दीदी की रसोई योजना बिहार Didi Rasoi Yojana Bihar

दीदी की रसोई योजना बिहार 2021 क्या हैं उद्देश्य, लाभ, कीमत Didi ki rasoi yojana in Bihar in Hindi

हम सभी जानते है की कोरोना के इस संकट के काल  में हमारे प्रधानमंत्री जी ने एक सपना देखा है वो है “आत्मनिर्भर भारत” का सपना |  कोरोना काल में जीविका मानव संसाधन के इस्तेमाल की एक बड़ी शक्ति के रूप में उभ रही है खासतौर से बिहार में | बिहार का ये आजीविका मिशन है और इसने आपातकाल में इस आपदा के दौर में अवसर के रूप में इसे इस्तेमाल किया है और साथ ही  माननीय प्रधानमंत्री जी के आत्मनिर्भर भारत के सपने को साकार करने में अपना अहम योगदान दिया है | राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के अंतर्गत  जीविका संगठनों  ने ना केवल आत्मनिर्भरता की मिसाल पेश की है बल्कि इस संकट काल में गरीब और साधन हीन लोगों की मदद भी की है | मास्क बनाने से लेकर गरीबो के बीच मुफ्त अनाज बांटना हो या फिर अस्पतालों में रसोई चलाना हो , जीविका  संगठनों ने बढ़ – चढ़ कर हिस्सा लिया है |

इस योजना के अंतर्गत बिहार के सरकारी अस्पताओं में मरीज , उनके परिजन और समस्त स्टाफ को न्यूनतम दर भोजन उपलब्ध करवाया जाता है | इसमें काम करने वाली दीदियाँ   थोड़े  से प्रशिक्षण के बाद अपने हुनर से लोगों की सेवा  कर रही है | भोजन बनाते वक्त खाने की पोष्टिकता . गुणवत्ता और स्वछता का विशेष ध्यान रखा जाता है | कोरोना के इस संकट के दौर में जीविका संगठन ने बहुआयामी कार्य किये है जैसे – मास्क बनाना , गरिबो की मदद के लिए घर घर से एक मुट्ठी अनाज एकत्रित किया है , संकट की घडी में जीविका दीदियों के कई संगठनों ने प्रवासी लोगो को मुफ्त में खाना दिया गया | और अब इस योजना “दीदी की रसोई” के जरिये  मरीजो और उनके परिजनों की मदद कर रही है | आइये जानते है बिहार की योजना दीदी की रसोई के बारे में विस्तार  से |

क्या है दीदी की रसोई योजना

बिहार सरकार  के द्वारा मुख्यमंत्री नितीश कुमार की अध्यक्षता में हुई 12 जनवरी को  केबिनेट बैठक में यह निर्णय लिया गया , और इस प्रस्ताव को मंजूर किया गया | एक योजना प्रारंभ  की गयी है , जिसका नाम है “दीदी की रसोई” | इस योजना के अंतर्गत बिहार राज्य के सरकारी अस्पतालों के कैंटीन में जीविका दीदियों के द्वारा खाना बना कर उपलब्ध करवया जायेगा | इस योजना के द्वारा अस्पताल में भर्ती मरीजो , उनके परिजनों एवं अस्पताल के स्टाफ को उच्च गुणवत्ता का खाना न्यनतम दाम पर उपलब्ध करवाया जायेगा | यह योजना पुरे बिहार के 38 जिलों में लागु की गयी है |

विवरण बिंदु विवरण
योजना का नामदीदी की रसोई
कौन से राज्य में चलाई जा रही हैबिहार (समस्त 38 जिलों में )
किसके द्वारा चलाई जा रही हैबिहार सरकार
भोजन किसके द्वारा न्म्ब्नाया जाता हैजीविका दीदियों के द्वारा
भोजन की थाली का मूल्य150 रूपये
योजना का क्रियान्वयन क्षेत्रसरकारी अस्पताल
 पोर्टल  नहीं हैं
 टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर  नहीं हैं

दीदी की रसोई योजना के लाभ:-

इस योजना के द्वारा मरीजो को अस्पताल में भी घर जैसा शुद्ध और सात्विक भोजन उपलब्ध करवाया जाता है जो मरीजो की सेहत के लिए तो लाभदायक है साथ ही उनका आर्थिक बोझ भी कम किया जा सकता है | इस योजना के अंतर्गत मरीज को मिलने वाली थाली कि कीमत मात्र 150 रूपये प्रति थाली है | पहले इस थाली का मूल्य 100 रूपये प्रति थाली था | इस योजना से मिलने वाले भोजन से अस्पतालों के मरीज एवं उनके परिजन बहुत ही खुश है की उन्हें अब अच्छे  भोजन की तलाश में इधर – उधर भटकना नहीं पड़ता और उन्हें घर जैसा खाना अस्पताल में ही मुहिया करवाया जा रहा है , जो उनकी सेहत में भी सुधार करता है | सभी मरीजो को अब सस्ता और बेहतर खाना मिल रहा है |

                    इस योजना का दूसरा पहलु यह भी है की इस योजना से जुड़े समस्त  जीविका संगठनों की सभी महिला सदस्यों को रोजगार प्राप्त हो सके और वे आत्मनिर्भर बन सके और उनकी आमदनी बढ़ सके | यह योजना सैकड़ो महिलाओं की जीविका का साधन बनेगी |

“दीदी की रसोई” योजना के मुख्य उद्देश्य :-

  • महिलाओं की आर्थिक समृधि एवं उन्हें रोजगार प्रदान करना |
  • महिलाओं को आत्म निर्भर , सशक्त , स्वावलंबी  बनाना |
  • अस्पतालों में मरीजो को शुद्ध , सात्विक एवं पोष्टिक भोजन उपलब्ध करवाना |
  • मरीजो को न्यूनतम मूल्य पर भोजन उपलब्ध करवाना |
  • अस्पतालों के भोजन की गुणवत्ता में सुधार लाना |
  • अस्पताल में भर्ती मरीजों एवं उनके परिजनों को अच्छे भोजन की तलाश में यहाँ – वहां भटकना ना पढ़े |

FAQ

प्रश्न 1. इस योजना को चलाये  जाने का मुख्य उद्देश्य क्या है ?

उत्तर सभी मरीजो को अस्पतालों में शुद्ध और पोषक भोजन उपलब्ध करवाया जा सके |

प्रश्न 2. क्या यह योजना पुरे भारत में लागू की गयी है ?

उत्तर नहीं यह योजना केवल बिहार प्रदेश में लागू की गयी है |

प्रश्न 3. इस योजना का लाभ किसे मिलेगा ?

उत्तर सरकारी अस्पताल के मरोजो , उनके परिजनों और अस्पताल के कर्मचारियों को |

प्रश्न 4. एक थाली का मूल्य कितना होगा ?

उत्तर मात्र 150 रूपये प्रति थाली |

प्रश्न 5. क्या ही योजना बिहार के सभी जिलों के लिए है ?

उत्तर हाँ यह योजना बिहार के समस्त 38 जिलो के लिए प्रारम्भ की गयी है |

प्रश्न 6. इस योजना में भोजन किसके द्वारा बनाया जाता है ?

उत्तर योजना के लिए भोजन प्रशिक्षण के बाद जीविका दिद्यीं द्वारा बनाया जाता है |

Other Links

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *