PM गरीब कल्याण रोजगार अभियान : 125 दिन में 25,250 रूपए कमाने का मौका दे रही सरकार, ऐसे लें फायदा

कोरोनावायरस के इस दौर में गरीबों की हालत बद से बद्तर हो गई हैं. कुछ लोगों की नौकरी चली गई हैं तो कुछ लोग अपने घर वापस नहीं पहुँच पा रहे थे. कुछ लोगों को भुखमरी ने सताया. इनमें मुख्य रूप में देहाड़ी मजदूर थे, जोकि रोज कमाकर अपना पेट भरते थे. मुश्किल की इस घड़ी में इनका साथ दिया हमारी देश की केंद्र एवं राज्य सरकारों ने. प्रधानमंत्री जी ने ऐसे गरीबों की मदद करने के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना शुरू की. और साथ ही उन्हें अपने गांव वापस पहुँचने में मदद भी की. और अब जिन मजदूरों का इस संकटकाल में रोजगार छिन गया हैं और वे अपने गांव वापस आ गये हैं, उनके लिए ‘प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान’ शुरू करने जा रही हैं. इसके बारे में नीचे इस लेख में बात करते हैं –

PM Garib Kalyan Rojgar Abhiyan

लांच की जानकारी

योजना का नामप्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान
लांच किया जायेगाप्रधानमंत्री मोदी जी द्वारा
लांच होगावीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के जरिये
लाभार्थीलॉकडाउन से प्रभावित हुए गरीब एवं मजदूर
लाभरोजगार की व्यवस्था
कुल बजट50 हजार करोड़ रूपये

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत दिया जा रहा है, मुफ्त अनाज, लाभ पाने के लिए यहाँ पढ़ें

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान की विशेषताएं

  • अभियान का उद्देश्य :- प्रधानमंत्री जी द्वारा लांच किये जाने वाले इस अभियान का उद्देश्य हैं, लॉकडाउन के कारण जिन गरीब लोगों का रोजगार छिन गया हैं उन्हें रोजगार प्रदान करने में मदद करना.
  • गरीबों को लाभ :- इस योजना से ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले गरीब लोगों को फायदा मिलेगा. इसके साथ ही ऐसे लोगों के लिए भी विशेष प्रावधान निर्धारित किये जायेंगे, जोकि रिवर्स माइग्रेशन के अंतर्गत अपने गांव में वापस लौटे हैं.
  • अभियान की अवधि :- केंद्र सरकार द्वारा शुरू किये जाने वाले इस रोजगार अभियान की कुल अवधि 125 दिन की होगी.
  • दिए जाने वाले काम :- इस अभियान के तहत 25 तरह के काम लाभार्थियों के लिये निर्धारित किये जायेंगे, जिसकी सूची भी सरकार द्वारा जल्द ही जारी कर दी जायेगी. इस अभियान के तहत लाभार्थियों को जो काम दिए जायेंगे, वह मिशन मोड के आधार पर प्रदान किये जायेंगे.
  • कुल लाभार्थी :- इस योजना के कुल लाभार्थी लगभग 60 लाख कामगार होंगे जोकि देश के 6 राज्यों में से चुने गये 120 जिलों से होंगे. इसका चयन सरकार इस प्रकार करेगी कि सबसे ज्यादा जिस राज्य के जिस जिले में प्रवासी मजदूर अपने गांव लौटे हैं, उनको इसका फायदा मिलेगा.
  • चुने गये राज्य :- इस अभियान में चुने जाने वाले राज्य राजस्थान, उत्तरप्रदेश, बिहार, मध्यप्रदेश, ओडिशा एवं झारखंड आदि हैं. इन राज्यों में लौटे प्रवासी मजदूरों को इसका लाभ देने से वापस लौटने वाले कुल प्रवासी मजदूरों का 2/3 हिस्सा कवर हो जायेगा.
  • राज्य सरकार द्वारा की गई स्किल मैपिंग का उपयोग :- बिहार, उत्तरप्रदेश एवं मध्यप्रदेश जैसी राज्य सरकारों ने अपने राज्य में वापस आये प्रवासी मजदूरों के कौशल के आधार पर उनकी मैपिंग की. ताकि उन्हें उनके कौशल के आधार पर रोजगार मिल सके. प्रधानमंत्री मोदी जी के इस गरीब कल्याण रोजगार अभियान में इस डेटा का उपयोग भी किया जायेगा. और यहाँ के लाभार्थियों को उसके अनुसार काम मिल सकेगा.
  • ग्रामीण क्षेत्र के इन्फ्रास्ट्रक्चर का निर्माण :- केंद्र सरकार इस अभियान के तहत गरीबों को रोजगार के साथ ही ग्रामीण क्षेत्र के इन्फ्रास्ट्रक्चर के निर्माण पर भी ध्यान केन्द्रित करेगी.

PM आत्मनिर्भर भारत ऋण योजना के तहत देश के हर वर्ग के लोगों को दिया जा रहा है फायदा, यहाँ पढ़ें

अभियान में शामिल होने वाले विभाग एवं मंत्रालय

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान को 12 अलग – अलग विभाग एवं मंत्रालय के बीच कोआर्डिनेशन के साथ संचालित किया जायेगा. वे 12 विभाग एवं मंत्रालय इस प्रकार हैं –

  • ग्रामीण विभाग
  • पंचायती राज
  • सड़क परिवहन एवं राजमार्ग
  • माइंस
  • पेयजल एवं स्वच्छता
  • पर्यावरण
  • रेलवे
  • पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस
  • नई और नवीकरणीय एनर्जी
  • बॉर्डर रोड्स
  • टेलिकॉम
  • कृषि आदि.

भारत के स्वतंत्र होने के बाद देश में पहली बार ऐसी स्थिति आई हैं कि भारत में लॉकडाउन लगाया गया है. और इस बीच देश के करोड़ों प्रवासी मजदूर नौकरी छूट जाने की वजह से अपने – अपने घर वापस लौट गये हैं. केंद्र सरकार द्वारा शुरू किये जाने वाले इस अभियान से उन्हें एक नई दिशा मिलेगी.

Other links –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *