीखने वाले सभी बच्चे इस योजना से जुड़े और इस योजना से परिचित हो। केंद्र सरकार की यह पर्व परियोजना 2020 के अंत से शुरू होकर साल 2025 के अंत तक पूरी की जाएगी।
  • सभी छात्रों के लिए प्रावधान:- प्रधानमंत्री विद्या योजना स्कूली छात्रों के साथ-साथ कॉलेज और विश्वविद्यालय छात्रों के लिए भी बनाया गया है।
  • विश्वविद्यालयों के लिए दी गई अनुमति:- केंद्र सरकार द्वारा प्रतिष्ठित 100 विश्वविद्यालयों को ऑनलाइन शिक्षा प्रसारण के लिए पहले ही अनुमति दे दी गई है और इस योजना के तहत भी उन्होंने पढ़ाई को जारी रखने का अनुरोध किया है।

स्वयं पोर्टल फ्री चेनल कोर्स रजिस्ट्रेशन प्रोसेस जानने के लिए यहाँ क्लिक करे 

आभासी शिक्षा के लिए टैक सिस्टम

  • स्वयंप्रभा डीटीएच चैनल:- जैसा कि बताया गया है इस योजना के अंतर्गत डीटीएच टेलीविजन चैनलों के माध्यम से बच्चों को शिक्षा प्रदान की जाएगी। इसी रणनीति के अनुसार तीन अलग-अलग स्वयंप्रभा डीटीएच चैनलों का लांच किया जाना आरंभ कर दिया गया है। धीरे धीरे अन्य 12 चैनल भी टेलीविजन शिक्षा प्रक्रिया में जोड़ दिए जाएंगे जिनका मुख्य लक्ष्य एक विशेष चैनल केवल एक ही विशेष विषय को समर्पित होगा।
  • स्काइप सत्र:- जैसे वर्चुअल वीडियो संचार प्लेटफार्म का उपयोग पहले कम्युनिकेशन के लिए किया जाता था वैसे ही वर्तमान में इन प्लेटफार्म का इस्तेमाल अब शैक्षिक और इंटरएक्टिव सत्र प्रसारित करने के लिए किया।
  • टीवी पर शैक्षणिक सामग्री:- एयरटेल और टाटा स्काई जैसे दो डीटीएच बाजार में ऐसे मौजूद है जो शैक्षणिक सामग्री के प्रसारण में डीटीएच कनेक्शन प्रदान करने का काम करेंगे। लगभग 4 घंटे तक लगातार टीवी के जरिए डीटीएच कनेक्शन लगवाने के बाद बच्चे आसानी से ऑनलाइन पढ़ाई कर पाएंगे।
  • अधिकारिक दीक्षा मंच:- संगठन ई लर्निंग संसाधनों को सरकार द्वारा जारी की गई साईट पर जाकर लॉगइन करना होगा ताकि वह अपना योगदान इस योजना में दे सकें।
  • ई पाठशाला कार्यक्रम:- इस योजना के तहत इस पोर्टल में लगभग 200 से ज्यादा अधिक पुस्तकें अपलोड किया जाने की योजना बनाई जा चुकी है।

कैसे करे डाउनलोड किसान रथ मोबाइल एप्प – मंडी तक भेजा जायेगा  माल, घर बैठे गाड़ी बुक करें प्रक्रिया यहाँ क्लिक करके पढ़े 

ऑनलाइन लर्निंग पोर्टल पर पंजीकरण कैसे करें?

इस घोषणा को वित्त मंत्री द्वारा घोषित किया गया जब इस पोर्टल के बारे में विस्तारपूर्वक भी बताया गया। उन्होंने यह जानकारी दी कि जो छात्र इस योजना के तहत वेबसाइट से जुड़कर ऑनलाइन पढ़ाई करना चाहते हैं उन्हें आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर अपना लॉगिन और पंजीकरण करना होगा। यह ऑनलाइन पाठ्यक्रम ऐसा पाठ्यक्रम है जो पाठ्यक्रम सूची अथवा नामांकन पर प्रकाश डालता है। उन्होंने यह भी बताया है कि इस वेबसाइट को जल्द ही लांच करके आरंभ कर दिया जाएगा ताकि ऑनलाइन शिक्षा परियोजना प्रदान करते हुए देश के भविष्य को मजबूत बनाया जा सके। उन्होंने यह भी कहा है कि इस ऑनलाइन शिक्षा के दौरान परियोजना पर कड़ी नजर रखी जाएगी।

सरकार द्वारा जारी इस योजना के तहत देश में हो रहे नुकसान की भरपाई अब विद्यार्थियों को नहीं भरनी पड़ेगी। क्योंकि सरकार का यह मुख्य कदम अब विद्यार्थियों के लिए उठाया गया है और उनके भविष्य को ध्यान में रखते हुए प्रत्येक विद्यार्थी को इस वेबसाइट पोर्टल से अवश्य जुड़ना चाहिए ताकि वह अपने देश के भविष्य और विकास दोनों में अपना महत्वपूर्ण योगदान दे सकें।

  • प्रधानमंत्री विद्या योजना किसके द्वारा आरंभ की जा रही है?

इस योजना को केंद्र सरकार के नेतृत्व में वित्त मंत्री द्वारा आरंभ की जा रही है।

  • इंटरनेट के अलावा सरकार द्वारा और कौन से अन्य संचार के माध्यमों का उपयोग किया जाएगा?

इस योजना में इंटरनेट के अलावा सरकार द्वारा छात्रों तक शिक्षा पहुंचाने के लिए दूरसंचार और रेडियो चैनलों का उपयोग किया जाएगा।

  • बच्चों को पढ़ाई जाने वाला पाठ्यक्रम कौन तैयार करेगा?

बच्चों को पढ़ाए जाने वाले पाठ्यक्रम को तैयार करने के लिए प्रशिक्षित शिक्षकों और शिक्षाविदों की सहायता ली जाएगी।

  • आधिकारिक पोर्टल पता क्या है?

यदि कोई छात्र वर्चुअल कक्षाओं में अपना पंजीकरण कराना चाहता है तो उसे www.diksha.gov.in पर जाना होगा. परंतु ध्यान रहे अभी पंजीकरण प्रक्रिया चालू नहीं की गई है।

  • क्या ऐप छात्रों की मदद करेगा?

सरकार द्वारा दीक्षा मोबाइल एप्लीकेशन का शुभारंभ जल्द ही किया जाएगा। इस एप्लीकेशन को छात्रों की जरूरत के हिसाब से ही तैयार किया जाएगा इसलिए उन्हें ऐसी कक्षाओं के दौरान लैपटॉप अथवा फोन के आगे बैठने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। वे मोबाइल ऐप के जरिए लॉगिन करने में सक्षम रहेंगे ताकि वे आसानी से शिक्षा प्राप्त कर सकें।

अन्य पढ़े

  1. एमएसएमई क्या है 
  2. जिला उद्योग केंद्र से लोन कैसे प्राप्त करें
  3. मोदी जी का आत्मनिर्भर भारत अभियान
  4. प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *