मुख्यमंत्री सुकन्या योजना झारखंड फॉर्म 2019 [प्रोत्साहन राशि]| MukhyaMantri Sukanya Yojana Jharkhand In Hindi

झारखंड सरकार की योजनाओं की लिस्ट में मुख्यमंत्री सुकन्या योजना, एक नयी योजना जुड़ रही हैं जो बालिकाओं के भविष्य को ध्यान में रखते हुये लाई गई हैं।  इस योजना का उद्देश्य बाल विवाह को रोकना एवं बालिकाओं को उचित पोषण प्रदान करना हैं जिसके लिए झारखंड सरकार बालिकाओं के जन्म से 18 वर्ष तक की आयु में उन्हे प्रोत्साहन राशि प्रदान करेगी।

यह राशि डीबीटी सुविधा के जरिये सीधे बैंक खाते में जमा की जायेगी। झारखंड मुख्यमंत्री सुकन्या योजना के लिए कैसे आवेदन करे और योजना की पात्रता एवं लगने वाले दस्तावेज़ आदि जानकारी इस आर्टिकल में लिखी जा रही हैं ।

Mukhyamantri Sukanya Yojana in Jharkhand

नामझारखंड मुख्यमंत्री सुकन्या योजना
योजना की घोषणा किसने कीसीएम रघुबरदास
योजना कब शुरू होना हैंजनवरी 2019
विशेष लाभार्थी कौन हैंबेटियाँ [18 वर्ष तक]
टोलफ्री हेल्पलाइन नंबरNA
ऑनलाइन पोर्टलNA
राशि40 हजार 

प्रोत्साहन राशी एवं चरण

इस योजना के भीतर राशि विभिन्न चरणों में मिलेगी जिसकी शुरुवात बेटी के जन्म से ही हो जायेगी –

चरणराशि
जन्म से दो वर्ष की आयु तक5000 रुपये
पहली क्लास में प्रवेश लेने पर5000 रुपये
पाँचवी कक्षा उत्त्तीर्ण करने पर एवं छठवी कक्षा में प्रवेश लेने पर5000 रुपये
आठवी कक्षा उत्तीर्ण करने पर5000 रुपये
दसवी कक्षा उत्तीर्ण करने पर5000 रुपये
बारहवी कक्षा उत्तीर्ण करने पर5000 रुपये
कूल राशि 18 वर्ष तक30 हजार रुपये
अगर बेटी की शादी 18 से 20 वर्ष तक नहीं हुई हैं तो10 हजार रुपये
इस तरह कूल मिलने वाली राशि40 हजार रुपये

मुख्यमंत्री सुकन्या योजना के उद्देश्य एवं लाभ क्या हैं ? [Mukhyamantri Sukanya Yojana Jharkhand Benefits] 

  1. योजना का मुख्य उद्देश्य महिलाओं के स्वास्थ्य को ध्यान में रखकर उन्हे उचित पोषण प्रदान करना हैं जिससे प्रदेश में बढ़ते शिशु मृत्यु दर में इजाफ़ा होगा । पिछले 4 साल से सरकार इस ओर कार्य कर रही हैं लेकिन अभी भी टार्गेट प्राप्त करने में अभी समय लगेगा ।
  2. मुख्यमंत्री सुकन्या योजना का एक उद्देश्य यह भी हैं कि सरकार की मदद से लड़कियाँ परिवार पर बोझ ना समझी जाये और इस कारण कम उम्र में उनका विवाह ना हो अपितु उनकी उचित परवरिश की जाये।
  3. इस कार्य के लिए सरकार के साथ यूनिसेफ एवं सामाजिक संगठन का भी योगदान हैं । इसमें ग्राम पंचायत को भी शामिल किया जायेगा ताकि जागरूकता बढाई जा सके.
  4. मुख्यमंत्री सुकन्या योजना के जरिये जो भी पैसा दिया जाना हैं वो सीधे लड़की अथवा पालक के बैंक खाते में जमा किया जायेगा।
  5. योजना के भीतरलड़कियों को जन्म से 18 वर्ष तक की आयु सरकार की तरफ से पैसा दिया जायेगा जो कि विभिन्न चरणों में उन तक पहुंचाया जायेगा । लड़की के पालन पोषण, उसकी प्राथमिक शिक्षा, माध्यमिक  शिक्षा आदि सभी के लिये आर्थिक सहायता सरकार द्वारा दी जायेगी ।
  6. सरकार का मानना हैं कि इस योजना से तहत 35 लाख परिवारों को लाभ प्राप्त होगा ।
  7. प्रदेश के पांच जिले ऐसे हैं जहाँ ज्यादातर बेटियों की शादी 18 के पहले ही कर दी जाती हैं इसलिए उन जिलो पर अधिक ध्यान दिया जायेगा . उन जिलो के नाम देवघर, गोड्डा, कोडरमा, गिरिडीह एवं पलामू हैं .

मुख्यमंत्री सुकन्या योजना की पात्रता अथवा योग्यता क्या हैं ? [Sukanya Yojana Eligibility Criteria] 

  1. योजना के लिए वही परिवार योग्य होंगे जिनके नाम SECC- 2011 की लिस्ट में नाम हैं अर्थात उन्ही परिवारों की बेटियों को लाभ मिलेगा . अब तक लगभग 25 लाख परिवार इस जनगणना के जरिये इस योजना का लाभ ले सकते हैं .
  2. इसके आलावा जिनके पास अन्त्योदय राशन कार्ड हैं वे परिवार भी इस योजना में शामिल होकर लाभ ले सकते हैं और इसके जरिये 10 लाख परिवारों के जुड़ने की उम्मीद हैं .
  3. योजना शिशु बालिका के लिये शुरू की गई हैं अतः जन्म के तुरंत बाद इस योजना का लाभ लिया जा सकता हैं, 18 से अधिक की आयु में इसका लाभ तब ही मिलेगा जब बेटी 20 वर्ष तक कुँवारी हो । अतः बेटी के जन्म के बाद ही योजना के भीतर पंजीयन करवाले ।
  4. मुख्यमंत्री सुकन्या योजना में मिलने वाली प्रोत्साहन राशि सीधे खाते में जमा होगी अतः जरूरी हैं कि बेटी के पालकों का बैंक में एक खाता हो, खाता ना होने पर आपको योजना का लाभ नहीं मिलेगा ।
  5. योजना के भीतर डीबीटी सुविधा के अंतर्गत पैसा मिलेगा अतः आपका खाता आधार से लिंक्ड होना भी अनिवार्य हैं ।
  6. वही बच्चियाँ मान्य होंगी जो कि झारखंड स्टेट की रहने वाली हो । राज्य के बाहर इस योजना का लाभ लेना संभव नहीं हैं । इसके लिये आपके पास उचित प्रमाण होना आवश्यक हैं कि आप झारखंड के ही रहवासी हैं ।

मुख्यमंत्री सुकन्या योजना में दस्तावेज़ कौन कौन से लगेंगे ? [Mukhyamantri Sukanya Yojana Documents List]

  1. योजना का लाभ उठाने के लिये जरूरी हैं आपके पासनिवासी प्रमाणपत्र हो । अगर नहीं हैं तो लाभ नहीं मिलेगा ।
  2. बेटी के जन्म संबंधी दस्तावेज़ अर्थातजन्म प्रमाणपत्र एवं आधार कार्ड होना भी जरूरी हैं , वरना योजना में नामांकन नहीं हो पाएगा ।
  3. बैंक पुस्तिका की कॉपीभी जरूरी हैं क्यूंकि पैसा अकाउंट में जमा होगा इसलिए यह जानकारी देना जरूरी हैं ।
  4. बच्ची को शिक्षित करना अनिवार्य हैं तब ही विभिन्न चरणों में लाभ मिलेगा अतः आपको यह प्रूफ भी देना होगा कि आपकी बेटी शाला जाती हैं ।शाला प्रमाणपत्र देना आवश्यक होगा । 

मुख्यमंत्री सुकन्या योजना के लिये आवेदन फॉर्म अथवा पंजीयन कैसे करवाये ? [Sukanya Yojana Form]

यह राज्यस्तर पर शुरू की गई एक योजना हैं । अतः इसके भीतर नामांकन करवाने से संबंधी जानकारी राज्य के ऑनलाइन पोर्टल में दे दी जायेगी। अथवा आँगनवाड़ी के सदस्यों के पास भी इससे संबंधी जानकारी मिलेगी । लेकिन अभी यह योजना 2019 में प्रदेश मे काम करना शुरू करेगी, इसलिए अब तक आवेदन संबंधी जानकारी नहीं दी गई हैं । आप हमारी साइट को सब्सक्राइब कर ले जैसे ही पंजीयन की जानकारी मिलेगी इसमे लिख दी जायेगी ।

केंद्र की योजनाओं में भी महिला विशेष का स्थान अधिक हैं अतः केंद्र सरकार महिलाओं के लिये कई योजना का विमोचन करती रहती हैं । वहीं उसी दिशा में राज्यस्तर पर भी कई योजना काम करते हैं जैसे एमपी की लाड़ली लक्ष्मी योजना एवं बिहार कन्या उत्थात्न योजना भी, झारखंड की इस योजना के समान ही हैं ।

झारखंड सरकार ने यह भी घोषणा की हैं कि वो पहले से चलने वाली लाड़ली लक्ष्मी योजना एवं मुख्यमंत्री कन्यादान योजना को बंद कर देगी और सभी लाभ मुख्यमंत्री सुकन्या योजना के अंतर्गत ही देगी ।

इस तरह की योजना बालिकाओं के विकास के लिए बहुत जरूरी हैं क्यूंकि आर्थिक सहायता के करना बालिकाएँ शिक्षित हो पाती हैं जिससे उनके एवं समाज के जीवन स्तर में सुधार आता हैं ।

अन्य पढ़े

  1. धान अधिप्राप्ति योजना झारखण्ड 2018-19 फॉर्म 
  2. यूपी सामूहिक विवाह योजना ऑनलाइन फॉर्म 
  3. झारखंड दिव्यांग जन अधिकार नियमावली-2018-19
  4. रोजगार ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन फॉर्म कैसे भरे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *