उत्तर प्रदेश किसान ऑनलाइन पंजीकरण फॉर्म | UP Kisan Registration Online Form for Sell Paddy in hindi

उत्तर प्रदेश के किसान धान खरीफ की फसल के लिए ऑनलाइन आधिकारिक साईट पर पंजीयन करवा सकते हैं. यह योजना किसान को सौहलियत देने की दृष्टि से शुरू की गई हैं ताकि किसान आसानी से अपनी फसल की बिक्री कर सके . इस योजना का मुख्य उद्देश्य न्यूनतम समर्थन मूल्य पर किसानो की फसलो की बिक्री करवाना हैं ताकि किसानों को फसलो का उचित दाम मिल सके . किसानों के लिए कई योजनाओं का विमोचन केंद्र एवं प्रदेश सरकार द्वारा किया जाता हैं ताकि उनकी स्थिती में सुधार लाया जा सके .

UP Kisan Registration Online Form for Farmers to Sell Paddy of Kharif

ऑनलाइन धान पंजीयन प्रक्रिया [UP Kisan Registration Online Form (Panjikaran of Farmers at Food Portal)[

  • ऑनलाइन फसल के पंजीयन के लिए सबसे पहले आधिकारिक वेबसाइट http://fcs.up.gov.in/FoodPortal.aspx पर जाना होगा, जहाँ उल्टे हाथ पर “खरीद हेतु किसान पंजीकरण” पर क्लिक करना होगा .
  • उसके बाद एक पेज खुलेगा जहाँ लिखा होगा “धान हेतु किसान पंजीकरण” इस लिंक पर क्लिक करना होगा. जिसके बाद इससे जुड़ी सारी जानकारी मिलेगी .
  • इसके बाद उपर लिखे पंजीकरण प्रपत्र पर क्लिक करे और एक फॉर्म मिलेगा उसे भरे . सारी जानकारी सही तरह से भरे और रजिस्ट्रेशन पर क्लिक करे.
  • आगे की प्रक्रिया के लिए पंजीकरण ड्राफ्ट पर क्लिक करे और वहां सारी जानकारी भरे .
  • इसके बाद पंजीकरण संशोधन, पंजीकरण लॉक एवं पंजीकरण फाइनल प्रिंट पर क्लिक करे और सारी स्टेप्स पूरी करें .

धान की बिक्री के लिए पंजीकरण प्रारूप (Registration) :

धान के पंजीकरण के लिए इस लिंक पर जाये http://eproc.up.gov.in/uparjan/Farmer_Registration.pdf और यहाँ फॉर्म में पूछी गई जानकारी का विवरण दे .

पंजीयन के लिए जरुरी दस्तावेज क्या होंगे ? (Documents)

इस योजना का लाभ लेने के लिए फॉर्म भरना होगा एवं साथ में कुछ जरुरी जानकारी देनी होगी जैसे किसान उत्तर प्रदेश के रहवासी हैं या नहीं इसके लिए प्रमाणपत्र देना होगा, इस योजना में सारा पैसा ऑनलाइन भेजा जायेगा इसकिये किसानों की बैंक की जानकारी देना भी जरुरी हैं . इस योजना के लिए खेत के पेपर भी किसान को जमा करवाने होंगे . साथ ही किसान की पहचान से संबंधी प्रमाण पत्र भी जमा करना अनिवार्य हैं .

टोल फ्री हेल्प लाइन नंबर (Help line number)

सरकार ने यह स्पष्ट किया हैं कि अगर किसान किसी भी तरह की असुविधा महसूस करते हैं तो वे टोल फ्री नंबर पर कॉल करके सहायता ले सकते हैं . साथ ही अगर कोई भी धोखाधड़ी होती हैं तब उस स्थिती में भी शिकायत दर्ज करवा सकते हैं . इस योजना के लिए 18001800150 टोल फ्री नंबर पर कॉल कर सकते हैं. इसके लिए खाद्य कार्यालय के ऑफिस के लैंड लाइन नंबर 0522-2288906 पर भी कॉल कर सकते हैं .  

इस योजना का मुख्य उद्देश्य किसानो को न्यूनतम समर्थन मूल्य बिना किसी परेशानी के दिलवाना हैं .किसान का पंजीयन होते ही उसे योजना का लाभ मिलने लगेगा .

पंजीयन की तारीख (Important Dates)

धान के पंजीयन के लिए पश्चिमी उत्तर प्रदेश के किसानों के लिए अंतिम तिथि 19 जनवरी 2019 हैं, एवं पूर्वी उत्तर प्रदेश के किसानों के लिए अंतिम तिथि 28 फरवरी २०१९ हैं

इस योजना के अंतर्गत सरकार आरजीटीएस प्रक्रिया के जरिये 4232.779 करोड़ रुपये पहले ही किसानों के खाते में जमा करवा चुकी हैं . ताकि उन्हें उनकी फसल का सही मूल्य मिल सके . यह किसानों की बेहतरी के लिए बहुत ही आवश्यक योजना हैं . इसके अलावा वर्तमान सरकार ने उत्तर प्रदेश किसान ऋण माफ़ी योजना भी शुरू की थी जो कि बहुत पसंद की गई थी जिससे किसानो को बहुत रहत मिली थी . उत्तर प्रदेश सरकार ने रोजगार के लिए कई अच्छे कार्य किये हैं उन में से एक हैं उत्तर प्रदेश रोजगार मेला 2019 रजिस्ट्रेशन . इसके जरिये आप सारी जानकारी पढ़ सकते हैं .

Other links –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *