पीएम स्वनिधी योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन आवेदन Status, List, Apply स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि

पीएम स्वनिधि लोन योजना 2020-21 [पीएम स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि] के तहत आवेदन प्रक्रिया, पात्रता नियम, लाभार्थी चयन, दस्तावेज सूचि, लिस्ट जानकारी [ PM SVANidhi Scheme In Hindi ]

हमारे देश के माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केंद्रीय कैबिनेट बैठक में  जून 2020 को स्वनिधि योजना को शुरू करने का निर्णय लिया है। ‌यहां बता दें कि इस स्कीम के तहत देश के सभी रेहड़ी और पटरी वालों यानी जो सड़क विक्रेता है उनको केंद्र सरकार के द्वारा 10 हजार रुपए का लोन दिया जाएगा जिससे कि वह स्वयं के काम की नए सिरे से शुरुआत कर सकें। जानकारी के लिए बता दें कि स्वनिधि योजना को प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर्स आत्मनिर्भर निधि योजना भी कहते हैं। आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि आप किस प्रकार से इस योजना का लाभ ले सकते हैं।

pm-svanidhi nidhi street-vendor-atmanirbhar-loan
नामपीएम स्वनिधि योजना
फुल फॉर्मपीएम स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि
दिनांकजून 2020
लाभार्थीस्ट्रीट वेंडर
लाभ10 हजार लोन
पोर्टलनहीं हैं
आवेदनऑफलाइन बैंक के जरिये
टोल फ्री नंबरअभी नहीं हैं
पोर्टलpmsvanidhi.mohua.gov.in/

प्राइवेट बैंक में भी जन धन खाता खुलवाकर, ले सकते है सरकारी योजनाओं लाभ, जाने पूरी प्रक्रिया यहाँ क्लिक करे .

पीएम स्वनिधि योजना क्या हैं

इस योजना के तहत पीएम द्वारा स्ट्रीट वेंडर को 10000 रुपये ऋण के रूप में देने का फैसला किया गया है। इस ऋण की राशि की सहायता से वे अपने व्यापार को दोबारा से आरंभ करने में सक्षम हो पाएंगे। हालांकि इसकी ऑनलाइन प्रक्रिया जारी नहीं की गई है परंतु आवेदक प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि योजना में ऑफलाइन आवेदन के लिए अपने नजदीकी बैंक में जा सकते हैं।

उत्तराखंड लॉकडाउन सहायता योजना के अंतर्गत सरकार दे रही है ₹1000, जानिए किसे मिलेगा लाभ यहाँ क्लिक करके पढ़े 

स्वनिधि योजना 3 लाख वेंडर को लोन

सरकार के द्वारा सुनिधि योजना के तहत जितने भी लोग फुटपाथ पर दुकान लगाते हैं उन सभी की आर्थिक मदद की जा रही है।  जानकारी के लिए बता दें कि सरकार ने आत्मनिर्भर भारत पैकेज में 50 हजार करोड़ रुपए का पैकेज भी निर्धारित किया है और अब सरकार ने यह ऐलान किया है कि देश के लगभग 3 लाख स्ट्रीट वेंडर को 10,000 रुपए का लोन दिया जाएगा। अगर कोई वेंडर इस लोन को लेना चाहता है तो उसके पास निगम के द्वारा दिया गया पहचान पत्र होना बहुत ही जरूरी है। इसके साथ-साथ बता दें कि जो वेंडर रजिस्टर्ड नहीं है वह भी स्वनिधि योजना का लाभ लेने के लिए आवेदन दे सकते हैं। साथ ही यह भी बताते चलें कि यह आवेदन उम्मीदवार ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों तरीकों से दे सकते हैं। इसके अलावा आपको बता दें कि इस स्कीम के तहत 7% की ब्याज सब्सिडी भी दी जाएगी और इस प्रकार जो छोटे वेंडर हैं उनको बहुत ज्यादा आर्थिक मदद मिल जाएगी जिसके कारण वह अपना काम ठीक प्रकार से कर सकेंगे।

आत्मनिर्भर निधि योजना का मुख्य उद्देश्य

कोविड-19 के कारण देशभर में संक्रमण चल रहा है जिसके कारण देशभर में काफी समय से लॉकडाउन रहा। इसी वजह से देश के सभी रेहड़ी, पटरी और ठेलों पर सामान बेचने वालों को बहुत ज्यादा परेशानी हो गई। ऐसे में उनके सामने अपना जीवन यापन करने के लिए पैसा नहीं है और उनकी इसी परेशानी को देखते हुए सरकार ने स्वनिधि आत्मनिर्भर निधि योजना को शुरू किया है ताकि रेहड़ी और पटरी पर काम करने वाले सभी लोग अपना काम बिना किसी समस्या के शुरू कर सकें। ‌बता दें कि इस योजना को शुरू करके केंद्र सरकार का मुख्य उद्देश्य उन गरीब लोगों की आर्थिक स्थिति को सुधारना है जो रेहड़ी और पटरी पर व्यापार करते हैं।

जानें मोदी सरकार कैसे देगी गरीबों और प्रवासी मजदूरों को किफायती दाम पर घर यहाँ क्लिक करे 

यहां जानकारी के लिए बता दें कि अब तक इस योजना के अंतर्गत 24 लाख से भी ज्यादा आवेदन सरकार को दिए गए हैं और उनमें से 557000 आवेदन उत्तर प्रदेश के लोगों ने दिए हैं जिसमें से अभी तक सरकार ने 3.27 लाख आवेदन सरकार ने अप्रूव कर दिए हैं। इस प्रकार इस योजना के तहत उत्तर प्रदेश के वेंडर्स को सरकार 1.87 रुपए की सहायता प्रदान कर चुकी है। यहां जानकारी के लिए बता दें कि सरकार को अब तक जो 24 लाख एप्लीकेशन प्राप्त हुई थी उनमें से सरकार ने 12 लाख एप्लीकेशन अप्रूव करने के बाद उन्हें 5.35 लाख रुपए का लोन प्रदान भी कर दिया है।

स्वनिधि योजना के लाभ

  • स्वनिधि योजना के द्वारा सड़क के किनारे पटरी लगाने वालों और रेहड़ी वालों को लाभ दिया जाएगा।
  • इस योजना के तहत वह सभी विक्रेता लाभार्थी होंगे जो शहरी और ग्रामीण इलाकों के आसपास सड़क पर माल बेचते हैं।
  • योजना के तहत स्ट्रीट वेंडर को 10,000 रुपए का कार्यशील लोन दिया जाएगा जिसको उन्हें किस्तों के रूप में 1 साल के अंदर-अंदर चुकाना होगा।
  • स्वनिधि स्कीम के तहत 50 लाख से भी ज्यादा लोगों को फायदा पहुंचाया जाएगा।
  • जो स्ट्रीट वेंडर्स समय पर लोन की किस्त चुका देंगे उनको 7 फीसद की वार्षिक ब्याज सब्सिडी दी जाएगी और उनके बैंक अकाउंट में ट्रांसफर कर दी जाएगी।
  • इस स्कीम के तहत किसी भी प्रकार के जुर्माने का कोई भी प्रावधान नहीं है।
  • यह योजना प्रौद्योगिकी का प्रयोग करके कोरोनावायरस के कारण उत्पन्न हुए संकट के समय लोगों को नए सिरे से काम को शुरू करने में मदद करेगी। ‌
  • इस योजना का लाभ लेने के लिए पीएम स्ट्रीट आत्मनिर्भर निधि योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर ऑनलाइन आवेदन दिया जा सकता है या फिर प्रारंभिक कार्यशील पूंजी लोन लेने के लिए बैंकों के माध्यम से भी ऑफलाइन आवेदन दे सकते हैं।
  • स्वनिधि योजना के द्वारा लोग अपना काम धंधा नए सिरे से शुरू करके आत्मनिर्भर भारत अभियान को गति देने का काम करेंगे।
  • अगर कोई कैंडिडेट इस योजना का लाभ लेना चाहता है तो बता दें कि उसके अकाउंट में इस योजना के तहत तीन बार में पैसा आएगा।

स्वनिधि योजना के पात्र लाभार्थी कौन-कौन हैं

  • नाई की दुकानें
  • मोची यानी जूता गांठने वाले
  • पनवाड़ी यानी जिन की पान की दुकानें हैं
  • धोबी जो कपड़े धोने का काम करते हैं
  • सब्जियां बेचने वाले
  • फल बेचने वाले
  • रेडी टू ईट स्ट्रीट फूड
  • चाय का ठेला या खोखा लगाने वाले
  • फेरीवाले जो कपड़े बेचते हैं
  • किताबें और स्टेशनरी वाले
  • कारीगर उत्पाद

कौन देगा लोन

  • अनुसूचित वाणिज्यिक बैंक
  • क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक
  • स्मॉल फाइनेंस बैंक
  • सहकारी बैंक
  • नॉन बैंकिंग फाइनेंस कंपनियां
  • माइक्रोफाइनेंस इंस्टीट्यूशंस और एसएचजी बैंक

स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि योजना के दस्तावेज पात्रता

  • आवेदनकर्ता भारत का निवासी होना चाहिए।
  • देश के केवल छोटे सड़क विक्रेता ही इस योजना के लिए पात्रता रखेंगे।
  • लाभार्थी का आधार कार्ड
  • वोटर आइडेंटी कार्ड
  • आवेदक का मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ

स्वनिधि योजना में आवेदन कैसे करें

यह जानकारी के लिए बता दें कि स्वनिधि योजना के अंतर्गत देश के जितने भी रेहड़ी और पटरी वाले लाभ लेना चाहते हैं उन्हें इसके लिए निम्नलिखित प्रक्रिया अपनानी होगी जो कि इस प्रकार से है

  • योजना के लिए आवेदन करने के लिए कैंडिडेट को सबसे पहले इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना पड़ेगा।
  • इस वेबसाइट के होमपेज पर प्लानिंग टू अप्लाई फॉर लोन का विकल्प दिखेगा। यहां पर आपको 3 चरण दिए गए होंगे जिनको पढ़ने के बाद आप आगे बढ़ने के लिए व्यू मोर (View more) के बटन को दबा दें।
  • यहां आपके सामने एक दूसरा नया पेज खुल कर आएगा। यहां आप व्यू (View)/ डाउनलोड फॉर्म (Download form)  के विकल्प पर क्लिक कर दें।
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने स्वनिधि योजना के फार्म की पीडीएफ खुलकर सामने आएगी।
  • अब आप इस योजना की पीडीएफ को डाउनलोड कर लें और इस फार्म को ठीक तरह से भर लें।
  • सही जानकारी जब आप भर लें तो उसके बाद एप्लीकेशन और दूसरे आवश्यक डाक्यूमेंट्स को भी इसके साथ अटैच कर दें।

लोन देने वाले संस्थानों की सूची कैसे चेक करें

  • इसके लिए सर्वप्रथम आपको स्वनिधि योजना कि संबंधित ऑफिशल वेबसाइट पर जाना पड़ेगा।
  • यहां वेबसाइट के होम पेज पर व्यू मोर (view more) का ऑप्शन दिखेगा उस पर क्लिक कर दें।
  • जब आप व्यू मोर का विकल्प दबाएंगे तो उसके बाद आपके सामने दूसरा नया पेज खुलेगा। यहां पर आपको लेंडर्स लिस्ट (lenders list) का विकल्प देखेगा उसको क्लिक कर दें।
  • अब यहां आपके सामने दूसरे पेज पर उन सभी बैंकों की लिस्ट आ जाएगी जहां पर आप अपनी एप्लीकेशन फॉर्म जमा करके लोन ले सकते हैं।

स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि योजना के अंतर्गत लॉगिन करने की प्रक्रिया

  • इसके लिए सबसे पहले आप पीएम स्वनिधि योजना की ऑफिशल वेबसाइट पर जाएं।‌
  • यहां वेबसाइट के होम पेज पर लॉगइन के टैब को क्लिक कर दें।
  • यहां पर आपको अपनी कैटेगरी के अनुसार लिंक को दबाना होगा। जैसे कि –

एप्लीकेंट

लेंडर

मिनिस्ट्री/ स्टेटस/ यूएलबी

सीएससी कनेक्ट

सिटी नोडल ऑफिसर

  • इसके बाद आपके सामने एक दूसरा नया फॉर्म खुल जाएगा उसमें आप अपना यूजर नेम और पासवर्ड दर्ज कर दें।
  • अब यहां इसके बाद आप लॉगइन के लिंक को दबा दें।
  • इस तरह से आप आसानी के साथ लॉगिन कर सकेंगे।

अपनी सर्वेक्षण स्थिति / सड़क विक्रेता सर्वेक्षण खोज की जांच करें

  • इसके लिए आप सबसे पहले संबंधित आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं। यहां पर वेबसाइट के होम पेज पर आपको व्यू मोर के विकल्प को क्लिक कर दें।
  • अब यहां के सामने दूसरा पेज खुल जाएगा और यहां आप वेंडर सर्वे लिस्ट (vendor survey list)  के ऑप्शन को क्लिक कर दें।
  • अब आपके सामने एक फार्म खुलकर आएगा जिसमें आप को सभी जानकारी भरने होगी जो आप से पूछी गई है जैसे कि राज्य का नाम, अपना नाम, पिता / पत्नी / पति का नाम, मोबाइल नंबर, सर्टिफिकेट ऑफ वेंडिंग नंबर आदि।
  • जब सारी जानकारी भर दें तो उसके बाद सबमिट के बटन को दबा दें। इस प्रकार आप सर्वेक्षण स्थिति या सड़क विक्रेता संरक्षण की खोज को जांच सकते हैं।

पीएम स्वनिधि ऐप की मुख्य विशेषताएं

  • सर्वेक्षण के आंकड़ों में विक्रेता की खोज
  • आवेदकों का ई केवाईसी
  • ऋण आवेदकों का प्रसंस्करण
  • वास्तविक समय में निगरानी

पीएम स्वनिधि मोबाइल ऐप डाउनलोड कैसे करें

जानकारी के लिए बता दें कि जो कैंडिडेट पीएम स्वनिधि योजना के लिए आवेदन देना चाहते हैं वह इसके लिए मोबाइल ऐप डाउनलोड कर सकते हैं जिसकी जानकारी हम निम्नलिखित बता रहे हैं-

  • इसके लिए सबसे पहले अपने मोबाइल फोन में ऐप को डाउनलोड करें इसके लिए आपको गूगल प्ले स्टोर पर जाना पड़ेगा।
  • यहां अब आप पीएम स्वनिधि ऐप को सर्च करके डाउनलोड करें।
  • ऐप डाउनलोड हो जाए तो उसे अपने फोन पर इंस्टॉल कर दें।
  • इस प्रकार यह एप आपके फोन में डाउनलोड हो जाएगा।

पेमेंट एग्रीगेटर

  • इसके लिए सर्वप्रथम आप आधिकारिक वेबसाइट के होम पेज पर जाएं।
  • यहां आप प्लानिंग टू अप्लाई फॉर लोन के नीचे व्यू मोर के विकल्प क्लिक कर दें।
  • इसके बाद आपके सामने एक दूसरा नया पेज खुल कर आएगा।
  • अब इस पेज पर आपको पेमेंट एग्रीगेटर विकल्प को दबाना है और अब आप यहां पर दिखाई देने वाले विकल्पों में से किसी एक से भुगतान एग्रीगेट कर सकते हैं।

लेटर आफ रिकमेंडेशन के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आप पीएम स्वनिधि योजना की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाएं।
  • इस वेबसाइट के होम पेज पर आपको अप्लाई फॉर एल ओ आर के लिंक को दबाना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने एक दूसरा पेज खुलेगा जहां पर आपको अपना मोबाइल नंबर लिखना होगा।
  • अब इसके बाद आप रिक्वेस्ट ओटीपी के लिंक पर क्लिक कर दें।
  • लिंक क्लिक करने के बाद आपके मोबाइल पर एक ओटीपी आएगा ओटीपी को आप बॉक्स में भर दें और सबमिट के बटन को दबा दें।
  • उसके बाद आपके सामने दूसरा नया फॉर्म खुलेगा आपसे कुछ जानकारी पूछी जाएगी। सारी जानकारी ठीक से भर दें।
  • अब सबमिट का बटन दबा दें।
  • इस तरह से आप सरलता पूर्वक लेटर आफ रिकमेंडेशन के लिए आवेदन दे सकते हैं।

कांटेक्ट अस (contact us)

  • आप अगर इस योजना के बारे में और भी ज्यादा जानकारी हासिल करना चाहते हैं या आवेदन प्रक्रिया में आपको किसी प्रकार की समस्या हो रही है तो ऐसे में आप कांटेक्ट नंबर पर संपर्क कर सकते हैं।
  • इसके लिए आपको सबसे पहले इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना पड़ेगा।
  • अब वेबसाइट के होम पेज पर आपको कांटेक्ट अस (contact us) विकल्प दिखेगा। इस विकल्प को क्लिक कर दें।
  • इस प्रकार आपको नए पेज पर कांटेक्ट नंबर दिखाई दे जाएगा।

FAQ

Q: स्वनिधि योजना किसने शुरू की है?

Ans: देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने।  

Q: स्वनिधि योजना कहां शुरू की गई है?

Ans: सारे भारत में।  

Q: स्वनिधि योजना के लिए कहां आवेदन करें?

Ans: पीएम स्वनिधि योजना की ऑफिशियल वेबसाइट पर।

Q: क्या इस योजना का लाभ उठाने के लिए कोई ऐप है?

Ans: जी हां प्ले स्टोर से डाउनलोड की जा सकती है।

अन्य पढ़े 

  1. MP लॉकडाउन बिजली बिल राहत योजना
  2. PM आत्मनिर्भर भारत ऋण योजना 
  3. मनरेगा योजना रजिस्ट्रेशन
  4. वन नेशन वन राशन कार्ड : देश के किसी भी कोने में मिल सकेगा मुफ्त अनाज

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *