छत्तीसगढ़ भुइयां भू – नक्शा खसरा खतौनी ऑनलाइन 2019 | Chhattisgarh Bhuiyan Bhu-Naksha Online

छत्तीसगढ़ भुइयां भू – नक्शा खसरा खतौनी ऑनलाइन सेवा 2019-20 (CG Bhuiyan Naksha Online Service Land Records Khasra Khatauni Nakal, Number, App download in Hindi)

आज का समय डिजिटल दुनिया में प्रवेश कर चुका है. आज हर काम लोग ऑनलाइन माध्यम से करते हैं. फिर चाहे वह कोई जानकारी प्राप्त करना हो, या फॉर्म भरना हो या कोई भी काम हो लोगों को अब कहीं जाने की जरुरत नहीं है वे सभी काम ऑनलाइन ही करते हैं. यहाँ तक कि अब लोगों को अपनी जमीन के बारे में भी सभी रिकॉर्ड प्राप्त करने के लिए कहीं जाने की जरुरत नहीं है वह भी सभी घर बैठे देख सकते हैं. जी हाँ छत्तीसगढ़ राज्य सरकार ने अपने निवासियों के लिए एक ऑनलाइन पोर्टल की शुरुआत की है जहाँ से लोग अपनी जमीन से जुड़ी किसी भी प्रकार की जानकारी को ऑनलाइन प्राप्त कर सकते हैं. यह कैसे होगा यह जानने के लिए इस लेख को अंत तक पढ़ें.

लांच की जानकारी (Launched Details)

क्र. म.जानकारी बिंदुजानकारी
1.पहल का नामछत्तीसगढ़ भुइयां भू – नक्शा ऑनलाइन सेवा
2.पहल का लांचसन 2018 में
3.पहल की शुरुआतछत्तीसगढ़ राज्य सरकार द्वारा
4.लाभार्थीछत्तीसगढ़ के निवासी
5.अधिकारिक वेबसाइटhttps://bhuiyan.cg.nic.in/

 

विशेषताएं एवं लाभ (Features and Benefits)

  • डिजिटल इंडिया कार्यक्रम में वृद्धि :- इस पोर्टल को शुरू करने के साथ छत्तीसगढ़ राज्य सरकार ने जमीन के नक्शे या किसी भी रिकॉर्ड की जाँच की प्रक्रिया को पूरी तरह से डिजिटल और ऑनलाइन बना दिया है. इससे लोगों को काफी सुविधा होगी.
  • पोर्टल की विशेषता :- इस पोर्टल में जानकारी प्राप्त करने के लिए 2 भाग है एक भुइयां एवं दूसरा भू – नक्शा. भुइयां से खसरा (पी – 2) एवं खतौनी (बी – 1) या खाते से सम्बंधित सभी जानकारी उपलब्ध होगी, वहीँ भू – नक्शे से आप अपनी जमीन का नक्शा या खसरे की नकल देख सकते हैं.  
  • समय की बचत :- अब तक किसी भी व्यक्ति को अपनी जमीन की जानकारी प्राप्त करने के लिए दफ्तर या पटवारी के पास जाना पड़ता था. फिर वहां उसकी जानकारी प्राप्त करने में काफी समय लगता था. किन्तु अब ऑनलाइन माध्यम से यह काम करने से समय की काफी बचत होती है.
  • छेड़छाड़ का पता :- यदि किसी के द्वारा आपकी जमीन पर कोई छेड़छाड़ की जा रही हो या कोई आपकी जमीन पर जबरन कब्जा कर रहा हो, तो अब तक आपको इसकी जानकारी नहीं मिल पाती थी या देर से मिलती थी. किन्तु अब आपको ऑनलाइन माध्यम से सब यह तुरंत पता चल जायेगा, इसलिए यह काफी फायदेमंद है.
  • रिकॉर्ड प्राप्त करने में आसानी :- अब तक लोगों को दफ्तर में जाकर अपनी सभी जानकारी देने के बाद बहुत समय में रिकॉर्ड प्राप्त होता था, कई बार रिकॉर्ड प्राप्त करने में कई परेशानियां भी होती थी, किन्तु अब ऑनलाइन माध्यम से केवल अपने खसरा नंबर और खतौनी नंबर का उपयोग करके आप सारा रिकॉर्ड सिर्फ एक क्लिक के माध्यम से प्राप्त कर सकते हैं जोकि काफी आसान है.

खसरा (पी – 2) एवं खतौनी (बी – 1) की जाँच के लिए प्रक्रिया (Khasra Khatauni Online Copy Application Process)

  • सबसे पहले यदि आप खसरा (पी – 2) एवं खतौनी (बी – 1) या खाते से सम्बंधित कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो इसकी अधिकारिक वेबसाइट https://bhuiyan.cg.nic.in/ पर जाएँ.
  • इसके बाद आप अपने जिला, तहसील, राजस्व निरिक्षण विभाग एवं गाँव का चयन करें. यदि आपको अपने गाँव का नंबर पता है तो आप उसे इंटर कर भी इस प्रक्रिया में आगे बढ़ सकते हैं.
  • इसके साथ ही आपको अपना खसरा नंबर भी देना होगा. एक बार आपने अपना खसरा नंबर दे दिया उसके बाद जानकारी देखने के लिए आप खसरा वार का चयन कर सबमिट कर दें.
  • खसरा वार चुनने के बाद सूची आपके सामने खुल जाएगी. यहाँ से आप सब जानकारी देख सकते हैं. यहाँ तक कि आप भविष्य में इसके उपयोग के लिए इसे डाउनलोड भी कर सकते हैं.

भू – नक्शा देखने की प्रक्रिया (Map Report Checking Process)

  • अपनी जमीन का नक्शा देखने के लिए आप इसकी अधिकारिक वेबसाइट में विजिट करें, इसके बाद आप नक्शा देखें वाली लिंक पर क्लिक करें.
  • लिंक पर क्लिक करने के बाद यहाँ भी आपको अपना जिला, तहसील, राजस्व निरीक्षक मंडल एवं गाँव का चयन करना होगा.
  • यहाँ आप अपनी जमीन का रिकॉर्ड 2 तरह से देख सकते हैं –
  1. सही खसरा नंबर देने के लिए पीले एरो बटन पर क्लिक करें. या
  2. गाँव का नक्शा जांचने के लिए खसरा विकल्प पर क्लिक करें.
  • इसके बाद आपकी स्क्रीन पर 3 विकल्प शो होंगे, जोकि नक्शे की रिपोर्ट, पी – 2 एवं बी – 1 होंगे.
  • आप यहाँ नक्शे की रिपोर्ट का विकल्प चुन कर अपनी जमीन का नक्शा देख सकते हैं. इसके अलावा यहाँ से आप इसका प्रिंट आउट भी निकाल सकते हैं.
  • यदि आप पी – 2 या बी – 1 विकल्प चुनते हैं तो इससे आपको खसरे से सम्बंधित रिपोर्ट देखने को मिलेगी.

इस तरह से छत्तीसगढ़ राज्य सरकार द्वारा शुरू किये गये ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से आप  अपने घर में बैठ कर भी अपनी मालिकाना हक वाली जमीन का रिकॉर्ड प्राप्त कर सकते हैं.

Other links –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *