प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना का टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर | PM Kalyan Yojana Helpline Number

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना का टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर, PM Kalyan Yojana Helpline Number

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत गरीबों को मुफ्त में अनाज दिया जा रहा है। यह योजना कोरोनावायरस महामारी के फैलने के कारण हुए लॉकडउन की वजह से केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई थी।योजना का मुख्य उद्देश्य गरीब जनता को मुफ्त में अनाज देना था। शुरुआत में जब वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस योजना को शुरू किया था तो इसकी अंतिम तिथि 30 जून 2020 निर्धारित की गई थी जिसके अंतर्गत लगभग 81 करोड लोगों को मुफ्त में अनाज दिया जाना था परंतु अब तक महामारी के प्रकोप के कारण देश बहुत ही कठिन परिस्थिति से गुजर रहा है जिसका असर सबसे अधिक गरीब जनता पर देखा गया है।

PM Garib Kalyan Yojana helpline

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना

अगर आपको योजना का लाभ नहीं मिला हैं तो प्रधानमंत्री को सीधे शिकायत करें, जानिए कैसे

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना अंतिम तिथी

महामारी के बढ़ते रूप के कारण अभी भी सही तरह से रोजगार के जरिए शुरू नहीं हुए हैं और अब तक कई श्रमिक बेरोजगार हो चुके हैं ऐसे में जरूरी है कि उन्हें कुछ वक्त तक और मुफ्त में अनाज दिया जाए इसीलिए केंद्र सरकार द्वारा यह निर्णय लिया गया है कि इस मुफ्त आराधना को नवंबर तक बढ़ा दिया जाए इस तरह सर्विस के अंतिम तिथि 30 नवंबर 2020 निर्धारित की गई है।

 पीएम किसान FPO योजना- –मोदी सरकार किसानों को दे रही है 15 लाख रुपए, जानिए क्या है योजना

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना का टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर PM Kalyan Yojana Helpline Number

यहाँ  गया देखा गया है कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत गरीबों को सही तरह से अनाज नहीं दिया जा रहा है अगर आप और आपके आसपास के लोग इस तरह की समस्या से जूझ रहे हैं तो आप टोल फ्री नंबर पर शिकायत कर सकते हैं।

  1. टोल फ्री नंबर :- 1800-180-2087
  2. टोल फ्री नंबर :- 1800-212-5512

पीएम किसान योजना का पैसा नहीं आया तो शिकायत यहाँ करें.

कौन जिम्मेदार है मुफ्त अनाज योजना के लिए

केंद्र सरकार द्वारा तो यह निर्णय लिया गया है कि नवंबर तक गरीबों को मुफ्त अनाज दिया जाए परंतु कई स्थानों के खाद्य अनाज डीलर इस दिशा में बहुत सी बेईमानी कर रहे हैं और गरीबों को अनाज नहीं दे रहे हैं. यह एक दंडनीय अपराध है जिसके खिलाफ सरकार ने कदम उठाने का फैसला लिया है परंतु इसके लिए जरूरी है कि पीड़ित जनता इस तरह की गतिविधि की सूचना प्रशासन को दें।

केंद्र सरकार 1921 से कॉल कर देश के सभी नागरिकों का करेगी टेलीफोनिक सर्वेक्षण, जानिए क्या हैं यहाँ क्लिक करे

शिकायत के लिए ऑफलाइन तरीका

इस तरह की समस्या के लिए पीड़ित जनता खाद्य आपूर्ति नियंत्रक कार्यालय या फिर राज्य के उपभोक्ता सहायता केंद्र पर जाकर भी शिकायत कर सकते हैं.

एक देश एक राशन कार्ड : देश के किसी भी कोने में नवंबर तक मिलेगा मुफ्त अनाज, जानिए कैसे

क्या है प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना

इस योजना के अंतर्गत देश के सभी गरीबों को सरकार की तरफ से 5 किलो गेहूं अथवा चावल एवं 1 किलो दाल परिवार के प्रत्येक व्यक्ति के लिए दी जा रही है। लॉकडाउन के कारण सभी तरह के व्यवसाय बंद कर दिए गए थे जिस कारण श्रमिकों को अपने गांव वापस लौटना पड़ा और इस तरह उनको अपने रोजगार से हाथ धोना पड़ा जिस कारण उनके पास जीवन यापन के लिए कोई जरिया नहीं रहा ऐसे में केंद्र सरकार ने गरीबों को मुफ्त में अनाज देने के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना शुरू की।

राशन कार्ड में नए सदस्य का नाम कैसे जोड़ें : जाने ऑनलाइन/ऑफलाइन प्रक्रिया

योजना का क्रियान्वयन

शुरुआत में इस योजना के अंतर्गत उन्हीं लोगों को अन्न दिया जा रहा था जिनके पास राशन कार्ड है परंतु आप इस योजना के अंतर्गत सभी गरीबों को मुफ्त में राशन दिया जा रहा है।

इस योजना के बारे में केंद्रीय खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के मंत्री रामविलास पासवान ने बताया की योजना के अंतर्गत अप्रैल में 93 फ़ीसदी मई में 91 फ़ीसदी एवं जून में 71 फ़ीसदी लाभार्थियों को अनाज मुफ्त में दिया गया इस योजना के अंतर्गत लगभग 116 लाख मैट्रिक टन अनाज मुफ्त में बांटा जा चुका है।

केंद्र सरकार पूरी तरह से कोशिश कर रही है कि प्रवासी श्रमिकों को इस आपदा के समय गंभीर समस्याओं से जूझना ना पड़े इसके लिए देश एवं प्रदेश स्तर पर रोजगार के लिए भी कार्य किए जा रहे हैं. यह बहुत ही कठिन समस्या है महामारी के कारण देश के सभी वर्गों को आर्थिक संकट का सामना करना पड़ रहा है और देश भी बहुत बड़े आर्थिक संकट से गुजर रहा है . ऐसे में सबसे अधिक परेशान ऐसे मजदूर वर्ग हो जाते हैं जिनके पास दो वक्त का खाना जुटा पाना भी बहुत मुश्किल हो गया है. इस तरह से प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना बहुत ही कारगर साबित हुई है परंतु अगर आप इस योजना के अंतर्गत किसी तरह की लापरवाही को समझ रहे हैं तो योजना संबंधी विभाग में इसके खिलाफ शिकायत जरूर करें।

Other Links

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *