Pt Deen Dayal Upadhyaya Honorarium Scheme Haryana in Hindi

पंडीत दीन दयाल मानदेय योजना हरियाणा – सेवा निवृत्त हुए शिक्षक और अन्य कर्मचारियों को वित्तीय सहायता Pt Deen Dayal Upadhyaya Honorarium Scheme Haryana in Hindi

हरियाणा सरकार ने राज्य में उपस्थित सरकारी कॉलेजों में कार्यरत शिक्षक और अन्य कर्मचारियों को वित्तीय सहायता प्रदान करने के उद्देश्य से एक नईं योजना लांच की है. इस योजना के अंतर्गत जो कर्मचारी अपने कार्यकाल के पहले सेवानिवृत्त हुए है उन्हें पंडीत दीनदयाल मानदेय योजना के अंतर्गत मानदेय दिया जायेगा.

Pt-Deen-Dayal-Upadhyaya-Honorarium-Scheme-Haryana

लांच डिटेल (Launch Detail)

हरियाणा सरकार ने इस योजना की घोषणा 2017 में ही की थी. इस वर्ष जनवरी 2018 में राज्य में उपस्थित शिक्षा विभाग ने इसे मंजूरी देदी है, और 1 अप्रेल से इसे राज्य में लागू किया जायेगा .

मुख्य बिंदु (key Features)

  • योजना के अंतर्गत लभान्वित : इस योजना के द्वारा राज्य में उपस्थित शिक्षक और अन्य कर्मचारी जो की साल 1988 से 1998 के बिच सेवानिवृत्त हुए है, उन्हें राज्य सरकार द्वारा वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी.
  • अलग अलग कर्मचारियों को दी जाने वाली वित्तीय सहायता : योजना के अनुसार कर्मचारियों को सहायता मासिक मानदंड के अनुसार दी जाएगीं. तय नीति के अनुसार प्रधानाध्यापक को हर महीने 30,000 रुपय, शिक्षक वर्ग को हर महीने 25,000 रुपय, वर्ग-3 के कर्मचारियों को हर महीने 11,000 रुपय और वर्ग-4 के कर्मचारियों को हर महीने 6000 रुपय दिये जायेंगें.

पात्रता (Eligibility)

  • इस योजना का लाभ लेने के लिए कर्मचारियों का इस योजना में रजिस्ट्रेशन होना आवश्यक है. इसके लिए 1 जनवरी 1988 से 10 मई 1998 तक सेवानिवृत्त हुए सभी शिक्षक, प्रधान अध्यापक और वर्ग-3 और 4 के कर्मचारी अपना आवेदन कर सकते है.
  • इस योजना के अंतर्गत सभी सरकारी कॉलेजों के व्यक्ति आवेदन कर सकते है. कुछ कॉलेज अब राज्य शासन में परिवर्तित हो चुके है, इन कॉलेजों से सेवानिवृत्त व्यक्ति भी इस योजना का लाभ ले सकते है.
  • जिन भी व्यक्ति ने सरकारी मान्यता प्राप्त कॉलेजों में 10 वर्ष या इससे अधिक काम किया है, वे इस योजना का लाभ लेने के पात्र है.

हरियाणा सरकार का सेवानिवृत्त कर्मचारियों के लिए यह बहुत ही अच्छा कदम है. राज्य सरकार द्वारा लिए गये इस तरह के फैसले राज्य की प्रगति में सहायक होंगे.

Other Schemes –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *