X

राजस्थान बेरोजगारी भत्ता ऑनलाइन आवेदन कैसे भरें | Berojgari Bhatta Yojana Rajasthan in hindi

बेरोजगारी भत्ता योजना राजस्थान 2018-19 के नियम क्या हैं [अमाउंट, ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन फॉर्म](Berojgari Bhatta Rajasthan Amount) [Online Registration Form Download PDF, Eligibility, Amount, Contact number]

बेरोजगारी की समस्या हर देश में व्याप्त है. भारत में भी यह समस्या जटिल होती जा रही है. इसको दूर करने के लिए हर देश प्रदेश की सरकार अपनी तरफ से पूरी कोशिश करती है. राजस्थान सरकार ने भी प्रदेश की इस महत्वपूर्ण समस्या को दूर करने के लिए 2012 में बेरोजगारी भत्ता योजना की शुरुवात की थी. इस योजना का नाम आगे चलकर बदल दिया गया और इसे “अक्षत योजना” कहा गया.

योजनाबेरोजगारी भत्ता योजना राजस्थान
अन्य नामअक्षत योजना
लांच तारीख1 जुलाई 2012
लागु की गईरोजगार विभाग राजस्थान
बेरोजगारी भत्ता650 – 750/-
लाभार्थीबेरोजगार युवा वर्ग
कांटेक्ट नंबर (Helpline number)0141-2373675,2368850
ऑफिसियल पोर्टल employment.livelihoods.rajasthan.gov.in

योजना के लाभ (Unemployment Allowance Scheme Rajasthan Key features)

  • उद्देश्य इस योजना का मुख्य उद्देश्य बेरोजगारों को उनका हक़ देते हुए, आर्थिक सहायता करना है.  आज के समय में शिक्षा को बहुत महत्वपूर्ण समझा जाता है, देश की अधिकतर जनता अब शिक्षा के प्रति जगरूप हो गई है. नौजवान पैसे कमाने और बड़ा आदमी बनने के लिए कड़ी मेहनत करते है. अच्छी नौकरी सभी का सपना होता है, लेकिन नौकरी न लगने की वजह से वे हताश हो जाते है. कई नौजवान इससे परेशान होकर डिप्रेशन में आ जाते है. युवा वर्ग देश का भविष्य है, जिसके भविष्य को सवारने के लिए सरकार उनकी आर्थिक सहायता कर रही है.
  • बेरोजगारी भत्ता योजना की शुरुवात में बेरोजगारी भत्ता को 2 कैटेगरी में बांटा गया था. योग्य महिला एवं पुरुष को 500 रूपए हर महीने एवं जो विशेष कैटेगरी में आते है, निःशक्त लोगों को हर महीने 600 रूपए देने का प्रावधान था. 2017 में इस राशि को बढ़ा दिया गया.
पुरुष वर्ग650 हर महीने
महिला वर्ग/विशेष निःशक्त जन750 हर महीने

बदलाव की यह राशि 1/4/2017 से लागू  होती है. इस तारीख से जिसने भी आवेदन किया होगा उसे भुगतान इस बदली हुई राशि के अनुसार होगा।

  • अवधि (Duration) – राजस्थान सरकार इस बेरोजगारी भत्ते को अधिकतम 2 सालों तक देगी। इस बीच में अगर किसी की नौकरी लग जाती है, या कोई अपना काम शुरू कर लेता है तो उसी समय भत्ता मिलना बंद हो जायेगा। (धोखाधड़ी, फर्जीवाड़ा करके अगर कोई आवेदन करता है और विभाग को गुमराह करेगा तो उसके खिलाफ सख्त कार्यवाही होगी।)

बेरोजगारी भत्ता योजना पात्रता (Eligibility Criteria and Documents) –

  • राजस्थान मूल निवासी लाभार्थी को योजना के अंतर्गत राशि तभी मिलेगी, जब वो राजस्थान प्रदेश का रहने वाला होगा। इसके लिए लाभार्थी को अपना मूल निवासी पत्र दस्तावेज के रूप में रखना होगा।
  • आयु सीमा योजना के लिए एक आयु सीमा तय की गई है. इस उम्र के बीच के लोग ही इस योजना के योग्य है. 21 से 30 वर्ष के पुरुष, व  21 से 35 वर्ष की महिला, विकलांग (दिव्यांग), एसटी, एससी इस योजना के पात्र है. लाभार्थी को अपनी आयु का प्रमाण देने के लिए 10 वीं की मार्कशीट फॉर्म के साथ जमा करनी होगी।
  • शिक्षा कम से कम स्नातक पास लाभार्थी ही इस योजना के लिए योग्य है. मास्टर डिग्री वाले भी इसके लिए आवेदन कर सकते है. लाभार्थी को योजना का लाभ तभी मिलेगा जब उसने कक्षा 12वीं एवं कॉलेज की पढाई प्रदेश के अंदर आने वाले कॉलेज स्कूल से की होगी। फॉर्म के साथ उसे 12वीं की मार्कशीट एवं स्नातक की डिग्री जमा करनी होगी।
  • आय सीमा लाभार्थी के परिवार की वार्षिक आय (माता-पिता या पति-पत्नी) 3 लाख या उससे कम होनी चाहिए। आवेदक को आय प्रमाण पत्र जमा करना अनिवार्य है.
  • लाभार्थी किसी भी तरह की छोटी बड़ी सरकारी या प्राइवेट नौकरी में कार्यरत न हो. वो किसी भी तरह के बिजनेस से भी न जुड़ा हो.
  • कोई भी लाभार्थी को अपने जिले के रोजगार विभाग में कम से कम एक साल तक पंजीकरण करना होगा। इस एक साल में अगर नौकरी नहीं मिलती है तो लाभार्थी को बेरोजगारी भत्ता मिलना शुरू हो जायेगा। भत्ता मिलने की स्थिति में भी लाभार्थी को अपना पंजीकरण रोजगार विभाग में करते रहना होगा।
  • परिवार में 2 से अधिक लोगों को इस योजना के अंतर्गत लाभ नहीं मिलेगा। एक ही परिवार के 2 लोग ही इसके लिए अप्लाई कर सकते है
  • राजस्थान सरकार ने 2009 में युवाओं को बेरोजगारी भत्ता देने के लिए अक्षत कौशल योजना लांच की थी. कोई भी लाभार्थी अक्षत कौशल योजना या बेरोजगारी भत्ता योजना (2012 वाली) में से किसी एक में ही आवेदन कर सकता है.
  • अगर कोई लाभार्थी किसी भी राजकीय या केंद्रीय योजना के तहत छात्रवृत्ति या भत्ता प्राप्त कर रहा है तो वो इस योजना के लिए पात्र नहीं माना जायेगा।
  • जो लाभार्थी इस योजना के लिए अप्लाई करे उसका कोई भी पुलिस केस न चल रहा हो.

अन्य जरुरी दस्तावेज (Required Documents) –

आवेदक को अपना आधार कार्ड, भामाशाह कार्ड की फोटोकॉपी जमा करनी होगी। इसके अलावा सभी मार्कशीट भी आवेदक को  जमा करनी होगी। निःशक्त या दिव्यांग को इससे जुड़ा प्रमाण पत्र जमा करना अनिवार्य है. भामाशाह कार्ड राजस्थान में किसी भी योजना के लिए अनिवार्य होता है. सरकार ने भामाशाह से जुड़ी बहुत सी योजनाएं लागु की है. इसी में से एक भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना से कैसे जुड़े के बारे में सही जानकारी यहाँ पढ़ें।

बेरोजगारी भत्ता योजना चयन प्रक्रिया (How to Select) –

  • हर साल 1 जुलाई को विभाग सिलेक्शन की प्रक्रिया करेगा। राजस्थान सरकार ने बेरोजगारी भत्ता योजना के तहत नियम बनाया है कि हर साल अधिकतम 1 लाख लोगों को ही यह राशि दी जाएगी।
  • अगर 1 लाख से ज्यादा लोग योजना के पात्र होते है तो रोजगार विभाग ज्यादा उम्र वालों को पहले प्राथमिकता देगा।
  • अगर एक लाख से कम आवेदक सेलेक्ट होते है तो सभों को भत्ता मिलेगा, एवं 6 महीने बाद मतलब 1 जनवरी को फिर से चयन की प्रक्रिया की जाएगी।
  • 1 साल हो जाने के बाद आवेदक को 1 जुलाई के पहले अपना आवेदन करना अनिवार्य होगा। इसके बाद आवेदन मान्य नहीं होगा।

बेरोजगारी भत्ता राजस्थान ऑनलाइन फॉर्म आवेदन प्रक्रिया (Application form and Process)

  • आवेदन के लिए सबसे पहले राजस्थान की ऑफिसियल साइट पर जाएँ http://employment.livelihoods.rajasthan.gov.in , वहां “अनएम्प्लॉयमेंट अलाउंस” पर क्लिक करें। इसके बाद अप्लाई पर क्लिक करें।
  • यहाँ एक नया नई पेज खुलेगा, पहली बार आवेदन करने के लिए साइट पर रजिस्टर करते हुए एसएसओ आईडी (SSO) बनायें।
  • अब फिर रजिस्ट्रेशन के लिए एक नया पेज खुलेगा, जहाँ अपनी सारी पर्सनल डिटेल्स डालनी होगी। ईमेल आईडी और मोबाइल नंबर बहुत जरुरी होता है.
  • रजिस्ट्रेशन के बाद आपको लॉगिन आईडी और पासवर्ड, आपकी ईमेल आईडी या मोबाइल पर मैसेज के द्वारा आ जायेगा।
  • अब आवेदक को इस लॉगिन आईडी पासवर्ड के द्वारा ऑफिसियल साइट https://sso.rajasthan.gov.in/signin में लॉगिन करना होगा, फिर इस योजना के लिए एप्लीकेशन फॉर्म भरें और सारी डिटेल्स अच्छे से देख लेने के बाद उसे सबमिट कर दें. आप इस फॉर्म का प्रिंट आउट भी निकाल लें.

बेरोजगारी भत्ता आवेदन का स्टेटस कैसे चेक करें (How to check status)

आवेदन करने के बाद लाभार्थी अपने फॉर्म का स्टेटस भी चेक कर सकता है. इस योजना के अंतर्गत अपने आवेदन को निम्न तरीके से चेक करें –

  • आवेदक इस लिंक पर क्लिक करें http://www.employment.livelihoods.rajasthan.gov.in/Reports/JS/js_Unemployment%20Allowance_Status.aspx
  • यहाँ अपना रजिस्ट्रेशन नंबर और मोबाइल नंबर या जन्म तारीख डालें।
  • अंत में सर्च बटन पर क्लिक करें, इसके बाद नए पेज में आपके आवेदन का स्टेटस स्क्रीन पर दिखाई देगा, जिससे आपको अपने आवेदन की वर्तमान स्थिति मालूम हो जाएगी।

बेरोजगारी भत्ता योजना से बहुत से बेरोजगारों को फायदा होता है. उन्हें 2 साल का समय मिलता है, जब वो नौकरी की तलाश करते है. इन दो सालों में सरकार इनकी आर्थिक सहायता करती है. सभी युवा वर्ग जो बेरोजगार है उन्हें इस योजना का लाभ जरूर लेना चाहिए.

Other links –

Categories: State
Tags: Rajasthan
Editor :