PM मुफ्त राशन योजना : अगले 3 महीने लेना चाहते है मुफ्त अनाज, तो आज ही बनवाएं अपना कार्ड

हमारे देश के प्रधानमंत्री जी अपने देश के प्रत्येक गरीब वर्ग के लोगों को भी बहुत ही ध्यान पूर्वक से सहायता एवं आवश्यक लाभ प्रदान करने पर विचार करते रहते हैं। ऐसे में प्रधानमंत्री जी ने निर्णय लिया है, कि जो गरीब वर्ग के व्यक्ति राशन कार्ड धारक हैं, उनको अगले 3 महीनों तक मुफ्त में राशन प्रदान किया जाएगा। यदि आप ही भारत सरकार की इस लाभकारी योजना का लाभ प्राप्त करना चाहते हैं, तो आपको सबसे पहले अपना राशन कार्ड बनवाना होगा, तो चलिए इस लेख के माध्यम से जानते हैं, कि आप किस प्रकार से आप अपना राशन कार्ड बनवा सकते हैं।

ration-card-apply-form-panjiyan free anaj yojana

देश में वन नेशन वन राशन कार्ड योजना को भी लागु कर दिया गया है, ताकि देश के किसी भी कोने से कोई भी राशनकार्ड धारक अपने हिस्से का मुफ्त अनाज प्राप्त कर सके. इसके लिए जरुरी है कि आपका राशनकार्ड आधार कार्ड से लिंक हो. आधार से लिंक होने से आप बिना राशन कार्ड के सिर्फ राशन कार्ड की फोटो दिखाकर भी राशन ले सकते है.

राशन कार्ड में नए सदस्य का नाम कैसे जोड़ें : जाने ऑनलाइन/ऑफलाइन प्रक्रिया यहाँ क्लिक करे और प्रक्रिया जाने .

राशन कार्ड बनाने की प्रक्रिया निम्नानुसार है

  • जो राशन कार्ड धारक नहीं है वह सभी व्यक्ति राशन कार्ड बनवाने के लिए अपना आवेदन कर सकते हैं।
  • राशन कार्ड के फॉर्म को भरने के लिए आप अपने नजदीकी कोटेदार या फिर ऑनलाइन रूप में राशन कार्ड के आवेदन फॉर्म को डाउनलोड करके ध्यान पूर्वक विषय भर सकते हैं।
  • आप अपने राशन कार्ड के आवेदन फॉर्म भरने के बाद कुछ जरूरी दस्तावेजों की प्रतिलिपि समेत अपने नजदीकी कोटेदार के पास आवेदन फॉर्म को जमा करें।
  • नया राशन कार्ड प्राप्त करने के लिए मुखिया का पासपोर्ट साइज फोटो एवं अपने पूरे परिवार समेत मुखिया का भी विवरण आवेदन फॉर्म में जरूर दर्ज करें , यह बहुत ही आवश्यक है क्यंकि राशन कार्ड मुखिया के नाम पर ही जारी किया जाता है।
  • राशन कार्ड को बनवाने में बहुत ही कम शुल्क लगता है यदि कोई आप से ज्यादा शुल्क की डिमांड करता है तो आप ऐसी परिस्थिति में संबंधित विभाग में शिकायत भी दर्ज कर सकते हैं।

कामधेनु डेयरी योजना के अंतर्गत सरकार देगी 90% लोन, समय पर लोन लौटाने पर होगी 30% की बचत, आवेदन के लिए यहाँ क्लिक करें

मुफ्त अनाज को लेकर नया फैसला

  • कोरोना वायरस के कारण पूरे देश में तालाबंदी की प्रक्रिया जारी थी और उन परिस्थितियों में सभी गरीब और आर्थिक स्थिति कमजोर व्यक्तियों को राशन कार्ड के माध्यम से पूरे 3 महीने तक फ्री में राशन उपलब्ध कराया गया। परंतु अब धीरे-धीरे अनलॉक की प्रक्रिया शुरू हो गई है और रोजगार के अवसर प्राप्त हो रहे हैं , परंतु अभी भी कुछ ऐसे परिवार हैं जिनकी आर्थिक स्थिति लॉकडाउन की वजह से काफी ज्यादा खराब हो चुकी है ऐसे में भारत सरकार ने अगले 3 महीने तक ऐसे व्यक्तियों को फ्री में आसन उपलब्ध करवाने का निर्णय लिया है।
  • बीते पिछले कुछ महीनों में जिन व्यक्तियों के पास राशन कार्ड मौजूद नहीं था उन्हें भी भारत सरकार ने फ्री में राशन उपलब्ध कराया है परंतु यदि आप आगे भी सरकार की इस मुहिम का हिस्सा बनना चाहते हैं और लाभ प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको अपना राशन कार्ड शीघ्र ही बनवा लेना चाहिए।
  • वर्तमान में भारत सरकार अगले 3 महीनों तक जरूरतमंदों को राशन उपलब्ध कराने पर विचार विमर्श कर रही है।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के भीतर मिलने वाले लाभ

  • देश के गरीब जनता की इस महामारी में आर्थिक स्थिति को देखते हुए भारत सरकार ने अप्रैल माह से जून माह तक प्रत्येक परिवारों को फ्री में राशन उपलब्ध करवाया था।
  • प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के अंतर्गत सभी लोगों को प्रत्येक सदस्य के हिसाब से 5 किलो चावल या गेहूं और 1 किलो दाल वितरित किया गया था।
  • केंद्र सरकार एवं भारतवर्ष के प्रत्येक राज्य सरकार ने अपने प्रदेश के नागरिकों को इतना भरपूर अनाज वितरित किया कि अभी जो वक्त बड़े ही आसानी से इस्लाम के बीच में अपना पालन पोषण कर सकें।

सरकार दे रही है मुफ्त में अनाज, लाभ पाने के लिए घर बैठे आधार नंबर को राशन कार्ड से जोड़े, यहाँ देखें

 अनाज बांटने की तिथि

पिछले 3 महीनों में प्रत्येक माह की 15 तारीख के पहले केंद्र सरकार अनाज वितरित करती थी और 15 तारीख के बाद राज्य सरकार मुफ्त में जरूरतमंदों को अनाज वितरित करती थी।

भारत सरकार इस महामारी के दौरान अपने देश के प्रत्येक नागरिकों का दो समय का बड़ी आसानी से राशन उपलब्ध करवाती थी।ऐसे में विषम परिस्थिति से गुजरते हुए देश के प्रत्येक नागरिक सरकार की सुविधाओं का लाभ प्राप्त करके अपने परिवार का पालन पोषण कर रहे थे।

Other links –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *