मुख्यमंत्री अन्नपूर्णा योजना एमपी | Mukhyamantri Annapurna Yojana MP in hindi

मुख्यमंत्री अन्नपूर्णा योजना एमपी 2020 (Mukhyamantri Annapurna Yojana in MP in hindi form) (पात्रता पर्ची कैसे बनाई जाती है, मुफ्त अनाज, राशन कार्ड)

देश में गरीबी आज से नहीं स्वतंत्रता के बाद से चली आ रही है. सोने की चिड़िया कहे जाने वाले भारत को अंग्रेजों ने ऐसा लूटा कि देश में गरीबी ऐसी छाई जिससे आज भी लोग नहीं उबर पाए है. देश में करोडो ऐसे लोग जिनके पास खाने को भी कुछ नहीं है. सरकार ऐसे लोगों की मदद के लिए राशन कार्ड योजना की शुरुवात की थी. देश में सभी गरीब लोगों के राशन कार्ड बनाकर उन्हें मुफ्त या सस्ते दाम पर अनाज दिया जाता है. लेकिन अभी भी देश में ऐसे कई परिवार है, जिनके पास राशन कार्ड भी नहीं है. ऐसे लोगों को भी अब सरकार मुफ्त अनाज का लाभ दे रही है. चलिए जानते है जिनके पास राशन कार्ड नहीं है उनको कैसे सस्ते दाम पर अनाज मिल सकता है. आर्टिकल को पूरा अंत तक पढ़ें ताकि आप इसको अच्छे से समझ कर लाभ उठा सकें.

muft anaj yojana

यदि किसी सदस्य का नाम नहीं जुड़ा है तो वह यहाँ से राशन कार्ड में नये सदस्य का नाम जोड़ सकता है.

बिना राशनकार्ड वालों को मिलेगा अनाज –

केंद्र सरकार द्वारा एक नया ऐलान किया गया है, जिसके तहत देश में जितने भी योग्य लोग है और उनके पास राशन कार्ड नहीं है तो उन्हें भी अब सस्ती दर भी अनाज दिया जायेगा. अधिकारीयों ने बताया है कि राशन कार्ड की कमी की वजह से लोगों को राशन कार्ड नहीं मिल पा रहे, लेकिन वे योग्य सूचि में आते है. मध्यप्रदेश सरकार ऐसे 37 लाख परिवारों को अपने राज्य में लाभ देने वाली है.

मुख्यमंत्री अन्नपूर्णा योजना एमपी –

केंद्र सरकार द्वारा अन्त्योदय योजना के तहत सस्ते दाम पर अनाज दिया जाता है. कोरोना काल में कोई भी परिवार भूखा न सोये इसके लिए सरकार ने अप्रैल से नवम्बर तक प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत सभी राशनकार्ड धारक को मुफ्त अनाज देने की घोषणा की थी. अब सरकार जिनके पास राशन कार्ड नहीं है उन्हें कम से कीमत पर अनाज दे रही है. सरकार ने बताया है कि ऐसे लोगों को गेंहू, चावल एवं आयोडीन नमक हर महीने 5 किलो अनाज दिया जायेगा. इसके साथ ही लाभार्थी को 1.5 लीटर कैरोसीन भी दिया जायेगा. मध्यप्रदेश में इस योजना को 2008 में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह द्वारा शुरू किया गया था, जिसको मुख्यमंत्री अन्नपूर्णा योजना के नाम से जाना जाता है. इसके साथ ही प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत लाभार्थी को नवम्बर तक प्रति सदस्य के हिसाब से 5 किलो अनाज और 1 किलो दाल भी दी जाएगी.

फिलहाल प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत नवम्बर तक गेंहूँ, चावल एवं चना मुफ्त में देगी. सरकार की इस योजना को कोरोना काल में परेशान हुए गरीब, बेसहारा लोगों को ध्यान में रखकर शुरू किया गया है.

मुफ्त अनाज पाने के लिए पात्रता पर्ची है जरुरी –

मध्यप्रदेश राज्य में अन्न उत्सव मनाया जा रहा है, इसके तहत राज्य के सभी जिलों को आदेश दिए गए है कि वे योग्य लोगों की सूचि बनाये जिनके पास राशन कार्ड नहीं है, लेकिन वे इसके पात्र है. जिले के अधिकारीयों को आदेश अनुसार सभी योग्य लोगों को पात्रता सूचि बांटनी है. जिले में सभी जगह कार्यक्रम किये जा रहे है और लोगो को पात्रता पर्ची दी जा रही है.

पात्रता पर्ची कैसे मिलेगी –

अगर आप योग्य है, और राशन कार्ड नहीं है तो आप पात्रता पर्ची पा सकते हो. इसके लिया आप करीबी राशन कार्ड दुकान जाकर उसे प्राप्त कर सकते है. इसके अलावा खाद्य एवं रसद विभाग में भी यह पर्ची मिल रही है, जहाँ जाकर आप इसे ले सकते है.

मध्यप्रदेश राशन कार्ड सूची में अपना नाम यहाँ से चेक करें.

मुफ्त राशन का लाभ कैसे मिलेगा –

बिना राशन कार्ड वालों में से जिसके पास पात्रता पर्ची होगी उसे ही मुफ्त अनाज का लाभ मिलेगा. आपको अगर इस योजना के अंतर्गत मुफ्त अनाज चाहिए तो आप इस पात्रता पर्ची को लेकर राशन दुकान जाएँ, जहाँ आपको पर्ची दिखाने पर मुफ्त अनाज मिल जायेगा. आने वाले समय में अधिकारी आपको पक्का राशन कार्ड बनवाकर भी दे देंगें.

यह पात्रता पर्ची जिस राज्य में आपने बनवाई है, वही मान्य होगी, इस पर्ची को दिखाकर आप दुसरे राज्य में मुफ्त अनाज नहीं प्राप्त कर सकेंगें.

एक राष्ट्र एक राशन कार्ड योजना : जाने कैसे पुराने राशन कार्ड को पोर्ट करके देश में कही से भी मुफ्त राशन ले सकते है.

दुसरे राज्य में मुफ्त राशन पाने के लिए जरुरी है कि आपके पास पक्का राशन कार्ड हो, जो आधार कार्ड से लिंक हो. तब आप वन नेशन वन राशन कार्ड के द्वारा राशन कार्ड पोर्ट करा कर दुसरे राज्यों से भी मुफ्त अनाज प्राप्त कर सकेंगें.

FAQ

Q: मुख्यमंत्री अन्नपूर्णा योजना क्या है?

Ans: मध्यप्रदेश सरकार द्वारा शुरू की है, इस योजना में बहुत सस्ते दाम पर सरकार गरीबो को अनाज देती है. 2008 में शुरू हुई इस योजना को अब फिर से शुरू किया जा रहा है.

Q: मुख्यमंत्री अन्नपूर्णा योजना के लाभार्थी कौन है?

Ans: जिनके पास राशन कार्ड नहीं है

Q: मुख्यमंत्री अन्नपूर्णा योजना में कितना अनाज मिलता है?

Ans: 5 किलो हर माह

Q: मुख्यमंत्री अन्नपूर्णा योजना में क्या-क्या अनाज मिलता है?

Ans: गेंहू, चावल, आयोडीन नमक एवं 1.5 लीटर कैरोसीन

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने अन्न महोत्सव के साथ एक और घोषणा करते हुए कहा है कि आने वाले समय में मध्यप्रदेश के हर निवासी के पास खुद का पक्का घर होगा. इसके तहत सरकार जल्द ही एक नयो योजना लेकर आने वाली है.  

अन्य पढ़ें –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *