[Apply] एक राष्ट्र (देश) एक राशन कार्ड क्या है One Nation One Ration Card Yojana 2021 [Ek Desh Ek Ration Card]

एक राष्ट्र (देश) एक राशन कार्ड क्या है 2021 (One Nation One Ration Card Yojana in Hindi) (वन नेशन वन राशन कार्ड, एक राष्ट्र एक राशन कार्ड योजना) (Registration Deadline, Start Date, Apply Online, Last Date)Ek desh Ek Ration Card Yojana , कार्ड कैसे बनायें, अप्लाई, कब लागू होगी Apply Online, Website, UPSC

देश में राशन कार्ड का उपयोग लोग राशन लेने के लिए करते हैं. किन्तु आपको बता दें कि अब तक भारतीय नागरिकों को जो राशन कार्ड जारी किये गए हैं, उससे केवल वे किसी एक क्षेत्र की पीडीएस दुकान से ही राशन कार्ड खरीद सकते हैं. किन्तु अब केंद्र सरकार ने देश में एक योजना शुरू की हैं जिसका नाम है ‘एक राष्ट्र एक राशन कार्ड योजना’. इसके तहत पूरे राष्ट्र में राज्य की किसी भी राशन की दुकान में अब एक ही राशन कार्ड का उपयोग हो सकेगा. इससे ऐसे लोगों को मदद मिलेगी जो राज्य के बाहर किसी कार्य की वजह से जाते हैं, और उन्हें राशन अधिक दामों में प्राप्त होता है. अब वे वहां किसी भी पीडीएस यानि राशन की दुकान में जाकर राशन प्राप्त करने के लिए सक्षम हो जायेंगे. इस कार्ड की विशेषताएं एवं अन्य जानकारी आप हमारे इस लेख में देख सकते हैं.

One Nation One Ration Card

Table of Contents

एक देश एक राशन कार्ड के बारे में जानकारी Ek desh ek ration card yojana 2021

योजना का नामएक राष्ट्र एक राशन कार्ड योजना
लांचसन 2019 में
लांच किया गयाकेंद्र सरकार द्वारा
लाभार्थीराशनकार्ड धारक
लागू है14 राज्यों में
लागू होगीदेश के बचे हुए सभी राज्यों में
संबंधित विभाग / मंत्रालयकेन्द्रीय खाद्य, सार्वजनिक वितरण एवं उपभोक्ता मंत्रालय
one nation one ration card yojana kab shuru hui जून 2020
one nation one ration card Online websiteNA

किसानों को मिलेगी 5000 रूपए तक की पेंशन, अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

एक देश एक राशन कार्ड योजना की विशेषताएं

गरीब को सहायता :-

इस योजना के माध्यम से सरकार ऐसे गरीब लोगों की मदद करने जा रही हैं जिन्हें किसी एक राशन की दुकान में राशन लेने के लिए निर्भर होना पड़ता था. उन्हें अब इस योजना के आने से सहायता मिलेगी.

देश के सभी आम नागरिक :-

इस योजना का लाभ देश के सभी आम नागरिक उठा सकते हैं. विशेष कर जो गरीब हैं उन्हें किफायती दरों में अनाज एवं अन्य राशन की चीजें उपलब्ध होंगी.

मजदूरों के लिए कारीगर :-

यह योजना ऐसे मजदूरों को काफी हद तक मदद कर सकती हैं जो काम या रोजगार के सिलसिले में बाहर रहते हैं जैसे गाँव में रहने वाले मजदूर काम के लिए किसी शहर में जाते हैं, तो उन्हें आसानी से अब राशन उचित दामों में प्राप्त हो जायेगा.

भ्रष्टाचार में कमी :-

अब तक जो राशन कार्ड जारी किये जाते थे, उसमें लोगों को किसी अन्य राज्य में जाकर राशन लेने में अधिक भुगतान करना होता था. लेकिन अब यह योजना लोगों को एक पीडीएस दुकान से न जोड़कर सभी पीडीएस दुकानों से जोड़ देगी. जिससे कुछ दुकान के मालिकों द्वारा किये जाने वाले भ्रष्टाचार से मुक्ति मिलेगी. लोग जो एक दुकानदार के ऊपर निर्भर होते थे उसमें भी कमी आयेगी.

एक राशन कार्ड :-

इस योजना के माध्यम से पूरे राष्ट्र में एक राशन कार्ड लोगों को प्रदान किया जायेगा, जिससे लोगों को किसी और क्षेत्र में जाकर राशन खरीदने में परेशानी नहीं होगी.

राशन की उपलब्धता :-

इस योजना में आनाज लेने के लिए लोगों को अब एक ही पीडीएस दुकान में निर्भर नहीं रहना होगा. वे किसी भी राज्य की किसी भी पीडीएस दुकान से राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत अनाज, गेंहू एवं अन्य राशन की चीजें प्राप्त कर सकते हैं.

पायलट प्रोजेक्ट :-

इस योजना की शुरुआत 4 राज्यों आंध्रप्रदेश एवं तेलंगाना और महारष्ट्र एवं गुजरात में आदि में की गई थी. इसके बाद इसे साल 2020 की शुरुआत में कुछ अन्य राज्यों में भी लागू किया गया हैं. जैसे हरियाणा, झारखण्ड, राजस्थान, कर्नाटक, केरल, पंजाब, त्रिपुरा आदि और भी. अब 1 जून 2020 से इसे देश के सभी राज्यों में लागू करने की मंजूरी दे दी गई है.

नए राशन कार्ड :-

इस योजना के तहत राशन कार्ड में लाभार्थी एवं उसके परिवार की सभी जानकारी दी हुई होगी. हालांकि इसके लिए लोगों को अपने आधार नंबर को राशन कार्ड से जोड़ना आवश्यक होगा.

किसानों का सालाना 6000 रूपए पाने का सुनहरा मौका, अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

एक देश एक राशन कार्ड योजना में राशन कार्ड में पोर्टेबिलिटी कैसे करायें (How to Portable)

इस योजना के तहत लाभार्थियों को अपने पुराने राशन कार्ड में पोर्टेबिलिटी की सुविधा लेनी होगी, जोकि उन्हें इलेक्ट्रॉनिक पॉइंट और सेल मशीन की मदद से मिलेगी. ये मशीनें राशन की उन सभी दुकानों में उपलब्ध होंगी जो उचित मूल्य राशन देते हैं. अतः आप उन दुकानों में जाकर अपने राशन कार्ड को पोर्टेबल करवा सकते हैं.

इस तरह से देश में एक राष्ट्र एक राशन कार्ड की सुविधा शुरू होने से लोगों को काफी आराम हो जायेगा. उन्हें राशन लेने में काफी मदद भी मिलेगी. और साथ ही कुछ दुकानदारों द्वारा किये जा रहे भ्रष्टाचार जैसा अपराध में भी खत्म होगा.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फिर से देश को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना को आगे बढ़ाने का फैसला लिया है. इस योजना के अंतर्गत देशवासियों को मुफ्त में अनाज दिया जा रहा था और इसकी अंतिम तिथि 30 जून तय की गई थी. परंतु इसकी अंतिम तिथि को बढ़ाते हुए श्री नरेंद्र मोदी जी ने यह फैसला लिया है, कि आने वाले महीनों में भी मुफ्त अनाज का वितरण किया जायेगा. इस तरह इस योजना की अंतिम तिथि नवंबर 30 कर दी गई है. इसके साथ ही मोदी जी ने वन नेशन वन राशन कार्ड योजना के बारे में भी जानकारी दी. यह एक बहुत महत्वपूर्ण फैसला है जो कि केंद्र सरकार द्वारा लिया गया है. इस फैसले की वजह से गरीबों के सामने आने वाली कई परेशानियों का हल निकल जाएगा. आज हम अपने आर्टिकल में जानेंगे कि वन नेशन वन राशन कार्ड किस तरह से फायदेमंद है.

एक देश एक राशन कार्ड कब से लागू होगा 

वन नेशन वन राशन कार्ड को 1 जून से भारत देश के कई राज्यों में शुरू कर दिया गया है, और जल्द ही इसे पूरे देश में लागू कर दिया जाएगा. इस योजना के तहत राशन कार्ड पोर्टेबिलिटी की सुविधा का उपयोग किया जाएगा.

वन नेशन वन राशन कार्ड योजना के तहत देश के किसी भी कोने में मिल सकेगा मुफ्त अनाज, कैसे जानने के लिए यहां क्लिक करें.

क्या है राशन कार्ड पोर्टेबिलिटी 

जिस तरह आप मोबाइल सिम को पोर्टेबल कराते हैं, उसी तरह आप अपने राशन कार्ड में भी पोर्टेबिलिटी की सुविधा प्राप्त कर सकते हैं. जिस तरह मोबाइल सिम पोर्टेबिलिटी में आप एक सिम का उपयोग पूरे देश भर में आसानी से कर सकते हैं, उसी तरह वन नेशन वन राशन कार्ड के जरिए आप पूरे देश भर में एक ही राशन कार्ड का इस्तेमाल कर उसकी सुविधाओं का उपयोग कर सकते हैं.

एक देश एक राशन कार्ड कैसे बनेगा

  • एक देश एक राशन कार्ड बनाना बहुत ही आसान है इसके लिए आपके पास राशन कार्ड और आधार कार्ड होना जरूरी है.
  • राशन कार्ड को पोर्टेबल करने के लिए वेरिफिकेशन ऑफिस अर्थात इलेक्ट्रॉनिक पॉइंट ऑफ डिवाइस पर जाना होगा. जहां पर आपको अपने आधार कार्ड का नंबर एवं अपने पुराने राशन कार्ड की कॉपी देनी होगी.
  • सत्यापन की सारी प्रक्रिया पूरी होने के बाद आपका वन नेशन वन राशन कार्ड बन जाएगा, अर्थात आपका राशन कार्ड पोटेबिलिटी हो जाएगी.
  • फिर आप आसानी से राशन कार्ड की मदद से देश के किसी भी हिस्से सेमुफ्त अनाज या सब्सिडाइज रेट पर अनाज प्राप्त कर सकते हैं.

राशन कार्ड में नये सदस्य का नाम जोड़ना चाहते हैं इसकी ऑनलाइन एवं ऑफलाइन प्रक्रिया जानने के लिए यहाँ क्लिक करें.

एक देश एक राशन कार्ड के लिए  दस्तावेज (Required Documents)

पहचान पत्र :-

इसका योजना का लाभ भारत का नागरिक ही उठायें इसके लिए लाभार्थी को अपनी पहचान का प्रमाण देना भी आवश्यक है.

आधार कार्ड :-

सरकार द्वारा शुरू की गई वन नेशन वन राशन कार्ड योजना का लाभ उठाने के लिए आधार कार्ड इसलिए आवश्यक हैं क्योकि आपका सत्यापन आपके आधार नंबर के द्वारा ही किया जायेगा.

पुराना राशन कार्ड :-

आपको अपने पुराने राशन कार्ड को भी अपने साथ रखना होगा क्योकि आपका वहीँ राशन कार्ड पीडीएस की हर राशन दुकान पर एक इलेक्ट्रॉनिक पॉइंट ऑफ़ सेल डिवाइस की मदद से पोर्टेबल किया जायेगा.

नोट :- आधार कार्ड का राशन कार्ड से लिंक होना आवश्यक हैं इसलिए जब आप अपने राशन कार्ड को पोर्टेबल करने जाएँ तो ये दोनों दस्तावेज आप अपने साथ ही रखें.

एक देश एक राशन कार्ड योजना के लाभ (Benefits)

  • वन नेशन वन राशन कार्ड के जरिए आसानी से आप पूरे देश में कहीं पर भी उन सभी सुविधाओं को इस्तेमाल कर सकते हैं जो कि आपको राशन कार्ड में प्राप्त होती हैं.
  • इस राशन कार्ड का फायदा प्रवासी मजदूरों को सबसे ज्यादा होगा क्योंकि उनका राशन कार्ड किसी और राज्य का बना हुआ है, और वह किसी और राज्य में रह रहे हैं अथवा काम कर रहे हैं. ऐसी स्थिति में उन्हें मुफ्त अनाज का फायदा नहीं मिल पाया है, परंतु वन नेशन वन राशन कार्ड के तहत अब उन्हें मुफ्त अनाज आसानी से मिल जाएगा.

सरकार ने गरीब कल्याण योजना का लाभ 5 महीने और बढ़ा दिया हैं. यदि आपने अब तक राशन कार्ड नहीं बनवाया है तो बनवा लीजिये, और इसकी प्रक्रिया जानने के लिए यहाँ क्लिक करिये.

राशन कार्ड का इस्तेमाल कहाँ – कहाँ किया जाता है (Uses)

  • राशन कार्ड एक ऐसा दस्तावेज हैं जिसे देश के प्रत्येक नागरिक को बनवाना बिलकुल भी आवश्यक नहीं है. हालांकि यह एक सरकारी दस्तावेज हैं जिसका उपयोग करके लाभार्थी सार्वजानिक वितरण प्रणाली यानि पीडीएस की सही दर की दुकानों से गेंहू, चावल, बाजरा जैसे आनाज सही कीमत में खरीदते हैं.
  • इसका उपयोग कुछ लोग पहचान पत्र एवं पते के प्रमाण स्वरुप भी करते हैं. यह विभिन्न कलर में भी उपलब्ध होते हैं जोकि लाभार्थियों की आर्थिक स्थिति को दर्शाते हैं.
  • यदि आप बैंक खाता खुलवाना चाहते हैं तो राशन कार्ड बहुत ही उपयोगी हो सकता है.
  • इसके अलावा यदि आपको अपने बच्चों का एडमिशन स्कूल या कॉलेज में करवाना हैं तो वहां पर भी इसका इस्तेमाल किया जा सकता है.
  • यहाँ तक कि गैस कनेक्शन लेने में, ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने में, मूल निवासी प्रमाण पत्र बनवाने में, वोटर आईडी कार्ड, पासपोर्ट बनवाने में, सिम कार्ड खरीदने में, फोन कनेक्शन लेने में, ब्रोड्बैंड या वाईफाई कनेक्शन लेने में, बीमा पालिसी लेने में, पैन कार्ड एवं आधार कार्ड बनवाने में भी किया जाता है. इसके माध्यम से आप इसे अपडेट भी कर सकते हैं.  

इस तरह से यदि आप किसी दूसरे राज्य में फसे हुए हैं और आपको राशन की आवश्यकता हैं जिसे आप उचित दर पर खरीदना चाहते हैं, तो अब आपको चिंता करने की आवश्यकता नहीं हैं क्योकि अब आप मोदी सरकार द्वारा शुरू की गई वन नेशन वन राशन कार्ड योजना का उपयोग करके अपने राशन कार्ड को किसी राज्य की पीडीएस की उचित दर की दूकान में जाकर उसे पोर्टेबल करा सकते हैं, और अनाज खरीद सकते हैं.

FAQ

Q : एक देश एक राशन कार्ड योजना को अभी कितने राज्यों में लागू किया गया है ?

ANS :- पांच राज्यों में लागू किया गया था अब पुरे देश में हैं पर कोरोना के कारण प्रोसेस बहुत धीमी हैं .

Q : एक देश एक राशन कार्ड बनवाने के लिए क्या फिर से राशन कार्ड बनवाने हेतु आवेदन करना होगा ?

ANS किसी भी राशन कार्ड सेण्टर पर पुराना कार्ड ही पोर्ट याने कि अपडेट करवा दिया जायेगा

Q : एक राष्ट्र एक राशन कार्ड के अंतर्गत आवेदन करने की प्रक्रिया क्या है ?

ANS :- इसके अंतर्गत आवेदन करने की आवश्यकता नहीं है।

Q : एक देश एक राशन कार्ड को कब से शुरू किया गया है ?

ANS :- इस योजना को सरकार ने 20 जून वर्ष 2020 से,  30 जून वर्ष 2030 तक इस की अंतिम तिथि है।

Q : एक देश एक राशन कार्ड योजना का क्या लाभ है ?

ANS :- इसके जरिए लाभार्थी व्यक्ति किसी भी राज्य में केवल एक राशन कार्ड से राशन प्राप्त कर सकता है।

Other links –

One comment

  1. ek desh ek ration card yojana कैसे बनेगा और इस की लास्ट डेट क्या हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *