श्रम सिद्धि योजना: मध्यप्रदेश के हर मजदूर को मिलेगा रोजगार, जॉब कार्ड के लिए करवाएं पंजीयन

मध्य प्रदेश सरकार द्वारा विभिन्न प्रकार की योजनाएं चलाई जा रही है जिसके जरिए श्रमिकों की स्थिति को बेहतर बनाया जाए।फिलहाल जो पूरे देश की स्थिति है उसमें सबसे ज्यादा अगर कोई प्रभावित हुआ है तो वह हुआ है मजदूर वर्ग। मजदूर वर्ग के पास अब जीवन जीने के लिए कोई रोजगार नहीं रहा है और उन्हें अपनी जान बचाने के लिए अपने अपने गांव शहर वापस लौटना पड़ रहा है इस कारण पूरे देश में प्रवासी मजदूरों को काफी संकट का सामना करना पड़ रहा है इसी दिशा में कई मजदूर मध्य प्रदेश के विभिन्न शहरों एवं गांवों में वापस लौटे हैं उन्हें मजदूरों की परिस्थितियों को ध्यान में रखकर मध्य प्रदेश सरकार द्वारा श्रम सिद्धि योजना अभियान शुरू किया जा रहा है।
Shram Siddhi Abhiyan Yojana MP In Hindi

अगर आप मध्य प्रदेश के रहवासी हैं और श्रमिक कार्ड के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो संपूर्ण प्रक्रिया जानने के लिए यहां क्लिक करें

क्या है मध्य प्रदेश के श्रम सिद्धि योजना

सभी राज्यों में मजदूरों के लिए विशेष प्रकार के जॉब कार्ड बनवाए जाते हैं जिसके तहत मजदूरों को रोजगार दिया जाता है और उनके लिए लांच होने वाली विभिन्न योजनाओं का लाभ भी जॉब कार्ड के जरिए उन तक पहुंचाया जाता है मध्य प्रदेश सरकार ने यह फैसला लिया है कि अब तक जिन लोगों ने अपना जॉब कार्ड नहीं बनवाया है सरकार स्वयं उनके घरों में जाकर उनका जॉब कार्ड बनवाए गी ताकि उन मजदूरों को रोजगार मिल सके और वह इस विकट परिस्थिति में भुखमरी से ना मरे।

मध्य प्रदेश सरकार द्वारा मुख्यमंत्री जनकल्याण संबल योजना की शुरुआत की गई थी जिसके तहत गरीबों के लिए विभिन्न प्रकार की योजनाएं चलाई जाती हैं अगर अब तक आप इस योजना के बारे में नहीं जानते हैं तो यहां क्लिक करके सारी जानकारी पढ़ें।

गरीब मजदूरों को मिलने वाले लाभ 

श्रम सिद्धि योजना के शुभारंभ के समय स्वयं मुख्यमंत्री ने यह ऐलान किया है कि संबल योजना को फिर से शुरू किया जाएगा और मजदूरों को इसके साथ जोड़कर उन्हें संपूर्ण लाभ दिया जाएगा अब तक जिन प्रवासी मजदूरों ने इस योजना का लाभ नहीं लिया है वह आगामी समय में इस योजना से जुड़ सकते हैं संबल योजना के अंतर्गत गरीबों को विभिन्न प्रकार की सुविधाएं दी जाती थी जैसे कि उनके बच्चों की स्कूल फीस,गर्भवती महिलाओं को बच्चे के जन्म के पहले अथवा बाद में सहायता राशि जो की 16000 है, बालिकाओं के विवाह पर सहायता राशि, श्रमिक की मृत्यु पर दो लाख सहायता राशि एवं दुर्घटना में हुई मृत्यु पर चार लाख, साथ ही अंतिम संस्कार के लिए ₹5000 की सहायता राशि इस योजना के अंतर्गत दी जाती है .

इस योजना को सुचारू रूप से चलाने के लिए यह जरूरी है कि सभी श्रमिक योजना के अंतर्गत अपना पंजीयन करवाएं पंजीयन के लिए श्रमिकों को ग्राम पंचायत लेवल पर जानकारी एकत्र कर पंजीयन करवाना होगा जिसके लिए फिलहाल सरकार ने यह कहा है कि प्रशासन खुद श्रमिकों के घर जाकर जॉब कार्ड के लिए पंजीयन करवाएगा .

प्रशासन द्वारा पंचायतों को अच्छे कार्य हेतु पुरस्कृत भी किया जाएगा- 

ग्राम पंचायत को जो पुरस्कार सरकार की तरफ से दिए जाएंगे उसके अंतर्गत ग्राम पंचायत को अपना कार्य बेहतरीन तरीके से करना होगा जिसमें जो पंचायत सबसे अधिक जॉब कार्ड बनवाए गी सबसे अधिक रोजगार प्रदान करेगी और जितना जल्दी कार्य शुरू करवाएगी,और जितनी अच्छी गुणवत्ता के साथ अपना कार्य करेगी उसे प्रथम पुरस्कार दिया जाएगा 
  1. प्रथम पुरस्कार,जो ग्राम पंचायत इस योजना के अंतर्गत सबसे अच्छा कार्य करेगी उसे प्रथम पुरस्कार के रूप में ₹100000 नगद दिया जाएगा।
  2. द्वितीय पुरस्कार, जो ग्राम पंचायत अच्छा कार्य करने की दिशा में दूसरे स्थान पर आएगी उन्हें दो लाख तक का नगद इनाम दिया जाएगा
  3. तृतीय पुरस्कार, इस दिशा में अच्छा कार्य करने की दिशा में जो ग्राम पंचायत तीसरे स्थान पर आती है उन्हें ₹50000 सरकार की तरफ से दिया जाएगा

आवास योजना शुरू की गई हैं, अगर आप भी लाभ लेना चाहते हैं तो योजना को विस्तार से जानने के लिए यहां क्लिक करें. 

पंजीयन की प्रक्रिया
 
योजना के अंतर्गत मजदूरों का पंजीयन ग्राम पंचायत लेवल पर किया जाएगा जिसके लिए उनके घरों में जाकर पंजीयन प्रक्रिया को पूरा किया जाएगा
योजना के अंतर्गत जिन लोगों का पंजीयन होगा उन्हें उनकी योग्यता के अनुसार रोजगार प्रदान किया जाएगा जो कि उनके कार्य करने की प्रतिभा पर निर्भर करेगा इसके अंतर्गत तीन कैटेगरी बनाई गई है जो कि कुशल, अर्धकुशल एवं अकुशल होंगे . 
 
अन्य योजना 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *