प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना 2020 (PMMSY)

प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना मछली पालन 2020 (Pradhan Mantri Matsya Sampada Yojana in Hindi – Blue Revolution, PM Fishery Scheme, PMMSY) [Application Process, Eligibility]

देश में कृषि कार्य करने वाले या पशुपालन जैसे किसानों के लिए बहुत सी योजनायें आती रहती हैं, जिससे उनका जीवन सुधर सके. लेकिन देश में जलीय क्षेत्र में कृषि करने वाले लोगों जैसे मछुवारों के लिए अब तक कोई ऐसी योजना नहीं बनी हुई है, जिससे जलीय जीवों एवं उत्पादों को भी बढ़ावा मिल सकें. तो अब ऐसे लोगों को भी परेशान होने की जरूरत नहीं है क्योंकि केन्द्रीय बजट 2019 में मछली पालन करने वाले एवं जलीय क्षेत्र में काम करने वाले लोगों के लिए एक योजना को शुरू करने की घोषणा की गई है. तो आइये इस योजना की क्या – क्या विशेषताएं हैं यह आपको विस्तार से बताते हैं.

Pradhan Mantri Matsya Sampada Yojana

 लांच की जानकारी 

क्र. म.योजना की जानकारी बिंदुयोजना की जानकारी
1.योजना का नामप्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना
2.योजना का लांचकेन्द्रीय बजट 2019 के दौरान
3.योजना की घोषणावित्त मंत्री श्रीमति निर्मला सीतारमण जी द्वारा
4.योजना की शुरुआतजल्द ही
5.योजना के लाभार्थीमछली पालन एवं जलीय क्षेत्र में काम करने वाले व्यक्ति यानि मछुआरे
6.योजना में संबंधित विभागमत्स्यिकी विभाग

 

प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के लाभ एवं विशेषताएं 

  • जलीय क्षेत्र को बढ़ावा :- देश में सभी क्षेत्र के लोगों को सहायता प्रदान करने के लिए कई योजनायें लांच की जाती हैं, लेकिन जलीय क्षेत्र ऐसा हैं जिसे अब तक बेहतर लाभ प्राप्त नहीं हो सका हैं. इस योजना के माध्यम से जलीय क्षेत्र को भी अन्य क्षेत्र की तरह समान लाभ प्राप्त होगा. ताकि जलीय क्षेत्र को भी बढ़ावा मिल सके.
  • मछली पालन को प्रोत्साहन :- इस योजना को मछली पालन को बढ़ावा दिये जाने के लिए भी शुरू किया गया हैं, क्योंकि यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण क्षेत्र हैं, जिससे मछली के उत्पादन में भी वृद्धि होगी.
  • मछुआरों तक ऋण की सुविधा :- इस योजना के माध्यम से मछुआरा समुदाय से संबंध रखने वाले लोगों के लिए ऋण की सुविधा आसान की जाएगी, ताकि जलीय क्षेत्रों में भी जलीय उत्पादों से संबंधित या अन्य को व्यवसाय करने में बढ़ावा मिले.
  • वित्तीय सहायता :- पिछले साल मोदी सरकार द्वारा इसके लिए एक फण्ड का आवंटन किया गया था, जोकि 7,522 करोड़ रूपये का था. इस फण्ड को मत्स्य पालन और एक्वाकल्चर इंफ्रास्ट्रक्चर डेवेलपमेंट फण्ड यानि एफआईडीएफ कहा गया था. इसी फण्ड से राज्य सरकार, सहकारी समितियों, व्यक्तियों और साथ ही उद्यमियों को उचित दरों के आधार पर इस योजना के लिए वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी.
  • बीमा कवरेज :- इस योजना के माध्यम से सरकार किसानों एवं समाज के लिए चलाई जा रही कल्याणकारी योजनाओं में मछली पालन एवं जलीय क्षेत्र में काम करने वाले मछुआरों को भी शामिल करना चाहती हैं. ताकि उन्हें भी दुर्घटना बीमा प्राप्त हो सके.
  • कुल लक्ष्य :- सरकार का सन 2020 तक 15 मिलियन टन तक का मछलियों के उत्पादन का लक्ष्य तय किया गया है, जिसे इस योजना के माध्यम से पूरा किया जायेगा.
  • नये विभाग का निर्माण :- इस योजना को प्रधानमंत्री मोदी जी ने ‘नीली क्रांति’ कहा है. और यह योजना सफलतापूर्वक लागू हो इसके लिए मोदी सरकार द्वारा एक अलग विभाग का भी निर्माण किया गया है. जिसका नाम है मात्स्यिकी विभाग. इस विभाग को इस योजना के तहत ही बनाया जा रहा है.
  • योजना में शामिल होने वाले कुछ मुख्य बिंदु :- इस योजना में इस नये विभाग के अंतर्गत इस क्षेत्र में होने वाली कमियों को दूर करने का प्रयास, साथ ही इसमें इंफ्रास्ट्रक्चर, उत्पादन, पैदावार, उत्पाद की गुणवत्ता एवं प्रबंधन सभी को किस तरह से नियंत्रित किया जा सकता है यह सब चीजें भी शामिल होंगी.

प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना शामिल होने वाले लोग 

  • मछली पालन या अन्य जलीय जीवों की खेती करने वाले लोग :- ऐसे लोग जोकि मछली पालन या फिर अन्य जलीय जीवों की भी खेती करते हैं, उन सभी को इस योजना में लाभ प्राप्त होगा.
  • जलीय कृषि करने वाले लोग :- ऐसे लोग जो जलीय जीवों की खेती के अलावा कुछ अन्य जलीय कृषि का भी काम कर रहे हों, उन्हें भी इसके तहत लाभ प्राप्त हो सकता है.
  • प्राकृतिक आपदा से पीढित लोग :- ऐसे लोग जोकि किसी प्राकृतिक आपदा के कारण पीढित हो गए हैं, जिससे उन्हें कई सारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा हैं, उन्हें भी इस योजना में शामिल किया जायेगा.

प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना में आवेदन कैसे करें ? (How to Apply in Pradhan Mantri Matsya Sampada Yojana)

इस योजना को जल्द ही शुरू किया जाना हैं अभी इसमें कैसे आवेदन किया जा सकता है इसके बारे में सही से जानकारी जारी नहीं की गई हैं. न ही इसमें आवेदन ऑनलाइन या ऑफलाइन कैसे होगा इसके बारे में बताया गया है. अतः जैसे ही इसकी जानकारी सरकार द्वारा जारी कर दी जाएगी, हम आप तक सभी जानकारी पहुँचाने के लिए तत्पर हैं

Other links –

One comment

  1. Sir hum to Apne bhartiye hone par jab garv karenge jab hame bhi pm g ki mudra yojna ka labh mile

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *